Monday, November 29, 2021
Homeराजनीतिसंजय सिंह ने संघ प्रमुख भागवत को लिखा पत्र, कहा- श्रीराम मंदिर ट्रस्ट के...

संजय सिंह ने संघ प्रमुख भागवत को लिखा पत्र, कहा- श्रीराम मंदिर ट्रस्ट के भ्रष्टाचारियों के बारे में पेश करना चाहता हूँ सबूत

पत्र में संजय सिंह ने कहा है कि वे मोहन भागवत से मिलकर श्रीराम मंदिर ट्रस्ट बोर्ड द्वारा भूमि खरीद के मामले में हो रही अनियमितता की जानकारी देना चाहते हैं। उनके पास इस घोटाले से जुड़े अहम दस्तावेज मौजूद हैं, वे उन्हें मोहन भागवत को देकर इस मामले पर उन्हें सच्चाई बताना चाहते हैं।

आम आदमी पार्टी सांसद संजय सिंह ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरसंघचालक मोहनराव भागवत को पत्र लिखकर उनसे मिलने के लिए समय माँगा है। शनिवार (26 जून 2021) को लिखे गए इस पत्र में अयोध्या में हो रहे राम मंदिर निर्माण में व्यापक स्तर पर घोटाले की बात दोहराई गई है। इस पत्र को संजय सिंह ने ट्विटर पर साझा भी किया है।

पत्र में संजय सिंह ने कहा है कि वे मोहन भागवत से मिलकर श्रीराम मंदिर ट्रस्ट बोर्ड द्वारा भूमि खरीद के मामले में हो रही अनियमितता की जानकारी देना चाहते हैं। उनके पास इस घोटाले से जुड़े अहम दस्तावेज मौजूद हैं, वे उन्हें मोहन भागवत को देकर इस मामले पर उन्हें सच्चाई बताना चाहते हैं।

संजय सिंह ने पत्र में लिखा है, “आपको ज्ञात होगा कि राम मंदिर ट्रस्ट में जमीन खरीददारी से संबंधित बहुत बड़ा घोटाला हुआ है। मैं आपसे मिलकर इस पूरे घोटाले को विस्तार से आपके संज्ञान में लाना चाहता हूँ। इससे संबंधित सभी सबूत और तथ्य मेरे पास मौजूद हैं। यह सीधे तौर पर राम मंदिर ट्रस्ट के लोगों द्वारा की गई चंदा चोरी है। इस चंदा चोरी की घटना ने देश के हिंदुओं की आत्मा को झकझोर दिया है।”

अपने पत्र में उन्होंने आगे लिखा है, “श्रीमान जी, देश के करोड़ों लोगों ने मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम जी के मंदिर के लिए अपने खून पसीने की गाढ़ी कमाई दान की है, इस दान की रकम से भ्रष्टाचारियों ने दलाली करके अपनी जेब भर ली है। भगवान श्रीराम के नाम पर एकत्रित किए गए दान से अपनी जेब भरने वाले लोग हिंदू धर्म के सबसे बड़े गुनाहगार हैं। आज इन अपराधियों की काली करतूतें सबके सामने हैं। देश की जनता के पास भी इस घोटाले के सभी दस्तावेज एवं पुख्ता सबूत हैं।”

संजय सिंह ने आरएसएस प्रमुख से कहा कि वह इस घोटाले से संबंधित सभी दस्तावेज उनके समक्ष रखना चाहते हैं। इसलिए वह संघ प्रमुख के बहुमूल्य समय में कुछ समय मुलाकात के लिए माँग रहे हैं। संजय सिंह ने कि इन घोटालेबाजों के अपराध को प्रमुख चैनल देश की जनता के सामने ला चुके हैं।

दरअसल, संजय सिंह ने राम मंदिर के लिए खरीदी गई जमीन में हेराफेरी का आरोप लगाया था। बाद में जमीन के कथित घोटाले को लेकर वह कोर्ट जाने की धमकी दे रहे थे। ट्वीट कर संजय सिंह ने कहा था कि उन्होंने जब से भूमि घोटाले का खुलासा किया है तभी से वह इंतजार कर रहे थे कि भाजपा एक्शन ले, लेकिन 3 दिन बीतने के बाद अब वह कोर्ट जाने की तैयारी कर रहे हैं।

संजय सिंह ने कहा था, “मैंने अयोध्या राम मंदिर निर्माण के संबंध में घोटाले का खुलासा किया। इसके बाद केंद्र सरकार और भाजपा के कार्रवाई करने के लिए 3 दिनों तक इंतजार किया, लेकिन अब मैं समझ गया हूँ कि बीजेपी की आस्था प्रॉपर्टी डीलरों/भ्रष्टाचारियों में हैं, भगवान राम में नहीं। मैं इस मामले को अदालत में ले जाने की तैयारी कर रहा हूँ।” हालाँकि अभी तक उनके अदालत जाने की कोई खबर नहीं है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बेचारा लोकतंत्र! विपक्ष के मन का हुआ तो मजबूत वर्ना सीधे हत्या: नारे, निलंबन के बीच हंगामेदार रहा वार्म अप सेशन

संसद में परंपरा के अनुरूप आचरण न करने से लोकतंत्र मजबूत होता है और उस आचरण के लिए निलंबन पर लोकतंत्र की हत्या हो जाती है।

‘जिनके घर शीशे के होते हैं, वे दूसरों पर पत्थर नहीं फेंका करते’: केजरीवाल के चुनावी वादों पर बरसे सिद्धू, दागे कई सवाल

''अपने 2015 के घोषणापत्र में 'आप' ने दिल्ली में 8 लाख नई नौकरियों और 20 नए कॉलेजों का वादा किया था। नौकरियाँ और कॉलेज कहाँ हैं?"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,506FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe