Sunday, September 26, 2021
HomeराजनीतिEC ने ममता बनर्जी के OSD अशोक चक्रवर्ती को तत्काल प्रभाव से हटाया, 3...

EC ने ममता बनर्जी के OSD अशोक चक्रवर्ती को तत्काल प्रभाव से हटाया, 3 जिला चुनाव अधिकारियों का भी ट्रांसफर

चुनाव आयोग ने राज्य के मुख्य सचिव को लिखा है कि जिला निर्वाचन अधिकारियों (DEO) - पुरबा बर्धमान के एनर रहमान, पश्चिम बर्धमान के पूर्णेंदु कुमार माझी और दक्षिण दिनाजपुर के निखिल निर्मल को 'तत्काल प्रभाव' से स्थानांतरित किया जा रहा है।

पश्चिम बंगाल में चौथे चरण के मतदान से पहले चुनाव आयोग ने राज्य की मुख्यमंत्री व तृणमूल कॉन्ग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी के सेक्योरिटी ऑफिसर अशोक चक्रवर्ती को तत्काल प्रभाव से हटा दिया है। चक्रवर्ती वर्तमान में सुरक्षा निदेशालय में पुलिस अधीक्षक पद पर (एक पूर्व कैडर पद पर) विशेष ड्यूटी अधिकारी के रूप में तैनात थे।

चुनाव आयोग ने मतदान के चौथे चरण से पहले 3 जिला चुनाव अधिकारियों को भी गैर चुनाव पोस्ट पर ट्रांसफर किया है। चुनाव आयोग ने राज्य के मुख्य सचिव को लिखा है कि जिला निर्वाचन अधिकारियों (DEO) – पुरबा बर्धमान के एनर रहमान, पश्चिम बर्धमान के पूर्णेंदु कुमार माझी और दक्षिण दिनाजपुर के निखिल निर्मल को ‘तत्काल प्रभाव’ से स्थानांतरित किया जा रहा है। पोल-पैनल ने अपने पत्र में आगे कहा कि इन अधिकारियों को चुनाव संबंधी कोई भी पोस्टिंग नहीं दी जानी चाहिए।

इन तीनों अधिकारियों की जगह शिल्पा गौरीसरिया, सी मुरुगन और अनुराग श्रीवास्तव को लाया गया है। तीन जिला चुनाव अधिकारियों के अलावा, कई अन्य अधिकारियों को भी चुनाव आयोग द्वारा स्थानांतरित किया गया है।

याद दिला दें कि विधानसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान के साथ ही तृणमूल कॉन्ग्रेस लगातार चुनाव आयोग पर केंद्र का साथ देने का आरोप लगा रही थी। उनका कहना था कि केंद्र के हिसाब से चुनाव आयोग ने तारीखों को तय किया है। ऐसे में जाहिर है चुनाव आयोग का यह ताजा फैसला सीएम ममता को आग बबूला करेगा।

अभी हाल की बात करें तो ममता बनर्जी ने चुनावी रैली को संबोधित करते हुए सुरक्षाबल पर सवाल उठाए थे और उनके विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी की थी, जिसकी वजह से भी चुनाव आयोग ने ममता बनर्जी पर कार्रवाई की और उन्हें नोटिस भी भेजा। 

इससे पहले चुनाव आयोग ने आचार संहिता लागू होने के साथ ही हिंसा और लॉ एंड ऑर्डर को लेकर कड़ी कार्रवाई शुरू कर दी थी। तारीखों के ऐलान के दूसरे दिन ही चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में एडीजी लॉ एंड ऑर्डर जावेद शमीम को हटा दिया था। 

शमीम की जगह डीजी फायर सेवा जगन मोहन को नया एडीजी बनाया गया था। वहीं जावेद शमीम को डीजी फायर सेवा बनाया गया। मालूम हो एडीजी (कानून-व्यवस्था) चुनाव आयोग के साथ नोडल एजेंसी के रूप में काम करता है।

बता दें कि पश्चिम बंगाल में तीन चरणों की वोटिंग हो चुकी है। चौथे चरण के तहत 44 सीटों पर कल वोटिंग होगी। 5वें चरण के तहत 6 जिलों की 45 सीटों पर 17 अप्रैल, छठे चरण के तहत चार जिलों की 43 सीटों पर 22 अप्रैल, 7वें चरण के तहत 5 जिलों की 36 सीटों पर 26 अप्रैल और 8वें चरण के तहत चार जिलों की 35 सीटों पर 29 अप्रैल को मतदान होगा। 2 मई को नतीजे आएँगे।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लड़कियों के कपड़े कैंची से काटे, राखी-गहने-चप्पल सब उतरवाए: राजस्थान में कुछ इस तरह हो रही REET की परीक्षा, रोते रहे अभ्यर्थी

राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (REET 2021) की परीक्षा के दौरान सेंटरों पर लड़कियों के फुल बाजू के कपड़ों को कैंची से काट डालने का मामला सामने आया है।

11वीं से 14वीं शताब्दी की 157 मूर्तियाँ-कलाकृतियाँ, चोर ले गए थे अमेरिका… PM मोदी वापस लेकर लौटे

अमेरिका द्वारा भारत को सौंपी गई कलाकृतियों में सांस्कृतिक पुरावशेष, हिंदू धर्म, बौद्ध धर्म, जैन धर्म से संबंधित मूर्तियाँ शामिल हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,410FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe