Wednesday, September 28, 2022
Homeराजनीतिराहुल गाँधी को आड़े हाथों लेने पर कॉन्ग्रेस ने साधा मायावती पर निशाना, कहा-...

राहुल गाँधी को आड़े हाथों लेने पर कॉन्ग्रेस ने साधा मायावती पर निशाना, कहा- भाजपा में हो सकती हैं शामिल

“BJP से मायावती जी डर व घबरा गई हैं। मायावती जी महात्मा गाँधी जी के हत्यारे गोडसे को मानने वाली भाजपा का साथ दे रही हैं, जिनकी सोच हमेशा से दलित विरोधी रही है। अब वक्त आ गया है, जनता को पता लगना चाहिए कि कौन दलित विरोधी है और कौन दलित हितैशी।”

उत्तर प्रदेश में प्रवासियों को उनके गृह राज्य भिजवाने के नाम पर कॉन्ग्रेस ने पिछले दिनों खूब राजनीति की। जिसे देखकर बसपा प्रमुख मायावती उनपर कई बार हमलावर हुईं। अब इसी कड़ी में कॉन्ग्रेस ने मायावती पर निशाना साधा है और उन्हें ट्विटर बहनजी कहते हुए उनपर आरोप लगाया है कि वे भाजपा के साथ जुड़ सकती हैं।

दरअसल, दलित कॉन्ग्रेस उत्तर प्रदेश के ट्विटर अकॉउंट पर कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता पी एल पुनिया की एक वीडियो शेयर की गई है। जिसके साथ ट्वीट में लिखा गया, “BJP से मायावती जी डर व घबरा गई हैं। मायावती जी महात्मा गाँधी जी के हत्यारे गोडसे को मानने वाली भाजपा का साथ दे रही हैं, जिनकी सोच हमेशा से दलित विरोधी रही है। अब वक्त आ गया है, जनता को पता लगना चाहिए कि कौन दलित विरोधी है और कौन दलित हितैशी।” 

खबरों के अनुसार, कॉन्ग्रेस नेता ने इस संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए मायावती को ‘ट्विटर बहनजी’ कहा और उनकी ओर इशारा करते हुए कहा कि वे साफ-साफ बताएँ कि उनके ऊपर भाजपा की तरफ से दबाव है, वे उनसे डरी हुई हैं, घबराई हुई हैं, या आगे जाकर उनके साथ गठबंधन करना चाहती हैं। 

वीडियो में पुनिया ने भाजपा पर राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की हत्या का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि ये लोग नाथूराम गोडसे को आदर्श मानकर उनकी प्रशंसा करते हैं, उनकी पूजा करते हैं और कई जगह उनका मंदिर बनाने का भी प्रयास किया है।

पुनिया ने मायावती पर भाजपा का साथ देने का आरोप लगाते हुए भाजपा के लिए जमकर जहर उगला। पुनिया ने कहा, जो जगह-जगह पर दलित विरोधी और उत्पीड़न की घटनाएँ हुई हैं। उसमें भाजपा के लोग सम्मिलित पाए जाते हैं, उनपर कोई कार्रवाई नहीं होती। वो मायावती को बुराई नहीं लगती और कॉन्ग्रेस पार्टी जो हमेशा दलित उत्थान के लिए काम करती है, वो इनको खराब लगते हैं। इसलिए ये बात स्पष्ट है कि वो अपना रास्ता भूल चुकी हैं। उससे भटक चुकी हैं।

पुनिया ने दावा किया कि उनकी पार्टी दलित उत्पीड़न के मुद्दे को उठा रही है लेकिन स्वघोषित दलितों की नेता मायावती चुप हैं। उनके हिसाब से मौजूदा सरकार में दलित समाज पर राज्य संरक्षण में हमले बढ़े हैं और प्रियंका गाँधी की सक्रियता मायावती को खलती है। इसलिए ट्विटर पर बहन जी भाजपा का प्रेस नोट ट्वीट करती हैं।

उल्लेखनीय है कि कॉन्ग्रेस के इस हमले से पहले बसपा सुप्रीमो ने यूपी सरकार से बसों का किराया माँगने पर राजस्थान सरकार को निशाने पर लिया था। इसके अलावा बसपा प्रमुख मायावती ने राहुल गाँधी की एक वीडियो शेयर करते हुए उसे नाटक करार दिया था। उन्होंने प्रवासी मजदूरों की दुर्दशा के लिए कॉन्ग्रेस को ही कसूरवार ठहराया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लोगों में डर पैदा करने के लिए RSS कार्यकर्ता से लेकर हिंदू नेता तक हत्या: मर्डर से पहले PFI-SDPI के लोग रचते थे साजिश,...

देश के लोगों द्वारा लंबे समय से जिस चीज की माँग की जा रही थी, अंतत: केंद्र की मोदी सरकार ने PFI पर प्रतिबंध लगाकर उसे पूरा कर दिया।

‘मन की अयोध्या तब तक सूनी, जब तक राम न आए’: PM मोदी ने याद किया लता दीदी का भजन, अयोध्या के भव्य ‘लता...

पीएम मोदी ने बताया कि जब अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन संपन्न हुआ था, तो उनके पास लता दीदी का फोन आया था, वो काफी खुश थीं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
224,793FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe