Monday, July 22, 2024
Homeराजनीति'पहले नादिर शाह ने लूटा, अब AAP लूट रही': दिल्ली BJP की माँग -...

‘पहले नादिर शाह ने लूटा, अब AAP लूट रही’: दिल्ली BJP की माँग – जब तक न हो विज्ञापनों पर उड़ाए गए ₹163 करोड़ की वसूली, तब तक सीज रहें AAP के बैंक खाते

"आम आदमी पार्टी की सरकार विज्ञापनों पर दिल्लीवासियों की गाढ़ी कमाई बर्बाद कर रही है। हम लंबे समय से कह रहे हैं कि यह सरकार फर्जी विज्ञापनों की सरकार है।"

दिल्ली के ‘सूचना एवं प्रचार निदेशालय (DIP)’ ने ‘आम आदमी पार्टी (AAP)’ के खिलाफ 163.62 करोड़ रुपए की वसूली का नोटिस जारी किया था। यह वसूली विज्ञापनों में मनमाने ढंग से किए गए खर्च को लेकर होनी है। विज्ञापन में करोड़ों रुपए खर्च करने को लेकर भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने अरविंद केजरीवाल सरकार की जमकर आलोचना की है।

गुरुवार (12 जनवरी, 2022) को हुई एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में भाजपा नेता मनोज तिवारी ने माँग करते हुए कहा है कि वसूली पूरी होने तक आम आदमी पार्टी (AAP) के बैंक खातों को सीज कर देना चाहिए। उन्होंने कहा है, “दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने अपना और ‘आम आदमी पार्टी’ का चेहरा चमकाने के लिए जनता का पैसा पानी की तरह बहाया है। हम चाहते हैं कि, जब तक यह पैसा वापस नहीं आता, तब तक AAP के अकाउंट को तत्काल प्रभाव से फ्रीज किया जाना चाहिए।”

मनोज तिवारी ने कहा है, “आम आदमी पार्टी की सरकार विज्ञापनों पर दिल्लीवासियों की गाढ़ी कमाई बर्बाद कर रही है। हम लंबे समय से कह रहे हैं कि यह सरकार फर्जी विज्ञापनों की सरकार है। AAP को अब 163 करोड़ रुपए देने होंगे। उन्हें विज्ञापनों पर इतना पैसा खर्च करने की अनुमति किसने दी?”

मनोज तिवारी ने यह भी कहा है कि एक समय दिल्ली को नादिर शाह ने लूटा था। अब आम आदमी पार्टी लूट रही है। आज 163 करोड़ रुपए वापस करने की बात आई तो ये लोग छटपटा गए। मनीष सिसोदिया कह रहे हैं कि अधिकारियों के ऊपर दवाब बनाकर ये नोटिस भेजा है। ये अराजकता का परिचय है। AAP ने अपनी पार्टी का चेहरा चमकाया, इसमें सरकार या सरकार की योजनाओं का कोई लेना देना नहीं। केजरीवाल और सिसोदिया की बौखलाहट से ये माफ नहीं हो सकता।

दरअसल इससे पहले DPI द्वारा 163 करोड़ रुपए की वसूली का नोटिस जारी किए जाने के बाद, दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दावा किया था कि भाजपा अरविंद केजरीवाल के खिलाफ सरकारी अधिकारियों का उपयोग कर रही है। 

सिसोदिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में आरोप लगाते हुए कहा था, “दिल्ली में अफसरों पर असंवैधानिक नियंत्रण का नाजायज इस्तेमाल देखिए, बीजेपी ने दिल्ली सरकार की सूचना विभाग सचिव ऐलिस वाज (IAS) से नोटिस दिलवाया है कि वर्ष 2017 से दिल्ली से बाहर राज्यों में दिये गए विज्ञापनों का खर्चा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से वसूला जाएगा।”

गौरतलब है कि दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना के निर्देश पर सूचना और प्रचार निदेशालय (DPI) ने आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल को 163 करोड़ रुपए का नोटिस जारी किया था। यह रकम जमा करने के लिए केजरीवाल को 10 दिन का समय दिया गया है। 163 करोड़ रुपए की इस कुल राशि में 99.31 करोड़ रुपए मूलधन व 64.31 करोड़ रुपए पेनाल्टी इंटरेस्ट के रूप में वसूल होना है।

बता दें कि यह पूरी कार्रवाई उप-राज्यपाल वीके सक्सेना के निर्देश पर हो रही है। उन्होंने दिल्ली के मुख्य सचिव को कहा था कि राजनीतिक विज्ञापनों को सरकारी विज्ञापनों के तौर पर प्रकाशित करने के लिए आम आदमी पार्टी से 97 करोड़ रुपए की रिकवरी की जाए।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -