Tuesday, May 17, 2022
Homeराजनीति'उन्होंने तलवार और लाठियों से मेरे बेटे को मारा' : BJP कार्यकर्ता की लिंचिंग...

‘उन्होंने तलवार और लाठियों से मेरे बेटे को मारा’ : BJP कार्यकर्ता की लिंचिंग में तेजिंदर सिंह विर्क का नाम, अब हुआ सपा में शामिल

किसान नेता तेजिंदर सिंह विर्क ने अखिलेश यादव की मौजूदगी में आज समाजवादी पार्टी को ज्वाइन किया है। आरोप है कि तेजिंदर लखीमपुर खीरी में हिंसा के दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं की पीट पीट कर हत्या करने वाली भीड़ में शामिल था।

लखीमपुर खीरी हिंसा के वक्त बीजेपी कार्यकर्ता शुभम मिश्रा की लिंचिंग में शामिल कथित किसान नेता तेजिंदर सिंह विर्क ने समाजवादी पार्टी को आधिकारिक रूप से ज्वाइन कर लिया है। विर्क के पार्टी से जुड़ने के दौरान अखिलेश यादव ने हाथ में गेहूँ चावल लेकर प्रण लिया कि वो भारतीय जनता पार्टी को हरा कर रहेंगे। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अखिलेश यादव ने दावा किया कि तेजिंदर की हत्या की साजिश रची गई थी, लेकिन समय पर इलाज मिलने से वह बच पाए।

बता दें कि भले ही तेजिंदर के सपा से जुड़ने की खबर आज आई हो। मगर जब लखीमपुर खीरी हिंसा में शुभम मिश्रा मारे गए थे उस समय भी दावा किया गया था कि इनकी करीबियाँ सपा से हैं। भाजपा नेता अमित मालवीय ने दावा किया था, “लखीमपुर में मारे जाने वाले शुभम मिश्रा के परिवार ने पुलिस को दी अपनी शिकायत में तेजिंदर सिंह विर्क का नाम लिया है, जिसका लिंक समाजवादी पार्टी से है और जिसको अखिलेश यादव किसान नेता बता रहे थे। आंदोलन के नाम पर सपा और कॉन्ग्रेस लखीमपुर में राजनीति कर रहे है।”

अब उन्हीं पुराने अनुमानों को सच साबित करते हुए तेजिंदर ने सपा को ज्वाइन कर लिया है। ऐसे में सोशल मीडिया पर शुभम मिश्रा के परिवार द्वारा दायर की गई शिकायत ट्विटर पर फिर शेयर हो रही है। याद दिलाया जा रहा है कि कैसे तेजिंदर के ख़िलाफ शुभम के परिजनों ने शिकायत की थी और बताया था कि अमनदीप सिंधु, महेंद्र सिंह के साथ तेजेंद्र सिंह विर्क समेत अज्ञात लोगों ने उनके बेटे व हरिओम मिश्रा को तलवार और लाठियों से पीटा था। घटना के बाद और शिकायत में तेजिंदर सिंह विर्क का नाम आने के बाद उसकी अखिलेश यादव के साथ तमाम तस्वीरें वायरल हुई थीं। उन दिनों से ही विर्क ने लाल पगड़ी पहननी शुरू कर दी थी। अपने सोशल मीडिया पर भी उसने अखिलेश यादव की सभाओं की तस्वीर साझा करते हुए ‘जय समाजवाद’ लिखा था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अभिनेत्री के घर पहुँची महाराष्ट्र पुलिस, लैपटॉप-फोन सहित कई उपकरण जब्त किए: पवार पर फेसबुक पोस्ट, एपिलेप्सी से रही हैं पीड़ित

अभिनेत्री ने फेसबुक पर 'ब्राह्मणों से नफरत' का आरोप लगाते हुए 'नर्क तुम्हारा इंतजार कर रहा है' - ऐसा लिखा था। हो चुकी हैं गिरफ्तार। अब घर की पुलिस ने ली तलाशी।

जिसे पढ़ाया महिला सशक्तिकरण की मिसाल, उस रजिया सुल्ताना ने काशी में विश्वेश्वर मंदिर तोड़ बना दी मस्जिद: लोदी, तुगलक, खिलजी – सबने मचाई...

तुगलक ने आसपास के छोटे-बड़े मंदिरों को भी ध्वस्त कर दिया और रजिया मस्जिद का और विस्तार किया। काशी में सिकंदर लोदी और खिलजी ने भी तबाही मचाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,268FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe