Tuesday, June 25, 2024
Homeराजनीतिकॉन्ग्रेस दफ्तर के बाहर लगी मुस्लिम महिलाओं की लंबी लाइन, हाथ में 'गारंटी कार्ड'...

कॉन्ग्रेस दफ्तर के बाहर लगी मुस्लिम महिलाओं की लंबी लाइन, हाथ में ‘गारंटी कार्ड’ लेकर माँग रहीं ₹1 लाख: कहा – अपने लोगों को मोटी-मोटी गड्डियाँ बाँट रहे, हमें नहीं दे रहे

उन्होंने बताया कि यहीं से उन्हें ये कार्ड्स मिले थे। हालाँकि, कइयों का जमा नहीं किया जा रहा और कहा जा रहा है कि लंबी प्रक्रिया है इसकी।

लोकसभा चुनाव 2024 के परिणाम घोषित हो गए हैं और कॉन्ग्रेस पार्टी भले ही तिहाई अंक तक नहीं पहुँच पाई लेकिन उसने ऐसा माहौल बना रखा है जैसे उसने भाजपा को हरा दिया है। इस चुनाव में राहुल गाँधी ने संपत्ति के बँटवारे समेत कई बड़े-बड़े वादे किए। अब उत्तर प्रदेश के लखनऊ स्थित कॉन्ग्रेस मुख्यालय के बाहर मुस्लिम महिलाओं की लंबी कतार लग गई है। ये सभी 1 लाख रुपए की माँग कर रही हैं, साथ ही कह रही हैं कि उन्हें वित्तीय लाभ दिया जाए।

मुस्लिम महिलाएँ अपना-अपना पहचान-पत्र समेत अन्य दस्तावेज लेकर कॉन्ग्रेस के दफ्तर पहुँची हैं। इन महिलाओं ने अपने हाथों में कॉन्ग्रेस का ‘गारंटी कार्ड’ भी थाम रखा है, जिसमें एक लाख रुपए के वेतन के अलावा हर शिक्षित युवा को पक्की नौकरी देने का वादा किया गया है। ‘इस गारंटी कार्ड’ में कर्जमाफी का भी वादा है। मुस्लिम महिलाओं ने इन कार्ड्स को भर भी रखा है। उन्होंने बताया कि यहीं से उन्हें ये कार्ड्स मिले थे। हालाँकि, कइयों का जमा नहीं किया जा रहा और कहा जा रहा है कि लंबी प्रक्रिया है इसकी।

‘India Today’ की रिपोर्ट में आप देख सकते हैं कि तस्लीम नाम की एक महिला ने बताया कि अभी उन्हें कॉन्ग्रेस दफ्तर की तरफ से कुछ नहीं बताया गया है। कई फॉर्म्स जमा कर लिए गए हैं। जमा करने के बाद उन्हें स्लिप भी दी गई है। कई महिलाओं ने कहा कि उन्हें कार्ड नहीं मिले, कइयों को दोपहर बाद आने के लिए कहा गया। लाइन में लग कर मुस्लिम महिलाएँ इंतज़ार करती रहीं, 12 बजे के बाद भी उन्हें कुछ नहीं मिला। कॉन्ग्रेस दफ्तर के बाहर खिड़की के पास इंतज़ार करती रहीं।

एक मुस्लिम महिला ने कहा कि ये अपने एरिया में मोटी-मोटी गड्डियाँ बाँट रहे हैं और उन्हें कुछ नहीं दे रहे। एक महिला ने कहा कि वो छोटे बच्चे को घर में छोड़ कर आई हैं, वहीं एक मुस्लिम युवती ने कहा कि अगर पैसे नहीं मिलेंगे तो इनलोगों को स्पष्ट बोल देना चाहिए। महिलाएँ बार-बार दूसरों को गड्डी दिए जाने की बात कहती रहीं। कॉन्ग्रेस की प्रोपेगंडा मशीनरी ने इस चुनाव में किस तरह काम किया, ये इसका एक उदाहरण है। इसी तरह ‘मोदी सरकार आरक्षण खत्म कर देगी’ जैसे झूठ फैलाए गए।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -