‘ऊपर’ से अनुमति के बिना कुछ नहीं, एनकाउंटर का क्रेडिट CM को: तेलंगाना के मंत्री का विवादित बयान

एनकाउंटर को लेकर तेलंगाना के मंत्री ने कहा, “इसका क्रेडिट मुख्यमंत्री को जाता है।” उन्होंने बताया कि क्राइम सीन को रिक्रिएट करना और फिर एनकाउंटर करना 'ऊपर' से अनुमति के बिना नहीं हुई होगी।

हैदराबाद में महिला वेटनरी डॉक्टर से गैंगरेप के बाद हत्या करने के सभी आरोपितों को तेलंगाना पुलिस ने शुक्रवार (दिसंबर 6, 2019) को एनकाउंटर में मार गिराया था। इस एनकाउंटर को लेकर भले ही कई तरह के सवाल खड़े किए जा रहे हों, लेकिन तेलंगाना के मंत्री ने इसे जायज ठहराया है। उन्होंने कहा कि जो कोई भी इस तरह के क्रूर अपराध को अंजाम देता है, उसके दिमाग में अब इस तरह के एनकाउंटर का डर हो सकता है। मंत्री ने कहा कि यह एक तरह का संदेश है। उन्होंने कहा कि अगर आपका आचरण गलत है, तो आप किसी भी अदालती मुकदमे, जेल की सजा या बाद की जमानत का लाभ नहीं उठा सकेंगे, क्योंकि हम ऐसा होने ही नहीं देंगे। इस एनकाउंटर के माध्यम से हम संदेश देना चाहते हैं कि जो कोई भी क्रूर और गलत है, उसका एनकाउंटर होगा।

राज्य के पशुपालन मंत्री तलसानी श्रीनिवास यादव ने द संडे एक्सप्रेस से बात करते हुए पहली बार इस एनकाउंटर में सरकार की कथित भूमिका पर बोला। उन्होंने कहा कि यह एनकाउंटर पूरे देश के लिए संदेश है। आगे उन्होंने कहा कि सरकार पर तत्काल कार्रवाई के लिए दबाव था। उन्होंने न्यायिक व्यवस्था पर संदेह जाहिर करते हुए कहा कि अगर अदालती प्रक्रिया से न्याय होता तो इसमें काफी लंबा समय लगता। उनका कहना है कि भारतीय न्यायिक प्रक्रिया लंंबे समय तक चलती है।

एनकाउंटर को लेकर उन्होंने कहा, “इसका क्रेडिट मुख्यमंत्री को जाता है।” उन्होंने संडे एक्सप्रेस को बताया कि क्राइम सीन को रिक्रिएट करना और फिर एनकाउंटर करना ‘ऊपर’ से अनुमति के बिना नहीं हुई होगी। यह पूछे जाने पर कि क्या शीर्ष नेतृत्व की जानकारी के बिना एनकाउंटर हो सकता है, तो उन्होंने कहा कि 100% क्राइम सीन को रिक्रिएट करना ‘ऊपर’ के निर्देश से हुआ। उन्होंने कहा कि तेलंगाना राज्य तत्काल कार्रवाई करने में बहुत तेज है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

आगे यह पूछे जाने पर कि क्या यह कहा जा सकता है कि एनकाउंटर के लिए सीएम की अनुमति थी, उन्होंने कहा, “अनुमति नहीं, लेकिन जब पुलिस को कार्रवाई करनी है, तो हम क्या कर सकते हैं? अनुमति नहीं थी, लेकिन तत्काल कार्रवाई के लिए दबाव था।” बलात्कार के आरोपितों के एनकाउंटर हत्या के बारे में बात करते हुए वह कहते हैं, “मैं बहुत खुश हूँ। पूरे भारत में लोग खुश हैं। मैं इस मंत्रिमंडल का हिस्सा बनकर गौरवान्वित महसूस कर रहा हूँ।” उन्होंने कहा कि यह पूरे भारत के लिए एक संदेश है। 

तलसानी श्रीनिवास यादव ने आगे कहा कि 16 दिसंबर को दिल्ली में हुए सामूहिक बलात्कार के सात साल हो चुके हैं। लेकिन आज तक इस मामले में कुछ नहीं हुआ है। यह केस भारत के साथ-साथ पूरे विश्व के लिए एक महत्वपूर्ण मामला था। इससे यह संदेश जाता है कि देश में कोई कानून-व्यवस्था नहीं है। लोग जेल जाते हैं, बाहर आते हैं और फिर से अपराध करने का मौका मिलता है। भारत में यही हालत है। इसलिए इस मामले में यह (एनकाउंटर) पूरे भारत में एक मजबूत संदेश है।

यह पूछे जाने पर कि क्या इस दबाव ने सरकार को मजबूर किया, उन्होंने कहा, “हाँ, हाँ, यह पूरे भारत से महसूस किया गया था। यह घटना सभी के लिए एक झटका थी। तेलंगाना पुलिस बहुत मजबूत है। पूरे भारत में हैदराबाद पुलिस बहुत मजबूत है।” तेलंगाना मंत्री ने बताया कि कैसे बसपा प्रमुख मायावती और दिल्ली सामूहिक बलात्कार पीड़िता निर्भया की माँ ने एनकाउंटर के बाद तेलंगाना सरकार की प्रशंसा की थी। उन्होंने कहा, “कल, पूरे भारत में यह एकमात्र राष्ट्रीय समाचार था।”

वहीं राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग सहित मानवाधिकार समूहों द्वारा उठाई गई चिंताओं के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, “ऐसे लोग (कुछ भी) कह सकते हैं। (पीड़ित के) परिवार के बारे में क्या? वे उन्हें क्या बोलेंगे?” यादव ने इस बात पर भी संदेह व्यक्त किया कि अगर न्यायिक प्रक्रिया से चारों आरोपित गुजरे होते तो क्या न्याय मिलता? उन्होंने कहा, “इसका कोई अंत नहीं होगा। भारतीय कानून, भारतीय न्यायिक प्रक्रिया… हमेशा के लिए चलेगी। पूरे भारत के लोग जानते हैं कि भारतीय न्यायपालिका में बहुत देरी होती है, जिसकी वजह से लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। यहाँ तक कि निर्भया की माँ ने भी इस पर नाराजगी जताई। यही है भारतीय कानून है। अभी इसमें काफी बदलाव की आवश्यकता है। लोगों को इसके बारे में सोचना होगा।”

मारे गए सभी आरोपित: पुलिस ने वहीं किया एनकाउंटर, जहाँ ‘प्रीति रेड्डी’ के साथ किया था जघन्य अपराध

वे सब उसी तरह से जलें, जैसे उन सबने मेरी बेटी को जलाया: डॉ. ‘प्रीति’ रेड्डी की माँ

‘मेरी बेटी की आत्मा को अब शांति मिलेगी’ – ‘प्रीति रेड्डी’ के पिताजी ने कही ‘दिल की बात’

हैदराबाद एनकाउंटर: आरिफ ने पुलिस से छीने थे हथियार, कर्नाटक में भी अपराधों को अंजाम दे चुके थे प्रीति रेड्डी के गुनहगार

‘पुलिस पर हमला’ का मामला दर्ज: ‘प्रीति रेड्डी’ मामले के चारों आरोपित एनकाउंटर के बाद भी कानून के शिकंजे में

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

लोहरदगा हिंसा
मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक हिंदुओं के घरों और संपत्ति को चुन-चुन कर निशाना बनाया गया। पथराव करने वालों में 8 से 12 साल तक के मुस्लिम बच्चे भी शामिल थे। 100 से ज्यादा घायलों में से कई की हालत गंभीर।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

143,804फैंसलाइक करें
35,951फॉलोवर्सफॉलो करें
163,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: