Thursday, July 25, 2024
Homeराजनीतिमहिलाएँ लकड़ियाँ काटती थीं, अब उनके पास है उज्जवला गैस: मोदी सरकार की तारीफ...

महिलाएँ लकड़ियाँ काटती थीं, अब उनके पास है उज्जवला गैस: मोदी सरकार की तारीफ में PDP सांसद ने कहा- जो हुआ वो कहना चाहिए

"मैंने देखा है कि जो उज्जवला स्कीम है या बाकी स्कीम है। मैं जब कमेटी का चेयरमैन था तो हमें साल में 5 लाख रुपए मिलते थे। आज वहाँ बैठे लोग कहते हैं कि उन्हें 5 करोड़ रुपया मिला। इसी तरह गैस का। कल तक हमारी लेडीज जंगल से लकड़ी लाती थीं। आज उनके घरों में भी गैस है। जो काम हुआ वो कहना चाहिए।”

मोदी सरकार की नीतियों के मुरीद केवल मोदी समर्थक नहीं है- इस बात को आज पॉपुलर डेमोक्रेटिक फ्रंट (PDP/ पीडीरी) के नेता मीर मोहम्मद फयाज ने संसद में साबित कर दिया। फयाज ने पिछले 6 साल में मोदी सरकार द्वारा लागू की गई योजनाओं की तारीफ करते हुए बताया कि इसका फायदा जम्मू कश्मीर को और वहाँ की महिलाओं को कितना-कितना हुआ।

पीडीपी सांसद मीर मोहम्मद फयाज ने उज्जवला योजना की तारीफ करते हुए कहा, “मैंने देखा है कि जो उज्जवला स्कीम है या बाकी स्कीम है। मैं जब कमेटी का चेयरमैन था तो हमें साल में 5 लाख रुपए मिलते थे। आज वहाँ बैठे लोग कहते हैं कि उन्हें 5 करोड़ रुपया मिला। जो हुआ वो कहना चाहिए। इसी तरह गैस का। कल तक हमारी लेडीज जंगल से लकड़ी लाती थीं। आज उनके घरों में भी गैस है। जो काम हुआ वो कहना चाहिए।”

फयाज ने इस दौरान कई भाजपा नेताओं के नाम लेकर उनका आभार व्यक्त किया। वह बोले, “यहाँ पर पीयूष गोयल हैं। अरुण जेटली थे। जेपी नड्डा थे। प्रधानमंत्री हैं। सभी ने हमारा साथ दिया। जब भी हम अपने स्टेट के मसले लेकर इनके पास गए इन लोगों ने कभी हमें मना नहीं किया। अगर कभी प्रॉब्लम हुई तो वो जो हमारे स्टेट में हमारे लोग बैठे हैं, जो ब्यूरोक्रेट्स है उनके कारण हुई। यहाँ से हमें कभी किसी चीज से मना नहीं किया गया। उसके लिए मैं इन सभी का शुक्रियादा करता हूँ।”

मीर मोहम्मद फैयाज ने विदाई के दौरान राज्यसभा में काम करने को बहुत बड़ा तजुर्बा बताया। उन्होंने कहा कि उन्हें यहाँ से बहुत कुछ सीखने को मिला है। उन्होंने अपने मुल्क के लिए काम किया। उसका झंडा बुलंद किया। मगर उन्हें दुख तब होता है जब उन्हें देशद्रोही कहा जाता है।

वह बताते हैं कि जब जब जम्मू कश्मीर के बारे में फैसला लिया गया उस समय के प्रधानमंत्री ने जो कहा हमने अमल किया। अभी आज हमारे प्रधानमंत्री ने चुनाव की बात कही तो वहाँ लोग निकले। जो हुआ वो कहना चाहिए।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वकील चलाता था वेश्यालय, पुलिस ने की कार्रवाई तो पहुँचा हाई कोर्ट: जज ने कहा- इसके कागज चेक करो, लगाया ₹10000 का जुर्माना

मद्रास हाई कोर्ट में एक वकील ने अपने वेश्यालय पर कार्रवाई के खिलाफ याचिका दायर की। कोर्ट ने याचिका खारिज करके ₹10,000 का जुर्माना लगा दिया।

माजिद फ्रीमैन पर आतंक का आरोप: ‘कश्मीर टाइप हिंदू कुत्तों का सफाया’ वाले पोस्ट और लेस्टर में भड़की हिंसा, इस्लामी आतंकी संगठन हमास का...

ब्रिटेन के लेस्टर में हिन्दुओं के विरुद्ध हिंसा भड़काने वाले माजिद फ्रीमैन पर सुरक्षा एजेंसियों ने आतंक को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -