Thursday, July 25, 2024
Homeराजनीति'मोदी हिटलर जैसे…कुछ ही समय बचा है' : कर्नाटक के पूर्व CM सिद्धारमैया ने...

‘मोदी हिटलर जैसे…कुछ ही समय बचा है’ : कर्नाटक के पूर्व CM सिद्धारमैया ने PM के लिए निकाले बिगड़े बोल, कहा- 100 बार भी कहें तो भी नहीं लौटेगी भाजपा

सिद्धारमैया ने उडुपी में एक समारोह के दौरान कहा कि अगर मोदी 100 बार भी कहें कि भाजपा सत्ता में वापस आ रही है तो भी ऐसा नहीं होने वाला। उन्होंने कहा कि जैसे हिटलर भी कुछ दिनों तक धूमधाम से घूमता था इसी तरह से मोदी का भी अभी कुछ दिनों तक समय रहेगा।

कभी माँस खा कर मंदिर जाने की वजह से विवादों में रहे कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और कॉन्ग्रेस नेता सिद्धारमैया ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘एडोल्फ हिटलर’ कह कर सम्बोधित किया है। उन्होंने मोदी के शासन काल की तुलना मुसोलनी और फ्रांसिस्को फ्रेंकों के समय से की। भाजपा को भगवा पार्टी बताते हुए सिद्धारमैया ने कहा कि अब इस सरकार का शासन बस कुछ ही दिन बचा है। रविवार (22 जनवरी 2023) को दिए इस विवादित बयान पर भारतीय जनता पार्टी ने पलटवार भी किया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सिद्धारमैया ने उडुपी में एक समारोह के दौरान यह बातें कहीं। उन्होंने कहा कि अगर मोदी 100 बार भी कहें कि भाजपा सत्ता में वापस आ रही है तो भी ऐसा नहीं होने वाला। उन्होंने आगे कहा कि हिटलर भी कुछ दिनों तक धूमधाम से घूमता था इसी तरह से मोदी का भी अभी कुछ दिनों तक समय रहेगा। इसी बयान में सिद्धारमैया ने मुसोलिनी और फ्रेन्कों का भी नाम लिया और उनकी तुलना मोदी सरकार के शासन काल से की।

इस बयान से कुछ समय पहले ही सिद्धारमैया ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई पर भी आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। तब उन्होंने कहा था कि प्रधानमंत्री मोदी के आगे भाजपा नेता ‘पपीज’ की हैसियत रखते हैं और सब उनके आगे डर से काँपते हैं।

भाजपा आने किया पलटवार

सिद्धारमैया के इस बयान पर भाजपा ने पलट कर जवाब दिया है। मुख्यमंत्री बोम्मई ने कहा कि पूरा देश प्रधानमंत्री मोदी के व्यक्तित्व से परिचित है और ऐसे बयानों से उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ने वाला। मुख्यमंत्री ने गुजरात चुनावों में सिद्धारमैया की बयानबाजी की याद दिलाते हुए कहा कि उनके ऐसे ही बयान से गुजरात में भाजपा को फायदा हुआ था और वैसा ही यहाँ कर्नाटक में भी होगा।

वहीं केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि सिद्धारमैया ऐसे नेता है जो मल्लिकार्जुन खड़गे को अपना अध्यक्ष मानते ही नहीं। प्रह्लाद जोशी के मुताबिक पहले सिद्धारमैया को कॉन्ग्रेस पार्टी में अपने स्टैंड को क्लियर करना चाहिए। नरेंद्र मोदी को एक निर्वाचित नेता बताते हुए केंद्रीय मंत्री ने खड़गे को सिर्फ नाममात्र का पार्टी प्रमुख बताया।

गौरतलब है कि इसी साल कर्नाटक में विधानसभा चुनाव होने हैं जिसमें भाजपा और कॉन्ग्रेस के बीच सीधा मुकाबला बताया जा रहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -