Sunday, July 21, 2024
Homeराजनीति'कॉन्ग्रेस छोडो, BJP को जोड़ो': भाजपा में शामिल हुए गोवा के 8 कॉन्ग्रेसी विधायक,...

‘कॉन्ग्रेस छोडो, BJP को जोड़ो’: भाजपा में शामिल हुए गोवा के 8 कॉन्ग्रेसी विधायक, राजस्थान में ‘सचिन पायलट ज़िंदाबाद’ नारे पर बैन

राजस्थान कॉन्ग्रेस में भी सब कुछ ठीक नहीं है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सभा में सचिन पायलट जिंदाबाद के नारे लगाए गए। इतना ही नहीं, गहलोत के मंत्री अशोक चांदना पर पायलट समर्थकों ने जूते-चप्पल भी फेंके। इसके बाद सीएम गहलोत ने पायलट जिंदाबाद का नारा लगाने वालों को जेल भेजने की धमकी दी।

कॉन्ग्रेस नेता राहुल गाँधी इस ‘भारत जोड़ो यात्रा’ कर रहे हैं और उधर उनकी पार्टी में भगदड़ मची हुई है। गोवा के 11 में से 8 विधायक भाजपा (BJP) में शामिल हो गए हैं। इनमें विपक्ष के नेता माइकल लोबो और पूर्व मुख्यमंत्री दिगंबर कामत शामिल हैं। गोवा भाजपा के अध्यक्ष सदानंद शेत तनवड़े ने बुधवार (14 सितंबर 2022) को इसकी जानकारी दी।

गोवा विधानसभा में विपक्ष के नेता माइकल लोबो ने बुधवार को कॉन्ग्रेस विधायक दल की एक महत्वपूर्ण बैठक की थी। इस बैठक में कॉन्ग्रेस विधायक दल को भाजपा में विलय करने पर निर्णय लिया गया था। इसके बाद व प्रदेश के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत से मिलने गए।

कॉन्ग्रेस के जिन नेताओं के पार्टी छोड़कर भाजपा में शामिल होने की बात कही जा रही है, उनमें पूर्व मुख्यमंत्री दिगंबर कामथ दिगंबर कामत, माइकल लोबो, डी लोबो, राजेश फलदेसाई, केदार नायक, संकल्प अमोनकर, अलेक्सो सिकेरा और रुडॉल्फ फर्नांडिस शामिल हैं। 

बता दें कि 40 सदस्यीय गोवा विधानसभा में कॉन्ग्रेस के 11 और भाजपा के पास 20 विधायक थे। 8 विधायकों के भाजपा में शामिल होने के बाद कॉन्ग्रेस के पास 3 विधायक बच जाएँगे। साल 2019 में जुलाई 2019 में इसी तरह कॉन्ग्रेस के 10 विधायक भाजपा में शामिल हो गए थे।

माइकल लोबो ने कहा कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम प्रमोद सावंत के हाथ मजबूत करने के लिए बीजेपी में शामिल हुए हैं। उन्होंने ‘कॉन्ग्रेस छोड़ो, बीजेपी को जोड़ो’ का भी नारा दिया। गोवा में विधायकों के भाजपा में विलय करने के बाद यह कॉन्ग्रेस के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है।

गोवा इस साल फरवरी में चुनाव हुए थे। इसमें बीजेपी गठबंधन को 25 और कॉन्ग्रेस को 11 सीटें मिली थीं। गोवा कॉन्ग्रेस के ये 8 विधायक काफी समय से पार्टी हाईकमान से नाराज चल रहे थे। गोवा कॉन्ग्रेस में इस तरह की स्थिति जुलाई महीने में भी आई थी। हालाँकि, तब कॉन्ग्रेस ने सक्रियता दिखाते हुए विधायकों के दल बदल को रोक दिया था।

उस समय पार्टी ने माइकल लोबो पर आरोप लगाया था कि वे और दिगंबर कामत कॉन्ग्रेस के दूसरे विधायकों को एकजुट कर रहे हैं और उन्हें भाजपा में शामिल कराने की कोशिश कर रहे हैं। दोनों के खिलाफ विधानसभा स्पीकर के समक्ष अयोग्यता की याचिका भी दाखिल की गई थी।

बता दें कि राजस्थान कॉन्ग्रेस में भी सब कुछ ठीक नहीं है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सभा में सचिन पायलट जिंदाबाद के नारे लगाए गए। इतना ही नहीं, गहलोत के मंत्री अशोक चांदना पर पायलट समर्थकों ने जूते-चप्पल भी फेंके। इसके बाद सीएम गहलोत ने पायलट जिंदाबाद का नारा लगाने वालों को जेल भेजने की धमकी दी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आजादी के वक्त थे 3 मुस्लिम बहुल जिले, अब 9 हैं: बंगाल BJP प्रमुख ने कहा- असम और बंगाल में डेमोग्राफी बदलाव सोची-समझी रणनीति,...

बंगाल भाजपा अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने असम के सीएम हिमंता के उस बयान का समर्थन किया है, जिसमें उन्होंने डोमोग्राफी बदलाव की बात कही थी।

शुक्र है मीलॉर्ड ने भी माना कि वो इंसान हैं! चाइल्ड पोर्नोग्राफी देखने को मद्रास हाई कोर्ट ने नहीं माना था अपराध, अब बदला...

चाइल्ड पोर्नोग्राफी को अपराध नहीं बताने वाले फैसले को मद्रास हाई कोर्ट के जज एम. नागप्रसन्ना ने वापस लिया और कहा कि जज भी मानव होते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -