Thursday, July 18, 2024
Homeराजनीतिकेजरीवाल की सीट 'रिक्त' घोषित करने का NDMC में प्रस्ताव, LG ने दिल्ली मुख्यमंत्री...

केजरीवाल की सीट ‘रिक्त’ घोषित करने का NDMC में प्रस्ताव, LG ने दिल्ली मुख्यमंत्री कार्यालय में तैनात डिप्टी सेक्रेटरी को करप्शन में सस्पेंड किया

NDMC में केजरीवाल की सीट रिक्त करने का प्रस्ताव उनके लगातार चार बार बैठकों से गैरहाजिर रहने के बाद लाया गया है।

दिल्ली के उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना ने तीन अधिकारियों को निलंबित कर दिया है। इनमें से एक दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के कार्यालय में तैनात डिप्टी सेक्रेटरी रैंक के अधिकारी हैं। उनके अलावा दो SDM पर भी भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते कार्रवाई हुई है। दूसरी ओर नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (NDMC) के सदस्य कुलजीत चहल ने मुख्यमंत्री केजरीवाल की सीट को ‘रिक्त’ घोषित करने का प्रस्ताव पेश किया है।

NDMC में यह प्रस्ताव केजरीवाल के लगातार चार बार मीटिंग से गैरहाजिर रहने की वजह से लाया गया है। चहल ने बताया कि केजरीवाल दिसंबर 2021 में और इस साल (2022) जनवरी, फरवरी और मार्च में चार बैठकों के दौरान बिना पूर्व सूचना के अनुपस्थित रहे हैं। इसके चलते बुधवार (22 जून 2022) परिषद की बैठक के दौरान मुख्यमंत्री की सीट को रिक्त घोषित करने का प्रस्ताव पेश किया गया। 

प्रस्ताव के मुताबिक, “नई दिल्ली नगरपालिका परिषद अधिनियम के अनुसार, यदि लगातार तीन महीनों के दौरान, कोई सदस्य बिना पूर्व अनुमति के सभी बैठकों से अनुपस्थित रहता है, तो परिषद केंद्र सरकार को सिफारिश कर सकती है कि ऐसे सदस्य की सीट रिक्त घोषित की जाए।” इसमें कहा गया, “परिषद केंद्र सरकार को सिफारिश कर सकती है कि एनडीएमसी अधिनियम, 1994 में निहित प्रावधानों के अनुसार आगे आवश्यक कार्रवाई शुरू करने की सिफारिश के साथ परिषद के सदस्य के रूप में अरविंद केजरीवाल की सीट को रिक्त घोषित किया जा सकता है।” बता दें कि नई दिल्ली विधानसभा क्षेत्र से विधायक होने के कारण केजरीवाल NDMC के सदस्य हैं।

वहीं दिल्ली के उपराज्यपाल ने जिन अधिकारियों को निलंबित किया है, उसमें मुख्यमंत्री कार्यालय में उप सचिव के पद पर तैनात प्रकाश चंद्र ठाकुर, वसंत विहार के एसडीएम हर्षित जैन और विवेक विहार के एसडीएम देवेंद्र शर्मा का नाम शामिल है। इनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई का आदेश दिया गया है। उपराज्यपाल कार्यालय के अधिकारियों के अनुसार, मामला कथित रूप से प्राइवेट संस्थाओं को बेची गई सरकारी जमीन से जुड़े भ्रष्टाचार से संबंधित हैं।

इससे पहले उपराज्यपाल ने सोमवार (20 जून 2022) को कालकाजी एक्सटेंशन में ईडब्ल्यूएस फ्लैटों के निर्माण में खामियाँ पाए जाने पर दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) के दो सहायक इंजीनियरों को भी निलंबित कर दिया था। पिछले हफ्ते, उप राज्यपाल ने राष्ट्रीय राजधानी की कानून-व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा के लिए एक बैठक की थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काँवड़ यात्रा पर किसी भी हमले के लिए मोहम्मद जुबैर होगा जिम्मेदार: यशवीर महाराज ने ‘सेकुलर’-इस्लामी रुदालियों पर बोला हमला, ढाबों मालिकों की सूची...

स्वामी यशवीर महाराज ने 18 जुलाई 2024 को एक वीडियो बयान जारी कर इस्लामिक कट्टरपंथियों और तथाकथित 'सेकुलरों' को आड़े हाथों लिया है।

3 आतंकियों को घर में रखा, खाना-पानी दिया, Wi-Fi से पाकिस्तान करवाई बात: शौकत अली हुआ गिरफ्तार, हमलों के बाद OGW नेटवर्क पर डोडा...

शौकत अली पर आरोप है कि उसने सेना के जवानों पर हमला करने वाले आतंकियों को कुछ दिन अपने घर में रखा था और वाई-फाई भी दिया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -