Sunday, July 14, 2024
Homeराजनीतिराहुल गाँधी जहाँ समुद्र में कूदे, वहाँ के होटल का 6 लाख रुपए का...

राहुल गाँधी जहाँ समुद्र में कूदे, वहाँ के होटल का 6 लाख रुपए का बिल अभी तक नहीं चुकाया: CPI(M) का आरोप

“राहुल गाँधी समेत दूसरे प्रमुख लोगों के रुकने के बाद सभी बकाया राशि के भुगतान का निपटान किया जा चुका है। क्विलोन बीच होटल का इस संबंध में कोई विवाद नहीं है।"

केरल में वामपंथी सरकार सीपीआई (एम) के मुखपत्र देशभिमानी ने हाल ही में कॉन्ग्रेस नेता राहुल गाँधी पर निशाना साधते हुए दावा किया कि विधानसभा चुनावों के दौरान वह कोल्लम के जिस होटल में रुके थे, उसका 6 लाख रुपए का बिल अभी भी बकाया है।

हालाँकि, सीपीआई (एम) के दावों पर पलटवार करते हुए कॉन्ग्रेस नेता बिंदुकृष्णा ने माकपा पर फर्जी अभियान चलाने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में माकपा को जिस तरह का झटका कोल्लम में जनता ने दिया है, वो अभी उबरने की कोशिश कर रही है।

बिंदुकृष्णा ने दावा किया कि जिस क्विलोन होटल में राहुल गाँधी रुके हुए थे, उसका एक भी रुपया बकाया नहीं है। सभी बकायों का निपटारा किया जा चुका है। कॉन्ग्रेस नेता ने फेसबुक पर होटल मालिक का एक लेटर पोस्ट करते हुए कहा कि इस तरह का झूठ फैलाने वालों से कानूनी रूप से निपटा जाएगा।

क्विलोन होटल मालिक के पत्र में दावा किया गया है, “राहुल गाँधी समेत दूसरे प्रमुख लोगों के रुकने के बाद सभी बकाया राशि के भुगतान का निपटान किया जा चुका है। क्विलोन बीच होटल का इस संबंध में कोई विवाद नहीं है।”

गौरतलब है कि माकपा के मुखपत्र देशभिमानी में दावा किया गया था कि राहुल गाँधी के होटल में रुकने के बाद होटल के बकाए 6 लाख रुपए का भुगतान नहीं किया गया था।

बता दें कि केरल विधानसभा चुनाव के दौरान राहुल गाँधी ने केरल में कई लोगों का ध्यान आकर्षित किया था। इसी दौरान वो कोल्लम में मछुआरों के साथ समुद्र में तैरने के लिए कूद गए थे। इस दौरान वह मछुआरों के साथ मछली पकड़ते भी दिखे थे। उन्होंने मछली पकड़ने का जाल भी समुद्र में फेंका था। लेकिन, इन सब के बावजूद कॉन्ग्रेस केरल में अपनी किस्मत नहीं बदल पाई। क्योंकि पिनारई के नेतृत्व में सीपीआई (एम) जबरदस्त जीत दर्ज की है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

डोनाल्ड ट्रंप को मारी गई गोली, अमेरिकी मीडिया बता रहा ‘भीड़ की आवाज’ और ‘पॉपिंग साउंड’: फेसबुक पर भी वामपंथी षड्यंत्र हावी

डोनाल्ड ट्रंप की हत्या के प्रयास की पूरी दुनिया के नेताओं ने निंदा की, तो अमेरिकी मीडिया ने इस घटना को कमतर आँकने की कोशिश की।

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट के पूर्व जज रोहित आर्य BJP में हुए शामिल, ओडिशा हाई कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश चितरंजन दास बोले- मैं भी...

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट के न्यायाधीश रोहित आर्य रिटायरमेंट के लगभग तीन महीने बाद शनिवार (13 जुलाई 2024) को भाजपा में शामिल हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -