Friday, July 30, 2021
Homeराजनीति'अनुसूचित जाति वाले भिखारी, चंद पैसों के लिए BJP के पीछे-पीछे' - TMC नेता...

‘अनुसूचित जाति वाले भिखारी, चंद पैसों के लिए BJP के पीछे-पीछे’ – TMC नेता सुजाता खान 24 घंटे में EC को देगी जवाब

24 घंटे के अंदर सुजाता मंडल खान को अपनी 'बकलोली' के लिए जवाब देना है। ऐसा नहीं करने पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और उनसे तृणमूल के स्टार प्रचारक का दर्जा भी छीना जा सकता है।

चुनाव आयोग ने तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) की नेता सुजाता मंडल खान को अनुसूचित जाति के खिलाफ विवादित बयान को लेकर नोटिस जारी किया है। आयोग ने नोटिस मिलने के 24 घंटे के अंदर सुजाता मंडल खान को इसका जवाब देने को कहा है। ऐसा नहीं करने पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और उनसे तृणमूल के स्टार प्रचारक का दर्जा भी छीना जा सकता है। नोटिस में कहा गया है कि उन्हें यह भी बताना चाहिए कि उनसे ‘स्टार प्रचारक’ का दर्जा वापस क्यों नहीं लिया जाना चाहिए।

मुख्तार अब्बास नकवी की अगुवाई वाले भाजपा के प्रतिनिधि दल की ओर केंद्रीय चुनाव आयोग से शिकायत की गई थी। केंद्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी इस मामले में चुनाव आयोग से पिछले दिनों मिले थे। उन्होंने पूरे मामले की शिकायत करने के साथ ही कहा कि राज्य में चुनाव के दौरान इस तरह की बयानबाजी कर आचार संहिता का उल्लंघन किया गया है।

चुनाव आयोग में अपनी शिकायत दर्ज करवाने के बाद बीजेपी नेता दुष्यंत गौतम ने कहा था कि पीएम नरेंद्र मोदी ने जितनी भी योजना लागू की उसमें कोई भेदभाव नहीं किया गया। कांग्रेस और टीएमसी का मानना है कि संसाधनों पर अल्पसंख्यकों का हक है। बीजेपी के साथ दलित वर्ग जुट रहा है। हम चुनाव आयोग से टीएमसी पर कार्रवाई की माँग करते है। टीएमसी की मान्यता भी रद्द होनी चाहिए।

क्या बोली थी सुजाता मंडल?

बता दें कि कुछ दिनों पहले एक टीवी चैनल को दिए गए इंटरव्यू में आरामबाग विधानसभा सीट से टीएमसी प्रत्याशी सुजाता मंडल ने बयान दिया था कि अनुसूचित जाति के लोग स्वभाव से भिखारी होते हैं। ममता बनर्जी ने उनके लिए इतना कुछ किया, लेकिन फिर भी चंद पैसों के लिए वो बीजेपी के पीछे-पीछे हो रहे हैं। वो बीजेपी को अपना वोट बेच रहे हैं।  खान ने कहा था, “एक कहावत है कि कुछ स्वभाव से भिखारी होते हैं तो कुछ परिस्थितियों के कारण। अनुसूचित जाति के लोग स्वभाव से भिखारी होते हैं।”     

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों चुनाव प्रचार के दौरान अपने संबोधन में पीएम ने टीएमसी नेता सुजाता मंडल के ‘भिखारी’ वाले बयान को लेकर टीएमसी की सोच पर सवाल उठाया था। उन्होंने कहा था, “एक वीडियो सामने आया है जिसमें दीदी की करीबी एक नेता ने अनुसूचित जाति के लोगों का बहुत बड़ा अपमान किया है। उन्होंने कहा कि बंगाल में जो अनुसूचित जाति है, Schedule Caste समुदाय है वो भिखारियों की तरह व्यवहार करती है।” आगे पीएम ने दीदी से पूछा था, “क्या SC समुदाय के मेरे भाई बहनों और उनके बच्चों से आप, आपकी पार्टी, आपके नेता इतनी नफरत करते हैं?”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Searched termsसुजाता मंडल खान अनुसूचित जाति, ममता बनर्जी नंदीग्राम, ममता बनर्जी नंदीग्राम हार, ममता बनर्जी नंदीग्राम जीत, ममता बनर्जी नंदीग्राम हार फेक न्यूज, ममता बनर्जी नंदीग्राम हार फैक्ट चेक, पश्चिम बंगाल वोटिंग आग, Mamata banerjee losing Nandigram, Mamata banerjee losing Nandigram fake news, Mamata banerjee losing Nandigram fact check, west bengal election 2021, west bengal assembly election 2021, west bengal election, west bengal election second phase, west bengal election second date, पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021, पश्चिम बंगाल का ताजा खबर, पश्चिम बंगाल समाचार, पश्चिम बंगाल विधानसभा सीटें, पश्चिम बंगाल चुनाव, पश्चिम बंगाल चुनाव डेट, पश्चिम बंगाल चुनाव आयोग, पश्चिम बंगाल चुनाव तारीख, पश्चिम बंगाल चुनाव समाचार, पश्चिम बंगाल चुनाव दूसरा चरण
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

तालिबान की मददगार पाकिस्तानी फौज, ढेर कर अफगान सेना ने दुनिया को दिखाए सबूत: भारत के बनाए बाँध को भी बचाया

अफगानिस्तान की सेना ने तालिबान को कई मोर्चों पर पीछे धकेल दिया है। उनकी मदद करने वाले पाकिस्तानी फौज से जुड़े कई लड़ाकों को भी मार गिराया है।

स्वतंत्र है भारतीय मीडिया, सूत्रों से बनी खबरें मानहानि नहीं: शिल्पा शेट्टी की याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट

कोर्ट ने कहा कि उनका निर्देश मीडिया रिपोर्ट्स को ढकोसला नहीं बताता। भारतीय मीडिया स्वतंत्र है और सूत्रों पर बनी खबरें मानहानि नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,014FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe