Friday, July 19, 2024
Homeराजनीतियहाँ के CM कॉन्ग्रेस आलाकमान के चप्पल उठा कर चलते थे.. पूरे भारत में...

यहाँ के CM कॉन्ग्रेस आलाकमान के चप्पल उठा कर चलते थे.. पूरे भारत में लोग उन्हें नकार रहे हैं: पुडुचेरी में PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पुडुचेरी में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कॉन्ग्रेस पर जमकर निशाना साधा और कहा कि कॉन्ग्रेस झूठ बोलने में माहिर है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार (फरवरी 25, 2021) को पुडुचेरी में विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया। इस मौके पर पुडुचेरी की उपराज्यपाल तमिलसाई सुंदरराजन भी उपस्थित रहीं। प्रधानमंत्री मोदी ने इस दौरान पुडुचेरी विकास के लिए हर संभव समर्थन का आश्वासन दिया और साथ ही उन्होंने कॉन्ग्रेस पर हमला भी किया। उन्होंने याद दिलाया कि कैसे 2016 में पुडुचेरी के लोगों ने बहुत उम्मीद के साथ कॉन्ग्रेस के लिए वोट किया। 

पीएम मोदी ने कहा कि जनता को लगा था कि कॉन्ग्रेस की सरकार उनकी समस्याओं का समाधान करेगी, लेकिन 5 साल बाद लोग निराश हैं और जनता के सपने और उम्मीदें टूट चुकी हैं। पीएम मोदी ने कहा कि कॉन्ग्रेस दूसरों को लोकतंत्र विरोधी कहने का कोई मौका नहीं छोड़ती, लेकिन उस पार्टी को खुद को शीशे में देखने की जरूरत है। बकौल पीएम मोदी, कॉन्ग्रेस ने हर संभव तरह से लोकतंत्र का अपमान किया।

पीएम मोदी ने बताया कि कैसे पुडुचेरी में नारायणसामी की सरकार ने पंचायत के चुनाव कराने से इनकार कर दिया। पार्टी ने हर सेक्टर को नुकसान पहुँचाया। प्रधानमंत्री ने कहा कि कॉन्ग्रेस लोगों के लिए काम करने में विश्वास नहीं करती है, मुझे समझ नहीं आता कि कॉन्ग्रेस क्यों नहीं चाहती कि कोई दूसरा लोगों के लिए काम करे। उन्होंने कहा कि प्रदेश को एक ऐसी सरकार मिली थी जो दिल्ली में कॉन्ग्रेस आलाकमान की सेवा में व्यस्त थी। उन्होंने कहा:

“कॉन्ग्रेस सरकार के नेताओं की प्राथमिकताएँ अलग थीं। पूरे भारत में लोग कॉन्ग्रेस को खारिज कर रहे हैं। संसद में उनकी सीटें इतिहास में अब तक सबसे कम हैं। सामंती राजनीति, वंशवाद की राजनीति, संरक्षण की राजनीति की कॉन्ग्रेस संस्कृति समाप्त हो रही है। हेल्थकेयर सेक्टर आने वाले समय में मुख्य भूमिका निभाएगा। जो देश स्वास्थ्य में निवेश करेंगे वो चमकेंगे। इस साल के बजट में स्वास्थ्य सेक्टर को बड़ी बढ़त मिली है। सभी को क्वालिटी वाली स्वास्थ्य देखभाल प्रदान करने के उद्देश्य के अनुरूप, वे JIPMER में ब्लड सेंटर का उद्घाटन कर रहा हूँ।”

इस दौरान पीएम मोदी ने मछुआरों के बीच राहुल गाँधी द्वारा बोले गए झूठ पर भी तंज कसा। उन्होंने कहा कि पहले एक महिला जब मुख्यमंत्री के बारे में शिकायत कर रही थी, पूरी दुनिया ने महिला की आवाज में उसका दर्द सुना लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री ने सच बताने की बजाए अपने ही नेता को गलत अनुवाद बताया। उन्होंने कहा कि कॉन्ग्रेस ‘बाँटो, झूठ बोलो और राज करो’ की रणनीति से काम करती है।

पीएम मोदी ने कहा कि कॉन्ग्रेस के नेता ने यहाँ आकर दावा किया कि वो मत्स्य मंत्रालय बनाएँगे, लेकिन हमारी सरकार ने पहले ही ये मंत्रालय बना चुकी है जो लोगों के लिए काम कर रहा है, ऐसे में कॉन्ग्रेस के नेता यहाँ लोगों को गुमराह कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यहाँ के सीएम कॉन्ग्रेस आलाकमान की चप्पल उठा कर चलते थे। उन्होंने कहा कि टूरिज्म, बिजनेस और हेल्थ के क्षेत्र में पुडुचेरी को भाजपा आगे ले जाएगी।

राहुल गाँधी ने पुडुचेरी में दावा किया था कि जैसे भूमि के किसान होते हैं, ऐसे ही वो मछुआरों को समुद्र का किसान मानते हैं। साथ ही उन्होंने पूछा था कि जब भूमि के किसानों के लिए मंत्रालय है तो फिर समुद्र के किसानों के लिए दिल्ली में मंत्रालय क्यों नहीं? उन्होंने यही बात केरल के कोल्लम स्थित थांगसेरी बीच पर वहाँ के मछुआरों से बात करते हुए दोहरा दी थी। उन्होंने उन मछुआरों से कहा था कि दिल्ली में आपके लिए बोलने वाला कोई नहीं है।

narendra modi in puducherry rahul gandhi fisheries ministry cm narayanasamy translation

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

पुरी के जगन्नाथ मंदिर का 46 साल बाद खुला रत्न भंडार: 7 अलमारी-संदूकों में भरे मिले सोने-चाँदी, जानिए कहाँ से आए इतने रत्न एवं...

ओडिशा के पुरी स्थित महाप्रभु जगन्नाथ मंदिर के भीतरी रत्न भंडार में रखा खजाना गुरुवार (18 जुलाई) को महाराजा गजपति की निगरानी में निकाल गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -