Sunday, July 25, 2021
Homeराजनीतिअपने हिस्से का एक बूँद पानी भी पाकिस्तान नहीं जाने देंगे: शेखावत ने पूछा-...

अपने हिस्से का एक बूँद पानी भी पाकिस्तान नहीं जाने देंगे: शेखावत ने पूछा- आज़ादी के बाद किसने Pak को दिया 66% पानी?

केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि बाँध में क्षमता से अधिक पानी भरने के बाद इसे सीमावर्ती इलाके के 100 गाँवों में भेजा जाएगा। इस प्रोजेक्ट के लिए केंद्र सरकार 86% और पंजाब सरकार 14% वित्त उपलब्ध कराएगी।

केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने स्पष्ट किया है कि अंतरराष्ट्रीय समझौतों के तहत पानी के बँटवारे का काम होता आया है लेकिन भारत अब पाकिस्तान को अपने हिस्से का एक बूँद पानी भी देने के लिए तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि वो अंतरराष्ट्रीय समझौतों की सुचिता बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं, लेकिन अपने हिस्से व खेतों के हिस्से का एक बूँद पानी भी बह कर पाकिस्तान या किसी दूसरे देश में न जाए, वो इसके लिए संकल्पित हैं।

उन्होंने इस बात पर भी सवाल उठाया कि आज़ादी के समय भारत के हितों की अनदेखी कर भारत-पाकिस्तान के बीच नदियों का बँटवारा हुआ और सिंधु, झेलम और चेनाब जैसी तीन बड़ी नदियाँ पाकिस्तान को दे दी गईं और रावी, व्यास व सतलज जैसी छोटी नदियाँ भारत के हिस्से आईं। शेखावत ने कहा कि जहाँ 66% पानी पाकिस्तान को दे दिया गया, भारत के हिस्से मात्र 33% पानी ही आया।

शेखावत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पानी और खून एक साथ न बहने की बात कही थी, उसी को ध्यान में रखते हुए भारत अब अपने हिस्से का एक बूँद पानी भी किसी को नहीं देगा। वो चीन और पाकिस्तान पर पूछे सवाल का जवाब दे रहे थे। इससे पहले उन्होंने कहा था कि भारत अपने हिस्से के पानी का पूरा इस्तेमाल करेगा। इसे किसी और देश में जाने नहीं दिया जाएगा। रावी नदी पर बैराज प्रोजेक्ट के पूरा होने पर पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के किसानों को बराबर-बराबर पानी उपलब्ध कराया जाएगा।

बकौल गजेंद्र सिंह शेखावत, बाँध में क्षमता से अधिक पानी भरने के बाद इसे सीमावर्ती इलाके के 100 गाँवों में भेजा जाएगा। इस प्रोजेक्ट के लिए केंद्र सरकार 86% और पंजाब सरकार 14% वित्त उपलब्ध कराएगी। उन्होंने जानकारी दी थी कि रणजीत सागर बाँध से सिंचाई के लिए 726 करोड़ रुपए लागत आने का अनुमान है। केंद्र सरकार ने एक्सेलेरेटेड इरीगेशन बेनिफिट प्रोग्राम (एआईबीपी) के तहत 135 करोड़ रुपए बैराज निर्माण के लिए जारी किए हैं।

शेखावत ने इस दौरान अपने गृह राज्य की भी बात करते हुए कहा कि राजस्थान के अधिकारियों के साथ जल शक्ति मंत्रालय के सचिव ने बैठक की है। उन्होंने बताया कि मंत्रालय ने इस वर्ष 21 लाख घरों में पानी का कनेक्शन लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। उन्होंने लोगों को भरोसा दिलाया कि इन 21 लाख घरों की महिलाओं को पानी के लिए बाहर जाने के अभिशाप से हमेशा के लिए मुक्ति मिल जाएगी।

इससे पहले पीएम मोदी ने हरियाणा के लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा था कि हिन्दुस्तान और हरियाणा के किसानों के हक का पानी 70 साल तक पाकिस्तान तक जाता रहा। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार पानी को रोकेगी और लोगों के घर तक लाएगी। इस पानी पर हक हिन्दुस्तान का है, हरियाणा के किसान का है। उन्होंने जानकारी दी थी कि ये पानी हरियाणा के घर-घर और किसानों के खेत तक लाएँगे। जिसके लिए उन्होंने इस दिशा में काम भी शुरू कर दिया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राजस्थान में भगवा ध्वज फाड़ने वाले कॉन्ग्रेस MLA को लोगों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा: वायरल वीडियो का FactChek

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें दिख रहा है कि लाठी-डंडा लिए भीड़ एक शख्स को दौड़ा-दौड़ाकर पीट रही है।

दैनिक भास्कर के ₹2,200 करोड़ के फर्जी लेनदेन की जाँच कर रहा है IT विभाग: 700 करोड़ की आय पर टैक्स चोरी का खुलासा

मीडिया समूह की तलाशी में छह वर्षों में ₹700 करोड़ की आय पर अवैतनिक कर, शेयर बाजार के नियमों का उल्लंघन और लिस्टेड कंपनियों से लाभ की हेराफेरी के आयकर विभाग को सबूत मिले हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,067FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe