Thursday, July 18, 2024
Homeराजनीति46 शहरों में रोजगार मेला, 51000 को PM मोदी ने बाँटे नियुक्ति पत्र: 9...

46 शहरों में रोजगार मेला, 51000 को PM मोदी ने बाँटे नियुक्ति पत्र: 9 मेलों में अब तक 6 लाख को दी जा चुकी है नौकरी, बोले प्रधानमंत्री – अगले 25 वर्ष अहम

"आज भारत की बेटियाँ स्पेस से स्पोर्ट्स तक अनेक नए कीर्तिमान बना रही हैं। मुझे नारी शक्ति की इस सफलता पर बहुत-बहुत गौरव होता है।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश भर के 46 स्थानों पर आयोजित रोजगार मेला में 51,000 सफल अभ्यर्थियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से नियुक्ति पत्र बाँटे हैं। प्रधानमंत्री ने नियुक्ति पाने वाले अभ्यर्थी अब केंद्र सरकार के अलग-अलग विभागों में नियुक्त किए जाएँगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दौरान अभ्यर्थियों से कहा कि उनके जीवन के नए अध्याय का श्रीगणेश हो रहा है। उन्होंने इस दौरान हाल ही में संसद के दोनों सदन से पारित हुए ‘नारी शक्ति वंदन अधिनियम’ के विषय में भी बात की और महिला सशक्तिकरण का उल्लेख किया। प्रधानमंत्री ने कहा, “आज भारत की बेटियाँ स्पेस से स्पोर्ट्स तक अनेक नए कीर्तिमान बना रही हैं। मुझे नारी शक्ति की इस सफलता पर बहुत-बहुत गौरव होता है। सरकार की नीति भी यही है कि नारी शक्ति के लिए नए-नए द्वार खोले जाएँ।”

प्रधानमंत्री ने जहाँ इस कार्यक्रम को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित किया तो वहीं सरकार के कई मंत्री इन रोजगार मेला आयोजन स्थलों पर स्वयं मौजूद रहे और उन्होंने भी नियुक्ति पत्र बाँटे। केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी लखनऊ और पीयूष गोयल नवी मुंबई में मौजूद रहे। देश के कुल 46 शहरों में इस मेला का आयोजन किया गया था।

गौरतलब है कि केंद्र सरकार लगातार रोजगार मेलों का आयोजन करती रहती है जिनमें सरकारी परीक्षाओं में सफलता पाने वाले अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र वितरित किए जाते हैं। केंद्र सरकार द्वारा रोजगार देने को लेकर यह नया प्रयास है। अब तक देश में 9 बार रोजगार मेलों का आयोजन हो चुका है जिसमें लगभग 6.01 लाख लोगों को रोजगार दिया जा चुका है। यह उपलब्धि केंद्र सरकार ने एक वर्ष के भीतर हासिल की है। केंद्र सरकार हर बार कई शहरों में एक साथ रोजगार मेलों का आयोजन करती है।

पहला रोजगार मेला अक्टूबर 2022 में आयोजित किया गया था, जब प्रधानमंत्री ने 75,000 से अभी अधिक नियुक्ति पत्र वितरित किए थे। इस दौरान सितम्बर 2023 तक 10 लाख पदों को भरे जाने की बात भी की गई थी, जिसका 60% लक्ष्य अब तक पूरा हो चुका है। केंद्र सरकार जल्दी से जल्दी अब खाली पदों को भरना चाहती है ताकि कार्यक्षमता पर प्रभाव ना पड़े।

प्रधानमंत्री ने नियुक्ति पाने वालों से यह भी अपील की कि वह नित नई तकनीक सीखते रहे और इसके लिए सरकारी पोर्टल IGOT- कर्मयोगी का उपयोग करें। प्रधानमंत्री मोदी ने यह भी कहा कि जैसे देश के लिए अगले 25 वर्ष विकसित होने के लिए अहम हैं इसी तरह आपके लिए 25 वर्ष करियर के लिए भी अहम हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -