‘BJP नहीं छोड़ रहीं पंकजा मुंडे, महाराष्ट्र में दुर्घटनावश बनी सरकार फैला रही अफवाह’

पंकजा मुंडे के पार्टी छोड़ने की अटकलों को भाजपा ने खारिज कर दिया है। महाराष्ट्र भाजपा के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा है कि उनके पार्टी छोड़ने की बातें सिर्फ अफवाह है। उन्होंने कहा, “भाजपा के नेता पंकजा मुंडे से संपर्क में हैं। वह हार के बाद आत्मनिरीक्षण कर रही हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वह भाजपा छोड़ रही हैं।”

उन्होंने शिवसेना नेता संजय राउत के इस दावे को खारिज किया कि कई नेता शिवसेना में शामिल होने के लिए उत्सुक हैं। पाटिल ने कहा, “महाराष्ट्र में दुर्घटनावश बनी सरकार निराधार खबरें फैला रही है। उनके ठाकरे परिवार से अच्छे पारिवारिक रिश्ते हो सकते हैं, लेकिन इसका मतलब यह कतई नहीं है कि वह शिवसेना में शामिल होने जा रही हैं।”

दरअसल, रविवार (दिसंबर 1, 2019) को पंकजा मुंडे ने फेसबुक पोस्ट किया था, ‘‘अब सोचने और निर्णय लेने की जरूरत है कि आगे क्या किया जाए?’’ पंकजा ने 12 दिसंबर को समर्थकों को बीड के गोपीनाथगढ़ पहुँचने की अपील की है। 12 दिसंबर को पंकजा के पिता दिवंगत गोपनाथ मुंडे का जन्मदिवस है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इसके बाद पंकजा मुंडे ने सोमवार (दिसंबर 2, 2019) को ट्विटर पर अपने ‘बॉयो’ से भाजपा का नाम हटा दिया। इसके बाद उनके भाजपा छोड़ने की अटकलों ने जोर पकड़ लिया।

इसके बाद शिवसेना सांसद संजय राउत ने भी यह कहकर सस्पेंस और बढ़ा दिया कि कई नेता उनके संपर्क में हैं। वहीं शिवसेना विधायक अब्दुल सत्तार ने कहा, “12 दिसंबर को, पंकजा मुंडे तय करेगी कि वह आगे किस तरफ जाएँगी। अगर वह शिवसेना में शामिल होती हैं तो हम उनका स्वागत करेंगे। गोपीनाथ जी और बालासाहेब जी के सौहार्दपूर्ण संबंध रहे थे।” गौरतलब है कि पंकजा मुंडे को विधानसभा चुनाव में अपने चचेरे भाई और एनसीपी नेता धनंजय मुंडे के हाथों शिकस्त झेलनी पड़ी थी। परली से विधायक रहीं पंकजा फडणवीस कैबिनेट में मंत्री थीं।

NCP नेता धनंजय मुंडे ने बहन पंकजा पर की आपत्तिजनक टिप्पणी, मामला दर्ज

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

उद्धव ठाकरे-शरद पवार
कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गॉंधी के सावरकर को लेकर दिए गए बयान ने भी प्रदेश की सियासत को गरमा दिया है। इस मसले पर भाजपा और शिवसेना के सुर एक जैसे हैं। इससे दोनों के जल्द साथ आने की अटकलों को बल मिला है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

118,575फैंसलाइक करें
26,134फॉलोवर्सफॉलो करें
127,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: