Saturday, April 13, 2024
Homeराजनीति'अयोध्या में भगवान राम का जन्म हुआ था, न कि पैगंबर मुहम्मद का... मुस्लिम...

‘अयोध्या में भगवान राम का जन्म हुआ था, न कि पैगंबर मुहम्मद का… मुस्लिम समुदाय यह जानती है’

"इस देश में वैचारिक आतंकवाद चल रहा है। दलितवादी, मार्क्सवादी और कुछ तथाकथित समाजवादी हमारे पूर्वजों के खिलाफ नफरत फैलाते रहे हैं। इसे मिटाने की जरूरत है।"

राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले में देश की सर्वोच्च अदालत ने सुनवाई पूरी कर ली है और फैसला सुरक्षित रख लिया है। सुप्रीम कोर्ट जल्द ही इस पर अपना फैसला सुनाएगी। इस बीच योग गुरू बाबा रामदेव ने राम मंदिर निर्माण को लेकर बात करते हुए कहा कि पूरी दुनिया और मुस्लिम समुदाय जानती है कि अयोध्या में भगवान राम का जन्म हुआ था, न कि पैगंबर मुहम्मद का। यही सत्य है और अदालत का फैसला सत्य पर आधारित होता है।

एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए रामदेव ने कहा कि अयोध्या मामला जल्द ही सुलझने वाला है। विवादित स्थल पर राम मंदिर का निर्माण किया जाना चाहिए। बाबा रामदेव ने कहा कि इस देश में पैदा हुए सभी लोगों के पूर्वज राम हैं। राम मंदिर का निर्माण लोगों की आस्था से जुड़ा है। हर कोई यह जानता है कि अयोध्या में राम पैदा हुए थे। इसके बाद भी राजनीतिक स्वार्थवश इसे विवाद का विषय बना दिया गया।

इसके साथ ही रामदेव ने महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनावों से पहले भारतीय जनता पार्टी को अपना समर्थन देते हुए कहा कि राज्य और केंद्र में एक स्थिर सरकार की जरूरत है। उन्होंने कहा, “हमें यह सोचना होगा कि भारत अगले 10-15 वर्षों में संयुक्त राज्य अमेरिका, रूस और यूरोप के मुकाबले कहाँ खड़ा है। हमें स्थिर राजनीति और शासन के लिए एक मजबूत पार्टी को सशक्त बनाना है।”

रामदेव ने कहा कि लोगों को हरियाणा और महाराष्ट्र में एक अच्छी सरकार का चुनाव करना चाहिए। उन्होंने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की तारीफ करते हुए कहा कि वो ईमानदार व्यक्ति हैं, उनके पास कोई अर्जित संपत्ति नहीं है। उनका कहना है कि मनोहर लाल खट्टर एक अच्छे इंसान हैं और वह भ्रष्टाचार को बर्दाश्त नहीं करते हैं।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं गृह मंत्री अमित शाह की जोड़ी हर कार्य को मुमकिन करने में सक्षम है। इन दोनों ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 एक ही झटके में हटाकर यह साबित कर दिया है। इसके अलावा भी कई ऐसे फैसले लिए गए हैं, जिसके बारे में पिछली सरकारों ने सोचने तक भी हिम्मत नहीं की। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह द्वारा अनुच्छेद 370 के अधिकतम प्रावधानों के निष्क्रिय किए जाने की प्रशंसा करते हुए कहा कि सरदार पटेल के बाद पीएम मोदी और अमित शाह ‘एक राष्ट्र, एक संविधान और एक ध्वज’ के साहस के साथ सामने आए। रामदेव ने कहा, “इससे नरेंद्र मोदी-अमित शाह सरकार पर लोगों का भरोसा मजबूत हुआ है। सभी राजनीतिक और सामाजिक बाधाएँ केवल अमित शाह और पीएम मोदी दूर कर सकते हैं।”

आगे उन्होंने देश में नफरत फैलाने वालों को निशाने पर लेते हुए कहा, “इस देश में वैचारिक आतंकवाद चल रहा है। दलितवादी, मार्क्सवादी और कुछ तथाकथित समाजवादी हमारे पूर्वजों के खिलाफ नफरत फैलाते रहे हैं। इसे मिटाने की जरूरत है। कुछ लोग देश की एकता को तोड़ने के लिए नफरत फैलाने का काम कर रहे हैं। हमें इसके खिलाफ लड़ने के लिए और भी कानूनों की जरूरत है।” साथ ही उन्होंने हरियाणा और महाराष्ट्र के लोगों से विधानसभा चुनाव में मतदान करने की अपील की।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किसानों को MSP की कानूनी गारंटी देने का कॉन्ग्रेसी वादा हवा-हवाई! वायर के इंटरव्यू में खुली पार्टी की पोल: घोषणा पत्र में जगह मिली,...

कॉन्ग्रेस के पास एमएसपी की गारंटी को लेकर न कोई योजना है और न ही उसके पास कोई आँकड़ा है, जबकि राहुल गाँधी गारंटी देकर बैठे हैं।

जज की टिप्पणी ही नहीं, IMA की मंशा पर भी उठ रहे सवाल: पतंजलि पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, ईसाई बनाने वाले पादरियों के ‘इलाज’...

यूजर्स पूछ रहे हैं कि जैसी सख्ती पतंजलि पर दिखाई जा रही है, वैसी उन ईसाई पादरियों पर क्यों नहीं, जो दावा करते हैं कि तमाम बीमारी ठीक करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe