Thursday, July 25, 2024
HomeराजनीतिED ने हेमंत सोरेन को किया गिरफ्तार, विधायकों को टूट से बचाने के लिए...

ED ने हेमंत सोरेन को किया गिरफ्तार, विधायकों को टूट से बचाने के लिए JMM नेता चंपई सोरेन चले हैदराबाद: राँची में भाजपा नेताओं की बैठक

हेमंत सोरेन को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने जमीन घोटाले में गिरफ्तार करके कोर्ट में पेश किया, जहाँ उन्हें ईडी की हिरासत में भेज दिया गया। दूसरी तरफ, मुख्यमंत्री पद से हेमंत सोरेन के इस्तीफे के बाद झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) विधायक दल के नेता चंपई सोरेन ने सरकार बनाने का दावा पेश को लेकर राज्यपाल से मुलाकात की।

झारखंड में 1 फरवरी 2024 का दिन राजनीतिक रूप से काफी उथल-पुथल भरा रहा। हेमंत सोरेन को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने जमीन घोटाले में गिरफ्तार करके कोर्ट में पेश किया, जहाँ उन्हें ईडी की हिरासत में भेज दिया गया। दूसरी तरफ, मुख्यमंत्री पद से हेमंत सोरेन के इस्तीफे के बाद झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) विधायक दल के नेता चंपई सोरेन ने सरकार बनाने का दावा पेश को लेकर राज्यपाल से मुलाकात की।

इस मुलाकात के बाद हेमंत के उत्तराधिकारी के रूप में चुने गए चंपई सोरेन समर्थक विधायकों के साथ हैदराबाद रवाना होने के लिए एयरपोर्ट पहुँचे, लेकिन कोहरे के कारण उनकी चार्टर्ड फ्लाइट उड़ान नहीं भर सकी और यात्रा बीच में ही रुक गई। खबर लिखे जाने तक उनकी उड़ान के रवाना होने की खबर नहीं थी।

एयरपोर्ट पर अटके चंपई और साथी विधायक

कहा जा रहा है कि विधायकों को टूट से बचाने के लिए चंपई सोरेन अपने साथी विधायकों को लेकर हैदराबाद रवाना होने के लिए राँची एयरपोर्ट पर गए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, खराब मौसम की वजह से उनकी चार्टर्ड प्लेन उड़ान नहीं भर पाई। बताया जा रहा है कि राँची एयरपोर्ट पर दो प्राइवेट प्लेन हैं। वहीं, हैदराबाद में दो बसें इन विधायकों का इंतजार कर रही हैं। इन विधायकों में जेएमएम और कॉन्ग्रेस पार्टी के विधायक शामिल हैं।

चंपई सोरेन ने की राज्यपाल से मुलाकात

इससे पहले, जेएमएम और गठबंधन के विधायक दल के नए चुने गए नेता चंपई सोरेन ने राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन से मुलाकात की। इस दौरान आलमगीर आलम, प्रदीप यादव, सत्यानंद भोक्ता और विनोद सिंह मौजूद रहे। राज्यपाल ने ही इन पाँच नेताओं को मिलने का वक्त दिया था। झारखंड के राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन से मुलाकात के बाद झामुमो विधायक दल के नेता चंपई सोरेन ने कहा, “हमने राज्यपाल से माँग की है कि सरकार गठन की प्रक्रिया शुरू होनी चाहिए। उन्होंने (राज्यपाल) कहा कि प्रक्रिया जल्द ही शुरू होगी…।”

इससे पहले, झारखंड मुक्ति मोर्चा ने एक वीडियो जारी किया है, जिसमें सभी 43 विधायक दिख रहे हैं। ये वही 43 विधायक हैं जिन्होंने चंपई सोरेन को समर्थन दिया है।

हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी झारखंड की राजनीति में बड़ा बदलाव ला सकती है। झारखंड में राजनीतिक उथल-पुथल का माहौल है। बता दें कि राज्य की प्रमुख विपक्षी दल भाजपा ने शुक्रवार (2 फरवरी 2024) को लगभग डेढ़ बजे अपने विधायकों की बैठक बुलाई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -