कॉन्ग्रेस की साड़ियॉं लेकर जा रहे वाहन ने मारी टक्कर, वोटरों के बीच बॉंटा जाना था

पूछताछ के दौरान गाड़ी में मौजूद शख्स ने साड़ियों का बंडल कॉन्ग्रेस कार्यालय से लाने की बात स्वीकार की। उसने बताया कि वह कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता है और साड़ियाँ रेंगनार गाँव में बाँटने ले जा रहा था।

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा उपचुनाव में प्रचार अभियान के साथ ही मतदाताओं को लुभाने के हथकंडे भी जारी हैं। मंगलवार (सितंबर 10, 2019) देर शाम पुलिस ने साड़ियों से भरे एक वाहन को पकड़ा है। आरोप है कि उक्त साड़ियाँ वोटरों के बीच बाँटने के लिए कॉन्ग्रेस ने भिजवाई थी। घटना कुआकोण्डा थाना क्षेत्र की है।

जानकारी के मुताबिक, कॉन्ग्रेस कार्यालय से साड़ियों का बंडल लादकर गाड़ी रवाना हुई थी। इसी दौरान गाड़ी ने एक बाइक सवार को ठोकर मार दी। इसकी सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुँची और पिकअप वाहन के चालक से पूछताछ की।

जानकारी के मुताबिक, कुआकोण्डा थाना क्षेत्र में साड़ी से भरे वाहन क्रमांक सीजी 18 एन 2879 को पकड़ा गया। वाहन में चालक के साथ रेंगनार निवासी मासा मौजूद था। पूछताछ के दौरान मासा ने सारी सच्चाई उगल दी और साड़ियों का बंडल कॉन्ग्रेस कार्यालय से लाने की बात स्वीकार कर ली। उसने बताया कि वह कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता है और यह साड़ियाँ वो रेंगनार गाँव में बाँटने ले जा रहा था।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

बता दें कि, उपचुनाव को लेकर पुलिस द्वारा जिलेभर में वाहनों की सघन चेकिंग की जा रही है। इसके बावजूद साड़ियों से भरी गाड़ी मुख्यालय से पार होने की घटना ने पुलिस की मुस्तैदी पर भी सवाल खड़े कर दिए हैं। फिलहाल, वाहन चालक द्वारा दी गई जानकारी के बाद कुआकोण्डा पुलिस विस्तृत जाँच में जुट गई है।

दंतेवाड़ा में इस महीने की 23 तारीख को वोट डाले जाएँगे। बीते साल इस सीट से भाजपा के भीमा मंडावी ने जीत दर्ज की थी। उनके निधन के कारण यहॉं उपचुनाव कराया जा रहा है। भाजपा ने मंडावी की पत्नी ओजस्वी मंडावी को मैदान में उतारा है तो कॉन्ग्रेस की ओर से देवती कर्मा चुनाव लड़ रही हैं।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by paying for content

बड़ी ख़बर

नरेंद्र मोदी, डोनाल्ड ट्रम्प
"भारतीय मूल के लोग अमेरिका के हर सेक्टर में काम कर रहे हैं, यहाँ तक कि सेना में भी। भारत एक असाधारण देश है और वहाँ की जनता भी बहुत अच्छी है। हम दोनों का संविधान 'We The People' से शुरू होता है और दोनों को ही ब्रिटिश से आज़ादी मिली।"

ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

92,234फैंसलाइक करें
15,601फॉलोवर्सफॉलो करें
98,700सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: