Wednesday, July 28, 2021
Homeबड़ी ख़बरराहुल की चुनावी चाल: गरीब परिवार को ₹72000 सलाना, 5 करोड़ फैमिली और 25...

राहुल की चुनावी चाल: गरीब परिवार को ₹72000 सलाना, 5 करोड़ फैमिली और 25 करोड़ आबादी को डायरेक्ट फायदा

"दुनिया के बेहतरीन इकॉनमिस्ट से इस पर चर्चा की गई है। चिदंबरम के साथ हमारी टीम इस पर काम कर रही है। मिनिमम इनकम गारंटी स्कीम आर्थिक तौर पर पूरी तरह से संभव है।"

कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने मिनिमम इनकम गारंटी स्कीम पर आज ‘धमाका’ किया है। धमाका शब्द का प्रयोग उन्होंने खुद किया। उन्होंने ऐलान किया कि जिन परिवारों की आय 12,000 रुपए से कम है, उन्हें वो हर महीने 12,000 रुपए तक की आमदनी पर ले जाएँगे। शर्त यही है कि अगर उनकी पार्टी लोकसभा चुनाव में जीतेगी तभी यह वादा पूरा करेगी।

कॉन्ग्रेस कोर कमिटी की बैठक खत्म करने के बाद राहुल गाँधी ने कहा, “पिछले 5 साल में हिंदुस्तान ने काफी मुश्किलें सहीं। हम अब गरीबों को न्याय देने जा रहे हैं। कॉन्ग्रेस पार्टी देश के 20% सबसे गरीब परिवारों को हर साल 72,000 रुपए देने जा रही है। शॉक मत होना, धमाका होने जा रहा है। हर साल में 20% गरीब परिवारों को 72,000 रुपए उनके बैंक अकाउंट में सीधा डाल दिया जाएगा।”

राहुल गाँधी ने पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर वो देश के सबसे अमीर लोगों को पैसा दे सकते हैं तो हम सबसे गरीब लोगों को पैसा दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि वे 25 करोड़ लोगों को गरीबी से निकाल देंगे, गरीबी को हिन्दुस्तान से मिटा देंगे।

राहुल गाँधी ने न्याय की बात को आगे बढ़ाते हुए कहा, “हम दो हिन्दुस्तान नहीं बनने देंगे। गरीबों या अमीरों वाला दो हिन्दुस्तान नहीं बनने दूँगा। मिनिमम इनकम गारंटी स्कीम से 5 करोड़ फैमिली और 25 करोड़ आबादी को डायरेक्ट फायदा मिलेगा।”

प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद किसी पत्रकार ने जब राहुल गाँधी से राफेल को लेकर बात की तो उन्होंने साफ मना कर दिया और कहा कि वे आज राफेल पर बात नहीं करेंगे, सिर्फ न्याय की बात करेंगे। जब किसी पत्रकार ने सब्सिडी और सरकार पर पड़ने वाले वित्तीय बोझ को लेकर सवाल पूछा तो उनका जवाब था, “दुनिया के बेहतरीन इकॉनमिस्ट से इस पर चर्चा की गई है। चिदंबरम के साथ हमारी जो टीम इस पर काम कर रही है वह आपसे पूरी डिटेल साझा करेगी। मिनिमम इनकम गारंटी स्कीम आर्थिक तौर पर पूरी तरह से संभव है।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बद्रीनाथ नहीं, वो बदरुद्दीन शाह हैं…मुस्लिमों का तीर्थ स्थल’: देवबंदी मौलाना पर उत्तराखंड में FIR, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

मौलाना के खिलाफ़ आईपीसी की धारा 153ए, 505, और आईटी एक्ट की धारा 66F के तहत केस किया गया है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि उसके बयान से हिंदू भावनाएँ आहत हुईं।

बसवराज बोम्मई होंगे कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री: पिता भी थे CM, राजीव गाँधी के जमाने में गवर्नर ने छीन ली थी कुर्सी

बसवराज बोम्मई के पिता एस आर बोम्मई भी राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं, जबकि बसवराज ने भाजपा 2008 में ज्वाइन की थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,571FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe