Friday, July 19, 2024
Homeराजनीतिविकिपीडिया को IT मंत्रालय ने भेजा समन, अर्शदीप सिंह को बता दिया था खालिस्तानी:...

विकिपीडिया को IT मंत्रालय ने भेजा समन, अर्शदीप सिंह को बता दिया था खालिस्तानी: उच्च-स्तरीय समिति करेगी पूछताछ, Pak से हुआ पूरा खेला

IT मंत्रालय के सचिव के नेतृत्व में एक उच्च-स्तरीय समिति इस सम्बन्ध में विकिपीडिया के एग्जीक्यूटिव से पूछताछ करेगी। साथ ही कंपनी को 'कारण बताओ नोटिस' भी थमाया जा सकता है।

एशिया कप में भारत और पाकिस्तान के बीच रविवार (4 सितंबर, 2022) को हुए मैच में भारतीय तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह से फील्डिंग के दौरान एक कैच छूट गया। इस मैच में भारत की हार हुई, जिसके बाद फर्जी पाकिस्तानी सोशल मीडिया हैंडल्स से अर्शदीप सिंह के खिलाफ ज़हर उगला जाने लगा। अब ‘केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY)’ ने इस मामले में सोमवार को विकिपीडिया को समन किया है।

भारत में विकिपीडिया के एग्जीक्यूटिव को समन भेजते हुए पूछा गया है कि आखिर उसकी साइट पर अर्शदीप सिंह के प्रोफ़ाइल को खालिस्तानी संगठन से कैसे जोड़ दिया गया? ऑनलाइन इनसाइक्लोपीडिया प्लेटफॉर्म से भारत सरकार ने पूछा है कि अर्शदीप सिंह के पेज से आखिर छेड़छाड़ कैसे हुई और उनके पेज की एंट्री कुछ इस तरह से एडिट कर दिया गया, जिससे उनके खालिस्तानी कनेक्शन होने के दावे किए जाने लगे।

IT मंत्रालय के सचिव के नेतृत्व में एक उच्च-स्तरीय समिति इस सम्बन्ध में विकिपीडिया के एग्जीक्यूटिव से पूछताछ करेगी। साथ ही कंपनी को ‘कारण बताओ नोटिस’ भी थमाया जा सकता है। उसे आगाह किया जाएगा कि आगे इस तरह के एडिट्स से बचने के उपाय किए जाएँ। पाकिस्तानी आईपी एड्रेस से अर्शदीप सिंह के पेज को एडिट कर उनका निवास स्थान ‘खालिस्तान’ दिखाया गया। जबकि AltNews के मोहम्मद जुबैर जैसों ने इसके लिए भारतीयों को ही दोषी ठहराया।

मध्य प्रदेश के गुना में 5 फरवरी, 1999 को जन्मे अर्शदीप सिंह 2018 में उस अंडर 19 वर्ल्ड कप की भारतीय टीम का हिस्सा थे, जिसने ट्रॉफी जीती थी। पंजाब के बाएँ हाथ के तेज़ गेंदबाज अर्शदीप सिंह को IPL में सबसे पहले ‘किंग्स XI पंजाब’ ने मौका दिया था। उन्होंने अपने पहले ही आईपीएल मैच में इंग्लैंड के धाकड़ विकेटकीपर बल्लेबाज जॉस बटलर और भारतीय बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे का विकेट लिया था। जून 2022 में उन्हें भारतीय टीम से डेब्यू का मौका मिला।

पाकिस्तान के खिलाफ मैच में अर्शदीप ने सिंह 18वें ओवर की तीसरी गेंद में आसिफ अली का कैच छोड़ा था, जिसके बाद देखा गया कि अचानक उनको सोशल मीडिया पर ट्रोल किया जाने लगा। कुछ अकॉउंट्स से उन्हें देश विरोधी जैसे शब्द तक कहे गए। जो ट्वीट अर्शदीप को देशद्रोही आदि बताते हुए किए गए हैं, वो अधिकतर पाकिस्तान और अरब देशों के लोगों ने भारतीय बनकर किए हैं। याद दिला दें कि मोहम्मद शमी के समय भी इसी तरह पोस्ट कर करके भारतीयों को बदनाम करने का प्रयास हुआ था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

1 साल में बढ़े 80 हजार वोटर, जिनमें 70 हजार का मजहब ‘इस्लाम’, क्या याद है आपको मंगलदोई? डेमोग्राफी चेंज के खिलाफ असम के...

असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने तथ्यों को आधार बनाते हुए चिंता जाहिर की है कि राज्य 2044 नहीं तो 2051 तक मुस्लिम बहुल हो जाएगा।

5 साल में 123% तक बढ़ गए मुस्लिम वोटर, फैक्ट फाइडिंग रिपोर्ट से सामने आई झारखंड की 10 सीटों की जमीनी हकीकत: बाबूलाल का...

झारखंड की 10 विधानसभा सीटों के कई मुस्लिम बहुल बूथ पर 100% से अधिक वोटर बढ़ गए हैं। यह खुलासा भाजपा की एक रिपोर्ट में हुआ है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -