Tuesday, July 23, 2024
Homeराजनीति₹41000 करोड़ के 2000+ रेलवे प्रोजेक्ट… बोले PM मोदी- 10 साल में नया भारत...

₹41000 करोड़ के 2000+ रेलवे प्रोजेक्ट… बोले PM मोदी- 10 साल में नया भारत बनाया, विकास कार्यों की स्केल-स्पीड से सब हैरान

पीएम ने जिन 554 स्टेशनों का शिलान्यास किया है, उनकी विकास लागत ₹19,000 करोड़ होगी। इसके अलावा उन्होंने जिन 1500 रोड ओवेरब्रिज और अंडरपास का लोकार्पण किया है, उन्हें बनाने में ₹21,520 करोड़ की लागत आई है।

पीएम नरेन्द्र मोदी ने आज (26 फरवरी, 2024) ₹41,000 करोड़ की लागत से बनाए जाने वाले 2000 रेलवे प्रोजेक्ट का लोकार्पण और शिलान्यास किया। उन्होंने देश के 554 स्टेशनों के पुनर्विकास की योजना की भी शुरुआत की। प्रधानमंत्री मोदी ने रेलवे द्वारा बनाए गए 1500 से अधिक ब्रिज और अंडरपास का लोकार्पण भी देश की जनता को किया और साथ ही देश को संबोधित किया।

पीएम मोदी ने इसी के साथ ही उत्तर प्रदेश के लखनऊ में अमृत भारत योजना के तहत विकसित किए गए गोमतीनगर रेलवे स्टेशन का भी लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि यह स्टेशन सही में काफी सुंदर दिखता है। पीएम ने जिन 554 स्टेशनों के कायाकल्प के लिए शिलान्यास किया है, उसकी लागत ₹19,000 करोड़ होगी।

इन्हें अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत विकसित किया जाएगा। इसके अलावा उन्होंने जिन 1500 रोड ओवेरब्रिज और अंडरपास का लोकार्पण किया है, उन्हें बनाने में ₹21520 करोड़ की लागत आई है। जिन स्टेशनों का कायाकल्प किया जाने वाला है, उनमें श्री वैष्णो देवी धाम कटरा भी शामिल है।

पीएम द्वारा शिलान्यास किए जाने वाले स्टेशनों में से बिहार में 33, छत्तीसगढ़ में 21, गोवा में 2, झारखंड में 27, हरियाणा में 15, गुजरात में 46, कर्नाटक में 31 और केरल में 10 रेलवे स्टेशन का पुनर्विकास किया जाएगा। महाराष्ट्र में 56 स्टेशन का पुनर्विकास होगा। यहाँ ट्रेन की आवाजाही से रोड पर चलने वालों को कोई समस्या ना हो, इसके लिए यह 1500 ओवेरब्रिज और अंडरपास बनाए गए हैं। यह बन कर तैयार भी हो गए हैं।

पीएम ने इस शिलान्यास और लोकार्पण के मौके पर कहा, “आज का ये कार्यक्रम, नए भारत की नई कार्य संस्कृति का प्रतीक है। आज भारत जो करता है, अभूतपूर्व स्पीड से करता है। आज भारत जो करता है, अभूतपूर्व स्केल से करता है। आज के भारत ने छोटे-छोटे सपने देखना छोड़ दिया है। हम बड़े सपने देखते हैं और उन्हें पूरा करने के लिए दिन रात एक कर देते हैं।”

प्रधानमंत्री ने लगातार विकास परियोजनाओं के लोकार्पण को लेकर कहा, “कुछ दिन पहले मैंने जम्मू से एक साथ IIT-IIM जैसे दर्जनों बड़े शिक्षा संस्थानों का लोकार्पण किया। कल ही मैंने राजकोट से एक साथ 5 AIIMS और अनेक मेडिकल संस्थानों का लोकार्पण किया। और अब आज का ये कार्यक्रम है, आज 27 राज्यों के, करीब 300 से अधिक जिलों में, 550 से ज्यादा रेलवे स्टेशनों के कायाकल्प का शिलान्यास हुआ है। आज यूपी के जिस गोमतीनगर रेलवे स्टेशन का लोकार्पण हुआ है, वो वाकई कमाल का दिखता है।”

प्रधानमंत्री ने स्टेशनों को विशेष थीम के आधार पर डिजाइन किए जाने को लेकर कहा, “ओडिशा के बालेश्वर रेलवे स्टेशन को भगवान जगन्नाथ मंदिर की थीम पर डिजाइन किया गया है। सिक्किम के रंगपो रेलवे स्टेशन पर आप लोगों को स्थानीय वास्तुकला का प्रभाव दिखेगा। राजस्थान का सांगानेर रेलवे स्टेशन, 16वीं शताब्दी की हैंड-ब्लॉक प्रिंटिंग को दर्शाता है। तमिलनाडु के कुंभकोणम स्टेशन का डिजाइन चोल काल की वास्तुकला पर आधारित है।”

पीएम मोदी ने कहा कि देश का रेलवे क्षेत्र आज बड़े बदलाव से गुजर रहा है जबकि पहले इसके लिए फंड्स का रोना रोया जाता था। उन्होंने रेलवे बजट के विषय में बताया। उन्होंने कहा कि पहले जहाँ ₹45,000 करोड़ रेलवे को मिलते थे तो वहीं अब ₹2 लाख करोड़ से अधिक इसका बजट है। पीएम मोदी ने कहा कि उनकी सरकार में भ्रष्टाचार नहीं है इसलिए सारे काम तेजी से हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि इंफ्रास्ट्रक्चर में लगाए गए पैसे से देश को और भी लाभ मिलेगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -