Saturday, July 20, 2024
Homeराजनीतिविपक्षी एकता में लगातार बढ़ रही दरार: अडानी पर भिड़े ममता और राहुल गाँधी,...

विपक्षी एकता में लगातार बढ़ रही दरार: अडानी पर भिड़े ममता और राहुल गाँधी, जातीय जनगणना पर नहीं बन पाई सहमति

एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार, बैठक में जातिगत जनगणता पर राजनीतिक प्रस्ताव भी पास किया जाना था, लेकिन इसको लेकर सभी पार्टियों में सहमति नहीं बन पाई। इस मुद्दे पर बिहार और उत्तर प्रदेश की प्रमुख पार्टियों- जनता दल (यूनाइटेड), समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय जनता दल साथ आए, लेकिन ममता बनर्जी व कुछ अन्य राजनीतिक दलों ने इसका विरोध किया।

विपक्षी एकता में अभी से दरार पड़ती दिख रही है। मुंबई में 1 सितंबर 2023 को खत्म हुई I.N.D.A. की बैठक के दौरान उद्योगपति गौतम अडानी को लेकर बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और कॉन्ग्रेस नेता राहुल गाँधी के बीच तकरार हो गई। बताया जा रहा है कि इसकी वजह से ममता गठबंधन की ओर से आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में शामिल नहीं हुईं।

राहुल गाँधी-ममता बनर्जी में ठनी?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, राहुल गाँधी ने बैठक के दौरान गौतम अडानी का मुद्दा उठाया। उन्होंने अडानी का नाम लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोलने की कोशिश की, लेकिन इससे ममता बनर्जी खफा हो गईं। उन्होंने कहा कि राहुल गाँधी ने अडानी का मुद्दा उठाने से पहले किसी भी साथी दल को भरोसे में नहीं लिया।

ममता बनर्जी ने कहा कि साथी दलों से चर्चा किए बिना और उनकी सहमति के बगैर ही कॉन्ग्रेस नेता राहुल गाँधी ने गौतम अडानी का मुद्दा उठा दिया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल में कॉन्ग्रेस और वामदलों के गठबंधन के मुद्दे पर भी अपना मतभेद जारी किया।

जातिगत जनगणना पर नहीं बनी सहमति?

एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार, बैठक में जातिगत जनगणता पर राजनीतिक प्रस्ताव भी पास किया जाना था, लेकिन इसको लेकर सभी पार्टियों में सहमति नहीं बन पाई। इस मुद्दे पर बिहार और उत्तर प्रदेश की प्रमुख पार्टियों- जनता दल (यूनाइटेड), समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय जनता दल साथ आए, लेकिन ममता बनर्जी व कुछ अन्य राजनीतिक दलों ने इसका विरोध किया।

31 अगस्त को कपिल सिब्बल को लेकर हो गया था विवाद

बता दें कि 31 अगस्त 2023 को मुंबई में शुरू हुई इस बैठक में सपा के राज्यसभा सांसद कपिल सिब्बल अचानक पहुँच गए थे। इससे कॉन्ग्रेस नाराज हो गई थी। कॉन्ग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने कपिल सिब्बल की मौजूदगी का विरोध किया था।

एकवोकेट कपिल सिब्बल के मंच पर पहुँचने से केसी वेणुगोपाल ने उद्धव ठाकरे से शिकायत की थी, जिसके बाद राहुल गाँधी ने हस्तक्षेप किया। तब जाकर कपिल सिब्बल को मंच पर फोटोशूट के समय जगह मिल पाई थी, वो भी एकदम किनारे

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

टीम से बाहर होने पर मोहम्मद शमी का वायरल वीडियो, कहा – किसी के बाप से कुछ नहीं लेता हूँ, बल्कि देता हूँ

"मुझे मौका दोगे तभी तो मैं अपनी स्किल दिखाऊँगा, जब आप हाथ में गेंद दोगे। मैं सवाल नहीं पूछता। जिसे मेरी ज़रूरत है, वो मुझे मौका देगा।"

थूक लगी रोटी सोनू सूद को कबूल है, कबूल है, कबूल है! खुद की तुलना भगवान राम से, खाने में थूकने वाले उनके लिए...

“हमारे श्री राम जी ने शबरी के जूठे बेर खाए थे तो मैं क्यों नहीं खा सकता। बस मानवता बरकरार रहनी चाहिए। जय श्री राम।” - सोनू सूद

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -