Sunday, July 21, 2024
Homeराजनीतिप्रधानमंत्री आवास में स्वदेशी प्रजाति की गायों को दुलारते PM मोदी, अपने हाथ से...

प्रधानमंत्री आवास में स्वदेशी प्रजाति की गायों को दुलारते PM मोदी, अपने हाथ से खिलाया चारा: सोशल मीडिया पर वायरल हुई तस्वीरें

प्रधानमंत्री के साथ वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और तेलंगाना की राज्यपाल तमिलसाई सौंदराजन भी मौजूद रहीं। यहाँ प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन की शुरुआत तमिल से की।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अपने आधिकारिक आवास पर मकर संक्रान्ति पर गायों को खाना खिलाने की तस्वीरें सामने आई हैं। प्रधानमंत्री इन तस्वीरों में गायों को दुलारते हुए दिख रहे हैं। प्रधानमंत्री ने आज (14 जनवरी, 2024) को पोंगल भी मनाया है।

प्रधानमंत्री की इन तस्वीरों में वह प्रधानमंत्री आवास पर पली गायों को चारा खिलाते हुए दिख रहे हैं। एक तस्वीर में वह गायों से स्नेह जताते हैं। उनके आसपास कई सारी गाय मौजूद हैं। जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री आवास पर मौजूद यह सभी गाय भारतीय प्रजातियों की हैं।

प्रधानमंत्री के आवास पर मौजूद अधिकाँश गाय पुन्गनूर प्रजाति कि बताई जा रही हैं। यह गाय आकार में काफी छोटी होती हैं और देखने में काफी सुन्दर लगती हैं। इन गायों को संरक्षित करने के लिए विशेष प्रयास भी किए जा रहे हैं। पुन्गनूर आंध्र प्रदेश की गायों की एक प्रजाति है।

प्रधानमंत्री इसके अलावा केन्द्रीय मंत्री एल मुरुगन के घर पर पहुँचे। यहाँ उन्होंने तमिल त्यौहार पोंगल भी मनाया और यहाँ मौजूद लोगों को संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने इस दौरान यहाँ बनाए जा रहे प्रसाद में भी हिस्सा लिया और साथ यहाँ आयोजित किए गए सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भी शामिल हुए।

प्रधानमंत्री के साथ वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और तेलंगाना की राज्यपाल तमिलसाई सौंदराजन भी मौजूद रहीं। यहाँ प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन की शुरुआत तमिल से की। उन्होंने इस दौरान कहा कि पोंगल का त्यौहार एक भारत- श्रेष्ठ भारत को दर्शाता है। उन्होंने यहाँ लोगों की अच्छे जीवन की कामना की।

प्रधानमंत्री ने कहा, “कल ही देश ने लोहड़ी का पर्व धूमधाम से मनाया, कुछ लोग आज उत्तरायण मना रहे हैं, कुछ कल मनाएँगे। माघ बीहू आने वाला है। मैं इन सभी पर्वों को बधाई देता हूँ।” प्रधानमंत्री ने कहा कि इस पूरे पर्व के केंद्र में किसान हैं। उन्होंने कहा कि भारत का हर त्यौहार किसी ना किसी रूप से गाँव, किसानी और फसल से जुड़ा होता है।

प्रधानमंत्री ने इस दौरान एक गीत प्रस्तुत करने वाली एक लड़की को खुश हो कर अपनी शॉल भेंट की। लड़की ने प्रधानमंत्री मोदी के पैर छुए। प्रधानमंत्री इसके अलावा अन्य कलाकारों से भी मिले। गौरतलब है कि पोंगल का त्यौहार तमिल लोगों द्वारा चार दिनों तक मनाया जाता है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कमाल का है PM मोदी का एनर्जी लेवल, अनुच्छेद-270 हटाने के लिए चाहिए था दम’: बोले ‘दृष्टि’ वाले विकास दिव्यकीर्ति – आर्य समाज और...

विकास दिव्यकीर्ति ने बताया कि कॉलेज के दिनों में कई मुस्लिम दोस्त उनसे झगड़ा करते थे, क्योंकि उन्हें RSS के पक्ष से बहस करने वाला माना जाता था।

हर दिन 14 घंटे करो काम, कॉन्ग्रेस सरकार ला रही बिल: कर्नाटक में भड़का कर्मचारियों का संघ, पहले थोपा था 75% आरक्षण

आँकड़े कहते हैं कि पहले से ही 45% IT कर्मचारी मानसिक समस्याओं से जूझ रहे हैं, 55% शारीरिक रूप से दुष्प्रभाव का सामना कर रहे हैं। नए फैसले से मौत का ख़तरा बढ़ेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -