Friday, June 21, 2024
Homeराजनीति335 सीटों पर NDA की जीत के साथ मोदी सरकार, राम मंदिर और विदेश...

335 सीटों पर NDA की जीत के साथ मोदी सरकार, राम मंदिर और विदेश में भारत के बढ़ते कद से उफान पर लोकप्रियता: देखिए सर्वे में और क्या-क्या

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद में विपक्ष को ललकार कर कहा कि तीसरी बार एनडीए सत्ता में आ रही है, वो भी पूर्ण बहुमत के साथ। अब तक के सबसे बड़े जनमत के साथ। इंडिया टुडे-सी वोटर का सर्वे भी यही कहता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद में विपक्ष को ललकार कर कहा कि तीसरी बार एनडीए सत्ता में आ रही है, वो भी पूर्ण बहुमत के साथ। अब तक के सबसे बड़े जनमत के साथ। इंडिया टुडे-सी वोटर का सर्वे भी यही कहता है। इंडिया टुडे-सी वोटर के सर्वे ‘मूड ऑफ द नेशन’ में एनडीए को 543 सीटों में से 335+ सीटें मिलती दिख रही हैं।

मूड ऑफ द नेशन सर्वे में करीब डेढ़ लाख लोग शामिल हुए, इनमें से 35 हजार लोगों से सीधी बात की गई। इस सर्वे रिपोर्ट के मुताबिक, इंडी गठबंधन का बेड़ा गर्क होता दिख रहा है। इंडी गठबंधन महज 166 सीटों पर सिमटता दिख रहा है, तो अन्य को 42 सीटें मिलती दिख रही हैं। वहीं, एनडीए लगातार तीसरी बार प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में वापसी करती दिख रही है। पीएम नरेंद्र मोदी की अगुवाई में एनडीए गठबंधन 543 में से 335 से भी अधिक सीटों पर जीत दर्ज करता दिख रहा है।

हर राज्य में पीएम मोदी का जादू, यूपी-बिहार-झारखंड का हाल

इस सर्वे के मुताबिक, राज्यवार जो आँकड़े सामने आए हैं, वो बताते हैं कि उत्तर भारत एक बार फिर से पूरी तरह से भगवामय हो रहा है। उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड में फिर से नरेंद्र मोदी का डंका बज रहा है। उत्तर प्रदेश की 80 सीटों में से 73 सीटें एनडीए को मिलती दिख रही हैं, जिसमें 72 अकेले बीजेपी को, तो 1 सीट सहयोगी दल को मिलता दिख रहा है। वहीं, विपक्षी दल महज 7 सीटों तक सिमटते दिख रहे हैं। यूपी में बीजेपी को 52 प्रतिशत मत मिलने का अनुमान जताया जा रहा है, तो विपक्षी गठबंधन को 36 प्रतिशत वोट मिलते दिख रहे हैं। यूपी के साथ ही उत्तराखंड में बीजेपी को भारी बहुमत मिलता दिख रहा है। उत्तराखंड में बीजेपी को 58.6 प्रतिशत मत मिलते दिख रहे हैं और पाँचों सीटों पर बीजेपी को प्रचंड बहुमत मिलता दिख रहा है।

बिहार की बात करें तो 40 में से 32 सीटों पर एनडीए को भारी बहुमत से जीत मिलती दिख रही है। इंडी गठबंधन 8 सीटों तक पहुँचता दिख रहा है। बिहार में एनडीए गठबंधन को 52 प्रतिशत वोट मिलते दिख रहे हैं, वहीं इंडी गठबंधन का मत प्रतिशत 7 प्रतिशत बढ़ते दिख रहे हैं। वहीं, झारखंड की बात करें तो 14 में से 12 सीटों पर बीजेपी की अगुवाई वाली एनडीए को जीत मिलती दिख रही है, तो 2 सीटों पर इंडी गठबंधन का मामला बनता दिख रहा है।

पश्चिम बंगाल में बीजेपी को बड़ी जीत

पश्चिम बंगाल में बीजेपी को अपने दम पर 19 सीटें मिलती दिख रही हैं। एक सीट पर इंडी गठबंधन तो 22 सीटें अन्य को मिलती दिख रही हैं। यहाँ मत प्रतिशत के मामले में बीजेपी करीब-करीब टीएमसी के पास पहुँचती दिख रही है। पश्चिम बंगाल में टीएमसी को करीब 43 प्रतिशत मत मिलते दिख रहे हैं, तो बीजेपी सिर्फ 3 प्रतिशत के फासले के साथ 40 प्रतिशत वोट पाती दिख रही है।

मध्य प्रदेश-छत्तीसगढ़-राजस्थान में फिर से कमाल

हाल ही में मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में हुए विधानसभा चुनावों में भारी जीत दर्ज करने वाली बीजेपी लोकसभा चुनाव में भी भारी बहुमत हासिल करती दिख रही है। इन तीनों राज्यों की 65 लोकसभा सीटों में से 62 पर बीजेपी को जीत मिलती दिख रही है। मध्य प्रदेश की 29 में से 27 सीटों पर बीजेपी को जीत मिलती दिख रही है। यहाँ बीजेपी 58 प्रतिशत वोट मिलते दिख रहे हैं, जबकि कॉन्ग्रेस को 38.2 प्रतिशत वोट मिलते दिख रहे हैं। ये पिछली बार के मुकाबले कहीं अधिक है।

बात छत्तीसगढ़ की करें तो छत्तीसगढ़ में बीजेपी 11 में से 10 सीटों पर जीत दर्ज करती दिख रही है। ये पिछली बार के मुकाबले एक सीट ज्यादा है। साल 2019 में बीजेपी को 9 सीटों पर जीत मिली थी, लेकिन इस बार बीजेपी का वोट शेयर बढ़कर 53.9 प्रतिशत हो गया है। वहीं, कॉन्ग्रेस के हिस्से 38.2 प्रतिशत वोट ही मिल रहे हैं।

राजस्थान में बीजेपी क्लीन स्वीप करती दिख रही है। बीजेपी राजस्थान की सभी 25 लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज करती दिख रही है। इस बार बीजेपी को 58.6 प्रतिशत मत मिलने के अनुमान सामने आ रहे हैं, तो कॉन्ग्रेस को 35 प्रतिशत वोट मिलते दिख रहे हैं। पिछली बार भी बीजेपी ने सभी सीटें जीती थी, लेकिन इस बार हनुमान बेनीवाल साथ छोड़ चुके हैं। इसके बावजूद एक बार फिर से बीजेपी राजस्थान की सभी 25 सीटों पर जीत दर्ज करती दिख रही है।

दक्षिण भारत में इंडी गठबंधन भारी

मूड ऑफ द नेशन के सर्वे के मुताबिक, दक्षिण भारत के पाँच राज्यों में कुल 129 लोकसभा सीटें हैं, जिसमें इंडी गठबंधन भारी पड़ता दिख रहा है। हालाँकि आँध्र प्रदेश से लेकर तेलंगाना में गठबंधनों में बदलाव हो सकता है। मौजूदा गठबंधन के हिसाब से बात करें तो तमिलनाडु में डीएमके-कॉन्ग्रेस क्लीन स्वीप करती दिख रही हैं। वहीं, कर्नाटक में एनडीए गठबंधन को 28 में से 24 सीटों पर जीत मिलती दिख रही है। यहाँ इंडी गठबंधन चार सीटों तक सिमटती दिख रही है।

आँध्र प्रदेश की कुल 25 लोकसभा सीटों में से एनडीए और इंडी गठबंधन दोनों का ही पत्ता साफ होता दिख रहा है। यहाँ टीडीपी को 17 सीटों पर जीत मिलने का अनुमान है, तो वाईएसआरसीपी को 8 सीटें मिलती दिख रही हैं। हालाँकि दोनों ही दलों के शीर्ष नेता दिल्ली का चक्कर काट रहे हैं, ऐसे में किसका बीजेपी के साथ गठबंधन हो जाए अभी कहा नहीं जा सकता। ऐसे में आँध्र प्रदेश में एनडीए बड़ा पलटवार कर सकता है।

केरल में इंडी गठबंधन सभी 20 सीटों पर जीत दर्ज करता दिख रहाहै। यहाँ एनडीए का मत प्रतिशत को बढ़ रहा है, लेकिन ये सीट में बदलता नहीं दिख रहा। वहीं, तेलंगाना की बात करें तो यहाँ की कुल 17 लोकसभा सीटों में से 10 सीटें इंडी गठबंधन को तो बीजेपी को सिर्फ तीन सीटें मिलती दिख रही हैं। एक सीट एआईएमआईएम के हिस्से जाती दिख रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार का 65% आरक्षण खारिज लेकिन तमिलनाडु में 69% जारी: इस दक्षिणी राज्य में क्यों नहीं लागू होता सुप्रीम कोर्ट का 50% वाला फैसला

जहाँ बिहार के 65% आरक्षण को कोर्ट ने समाप्त कर दिया है, वहीं तमिलनाडु में पिछले तीन दशकों से लगातार 69% आरक्षण दिया जा रहा है।

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -