Friday, September 17, 2021
Homeराजनीति20 जांबाज बलिदान हुए, लेकिन जिन्होंने आँख उठाकर देखा उन्हें सबक सिखाकर गए: PM...

20 जांबाज बलिदान हुए, लेकिन जिन्होंने आँख उठाकर देखा उन्हें सबक सिखाकर गए: PM मोदी

सर्वदलीय बैठक के दौरान पीएम मोदी ने बताया कि सेना को हर जरूरी कार्रवाई करने के लिए खुली छूट दी गई है। हाल में तैयार किए गए इन्फ्रास्ट्रक्चर से एलएसी पर पेट्रोलिंग क्षमता बढ़ गई है। पहले जिन इलाकों की निगरानी नहीं होती थी। वहाँ भी अब हमारे जवान निगरानी और जवाब देने में सक्षम हैं।

चीन के साथ हालिया तनाव के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज (जून 19, 2020) सर्वदलीय बैठक की। इस दौरान उन्होंने सबको आश्वस्त किया कि हमारी एक इंच जमीन भी कोई नहीं ले सकता। हमारे किसी पोस्‍ट पर दूसरे देश का कब्‍जा नहीं है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “चीन ने ना तो हमारी सीमा में घुसपैठ की है, ना ही किसी पोस्ट को कब्जे में लिया है। हमारे 20 जवान वीरगति को प्राप्त हुए, लेकिन जिन्होंने भारत माता को आँख दिखाई उन्हें सबक सिखा दिया।”

पीएम ने कहा कि पहले चीन के सैनिकों को कोई नहीं रोकता था, लेकिन अब रोकने पर तनाव बढ़ा है। वास्‍तविक नियंत्रण रेखा पर पेट्रोलिंग बढ़ा दी गई है। साथ ही बॉर्डर पर निर्माण कार्य तेजी से चलेगा। पीएम ने बताया कि हमने अपनी सेना को हर जरूरी कार्रवाई करने के लिए खुली छूट दे दी है।

पीएम ने बताया, ”हाल में तैयार किए गए इन्फ्रास्ट्रक्चर से एलएसी पर पेट्रोलिंग क्षमता बढ़ गई है। पहले जिन इलाकों की निगरानी नहीं होती थी। वहाँ भी अब हमारे जवान निगरानी और जवाब देने में सक्षम हैं। बेहतर इन्फ्रास्ट्रक्चर, सामानों और जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति से दुर्गम इलाके पहले के मुकाबले आसान हो गए हैं।”

पीएम ने कहा, “मैं आप सभी को और सभी राजनीतिक दलों को ये विश्वास दिलाता हूँ कि हमारी सेना किसी भी जवाबी कार्रवाई के लिए सक्षम है। आप सभी ने जो विचार रखे हैं वह बहुत महत्वपूर्ण हैं। हम सभी देश की सीमाओं की रक्षा में दिन रात लगे हैं। हमारे वीर जवानों के साथ चट्टान की तरह खड़े हैं। उनकी वीरता उनके कौशल उनकी सूझबूझ पर देश अटूट विश्वास रखता है।”

गौरतलब है कि आज भारत चीन-सीमा विवाद पर इस बैठक में 20 दल के नेता शामिल हुए। सभी ने प्रधानमंत्री के समक्ष अपना अपना मत रखा और एकजुटता दिखाई। शिवसेना प्रमुख ने इस बैठक में तो यहाँ तक कहा कि हमारी सरकार में इतनी क्षमता है कि आँखें निकालकर हाथ में दे दे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘फर्जी प्रेम विवाह, 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का यौन शोषण व उत्पीड़न’: केरल के चर्च ने कहा – ‘योजना बना कर हो रहा...

केरल के थमारसेरी सूबा के कैटेसिस विभाग ने आरोप लगाया है कि 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का फर्जी प्रेम विवाह के नाम पर यौन शोषण किया गया।

डॉ जुमाना ने किया 9 बच्चियों का खतना, सभी 7 साल की: चीखती-रोती बच्चियों का हाथ पकड़ लेते थे डॉ फखरुद्दीन व बीवी फरीदा

अमेरिका में मुस्लिम डॉक्टर ने 9 नाबालिग बच्चियों का खतना किया। सभी की उम्र 7 साल थी। 30 से अधिक देशों में है गैरकानूनी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
122,891FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe