Thursday, August 5, 2021
Homeराजनीतिवारंट के बाद फरार हुए हार्दिक पटेल, पत्नी ने कहा- रात में घर में...

वारंट के बाद फरार हुए हार्दिक पटेल, पत्नी ने कहा- रात में घर में घुस आती है पुलिस, लेती है तलाशी

हार्दिक पटेल के ख़िलाफ़ गैर-जमानती वारंट जारी किया गया है। उन पर देशद्रोह का मामला दर्ज है। उनके ख़िलाफ़ जारी वारंट और पुलिस के बढ़ते शिकंजे के बीच वो भूमिगत हो गए हैं।

कॉन्ग्रेस नेता हार्दिक पटेल फरार हो गए हैं। उनकी बीवी ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस कर के कहा है कि उनके पति गायब हैं। ख़ुद को पाटीदार नेता बताने वाले हार्दिक पटेल पर कई मुक़दमे दर्ज हैं। उन्हें पुलिस ने गिरफ़्त में भी लिया था। उनके ख़िलाफ़ जारी वारंट और पुलिस के बढ़ते शिकंजे के बीच वो भूमिगत हो गए हैं। उनकी पत्नी किंजल ने अपने पति के लिए सोशल मीडिया पर मोर्चा सम्भाला हुआ है। उनका कहना है कि गुजरात पुलिस और सरकार उनके पति को बेवजह प्रताड़ित कर रही है।

किंजल ने अहमदाबाद पुलिस पर भी कई आरोप लगाए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि क्राइम ब्रांच के अधिकारी रात के 10 बजे घर में घुस जाते हैं और जबरदस्ती तलाशी लेते हैं। किंजल ने पुलिस को आड़े हाथ लेते हुए लिखा है कि किसी को मार डालना ही आतंकवाद नहीं होता है, किसी को डराकर कोने में बिठा देने की कोशिश करना भी आतंकवाद होता है। हार्दिक 24 जनवरी को जेल से रिहा हुए थे। इसके बाद उन्होंने कहा था:

“7 दिन बाद तानाशाही की कैद से आजाद हुआ हूँ। मेरा गुनाह क्‍या है? क्‍या मैं किसान, युवा, छात्रों के अधिकार तथा शिक्षा व रोजगार की बात करता हूँ, इसलिए इनके निशाने पर हूँ? मुझे संविधान इसका अधिकार देता है। सरकार में बेठे हिटलरवादी लोगों ने मुझे डराने और झुकाने के लिए सभी ताक़त का इस्तेमाल कर लिया है।”

हार्दिक पटेल के ख़िलाफ़ गैर-जमानती वारंट जारी किया गया है। उन पर देशद्रोह का मामला दर्ज है। किंजल पटेल अपने पति हार्दिक का आधिकारिक ट्विटर हैंडल भी चलाती हैं। उनका कहना है कि आंदोलन से हार्दिक या उनका परिवार करोड़पति नहीं बन पाया और निर्दोष भाव से काम किया लेकिन आज लोग उनके साथ नहीं खड़े हैं।

साबरमती जेल से बाहर आते ही हार्दिक पटेल को अहमदाबाद पुलिस ने दूसरे मामले में किया गिरफ़्तार

देशद्रोह मामले में हाजिर नहीं हुए कॉन्ग्रेस नेता हार्दिक पटेल, गिरफ़्तारी के बाद भेजे गए जेल

चुनावी जनसभा के दौरान हार्दिक पटेल को पड़ा झापड़, BJP को ठहराया दोषी

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अगर बायोलॉजिकल पुरुषों को महिला खेलों में खेलने पर कुछ कहा तो ब्लॉक कर देंगे: BBC ने लोगों को दी खुलेआम धमकी

बीबीसी के आर्टिकल के बाद लोग सवाल उठाने लगे हैं कि जब लॉरेल पैदा आदमी के तौर पर हुए और बाद में महिला बने, तो यह बराबरी का मुकाबला कैसे हुआ।

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,028FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe