Wednesday, August 4, 2021
Homeराजनीतिफारूक अब्दुल्ला की बहन और बेटी हिरासत में, लाल चौक पर 370 हटाने का...

फारूक अब्दुल्ला की बहन और बेटी हिरासत में, लाल चौक पर 370 हटाने का कर रहीं थी विरोध

कश्मीर घाटी में पोस्टपेड मोबाइल सेवा बहाल होने के कुछ ही घंटों बाद एहतियात के तौर पर एसएमएस सेवा बंद कर दी गई। बता दें कि राज्‍य में 5 अगस्‍त से बंद मोबाइल सेवा सोमवार से बहाल की गई थी।

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला की बहन सुरैया और बेटी साफिया को हिरासत में लिया गया है। सुरैया और साफिया को अनुच्छेद 370 हटाए जाने के विरोध में प्रदर्शन के दौरान हिरासत में लिया गया।

बता दें कि फारूक अब्दुल्ला और उनके बेटे उमर अब्दुल्ला पहले से ही हिरासत में हैं। फारूक को पब्लिक सेफ्टी एक्ट के तहत हिरासत में रखा गया है। घाटी में मंगलवार को (अक्टूबर 15, 2019) को सुरैया और साफिया के नेतृत्व में पहली बार विरोध-प्रदर्शन देखने को मिला। प्रदर्शन श्रीनगर के महत्वपूर्ण लाल चौक पर किया गया।

सुरैया और साफिया के नेतृत्व में हो रहे प्रदर्शन में शामिल महिलाएँ जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा खत्म करने और उसे दो केंद्र शासित प्रदेश में बाँटने का विरोध कर रही थीं। होर्डिंग्स के साथ ये महिलाएँ लाल चौक पर प्रताप पार्क में इकट्ठा हुई थीं। इसके बाद उन्होंने प्रदर्शन शुरू कर दिया। पुलिस ने करीब एक दर्जन से ज्यादा महिलाओं को हिरासत में ले लिया।

इस बीच, कश्मीर घाटी में पोस्टपेड मोबाइल सेवा बहाल होने के कुछ ही घंटों बाद एहतियात के तौर पर एसएमएस सेवा बंद कर दी गई। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। बता दें कि राज्‍य में 5 अगस्‍त से बंद मोबाइल सेवा सोमवार (अक्‍टूबर 14, 2019) से बहाल की गई थी। लेकिन सुरक्षा के मद्देनजर सोमवार शाम 5 बजे एसएमएस सेवा बंद कर दी गई। सोमवार को शोपियां जिले में दो आतंकवादियों ने राजस्थान के एक ट्रक ड्राइवर की गोली मारकर हत्या कर दी और एक बगीचे के मालिक पर हमला किया। बताया जा रहा है कि इस घटना में शामिल एक आतंकवादी पाकिस्तानी था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

राणा अयूब बनीं ट्रोलिंग टूल, कश्मीर पर प्रोपेगेंडा चलाने के लिए आ रहीं पाकिस्तान के काम: जानें क्या है मामला

पाकिस्तान के सूचना मंत्रालय से जुड़े लोग ऑन टीवी राणा अयूब की तारीफ करते हैं। वह उन्हें मोदी सरकार का पर्दाफाश करने वाली ;मुस्लिम पत्रकार' के तौर पर जानते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,975FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe