Tuesday, October 19, 2021
Homeबड़ी ख़बरप्रियंका के रोड शो ने ठप किया लखनऊ, जाम में तड़पते रहे मरीज

प्रियंका के रोड शो ने ठप किया लखनऊ, जाम में तड़पते रहे मरीज

मरीज हॉस्पिटल के सामने थे, लेकिन उन्हें अंदर जाने के लिए जगह नहीं मिल पाई। मरीजों को ले जा रही एंबुलेंस को भी भारी भीड़ के कारण रास्ता नहीं मिला।

जमानत पर चल रहे रॉबर्ट वाड्रा की पत्नी और कॉन्ग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी के रोड शो ने सोमवार को लखनऊ की रफ्तार रोककर रख दी। रैली में उमड़े अपार जनसैलाब (एक बार ज़रूर देखें) के कारण पूरा शहर दिनभर भीषण जाम से जूझता रहा। ट्रैफिक का हाल इतना ज्यादा खराब था कि कई लोगों की फ्लाइट छूट गई तो काफी लोग अपनी ट्रेन नहीं पकड़ पाए। वहीं, कई एंबुलेंस भी जाम में फंसी रहीं, जिसके चलते मरीज तड़पते रहे।

ट्रैफिक व्यवस्था के आए बुरे दिन

कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने सोमवार को अपनी बहन प्रियंका गाँधी वाड्रा के लिए रोड शो का आयोजन किया था। ‘मिशन यूपी’ के नाम से यह काफिला अमौसी एयरपोर्ट से कॉन्ग्रेस मुख्यालय तक गया, जिसमें कॉन्ग्रेस के कई बड़े दिग्गज भी शामिल हुए। रिपोर्ट्स के अनुसार रोड शो शहर के जिस-जिस इलाके से गुजरा, वहाँ का ट्रैफिक थम गया। लखनऊ के चारबाग, हजरतगंज, कानपुर रोड, लोहिया पथ और लोकबंधु, सिविल और लोकबाई हॉस्पिटल घंटों जाम से घिरे रहे। इस दौरान ट्रैफिक पुलिस का इमरजेंसी डायवर्जन प्लान पूरी तरह फेल रहा।

मरीजों नहीं पहुँच पाए अस्पताल

इंदिरा गाँधी की तरह दिखने वाली प्रियंका गाँधी को देखने के लिए रैली में भीषण भीड़ उमड़ पड़ी, जाम के कारण हॉस्पिटल के सामने गाड़ियाँ भी फंस गई। मरीज हॉस्पिटल के सामने थे, लेकिन उन्हें अंदर जाने के लिए जगह नहीं मिल पाई। मरीजों को ले जा रही एंबुलेंस को भी भारी भीड़ के कारण रास्ता नहीं मिला।

कॉन्ग्रेस की इस रैली से पूरे लखनऊ में जाम के कारण यात्रियों की फ्लाइट तक छूट गई। समय पर बस न मिलने के कारण कई लोग अपने गंतव्य तक नहीं जा सके। रोड शो खत्म होने के बाद कॉन्ग्रेस समर्थक अपने घर लौटने लगे, जिससे हालात काफी ज्यादा बिगड़ गए। इसका अंदाजा ट्रैफिक पुलिस नहीं लगा पाई और शहर के मुख्य मार्गों में भयंकर जाम लगा रहा। लालबत्ती, बंदरिया बाग, गोल्फ क्लब में डायवर्जन न होने के कारण लोहिया पथ पर भी करीब दो घंटे तक जाम लगा रहा।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बाप कम्युनिस्ट हो, सत्ता में वामपंथी हों तो प्यार न करें, प्यार हो जाए तो माँ न बने: अपने ही बच्चे के लिए भटक...

अजीत और अनुपमा को एक-दूसरे से प्यार हुआ और एक बच्चे का जन्म हुआ। कम्युनिस्ट पिता को ये रिश्ता और बच्चा दोनों नागवार थे। बच्चा इस जोड़े से छीन लिया गया...

नाम में खान इसलिए शाहरुख का बेटा निशाना: रिया चक्रवर्ती के लिए ‘महिला कार्ड’ खेलने वाली मीडिया का अब ‘मुस्लिम’ प्रलाप

'मिड डे' ने लिखा है कि शाहरुख़ खान ने भाजपा नेताओं के साथ सेल्फी नहीं डाली और जन्मदिन की शुभकामनाएँ नहीं दी, इसीलिए उनके बेटे के खिलाफ कार्रवाई हुई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,884FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe