Tuesday, June 25, 2024
Homeराजनीति'पनौती ने हरवा दिया वर्ल्ड कप': 2024 के चुनाव से पहले राहुल गाँधी के...

‘पनौती ने हरवा दिया वर्ल्ड कप’: 2024 के चुनाव से पहले राहुल गाँधी के बिगड़े बोल, 2019 में ‘चौकीदार चोर है’ नारे के बाद हुआ था कॉन्ग्रेस का सफाया

"तुम्हें पनौती ही लगेंगे वो क्योंकि तुम्हारे राजतंत्र का सफ़ाया कर दिया, मंत्रियों तक से जूते उठवाने वाले खुलेआम दूसरों के जूते बाँधने लगे, एयरपोर्ट पर राजाओं की तरह घुसने वाले क़तारों में लगने लगे। क्योंकि..."

आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप-2023 में भारतीय क्रिकेट टीम की हार के बाद कॉन्ग्रेस सांसद राहुल गाँधी भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पनौती कहने वालों की जमात में शामिल हो गए हैं। मंगलवार (21 नवंबर, 2023) को राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए जालौर में एक रैली को संबोधित करने के दौरान पीएम मोदी को ‘पनौती’ कहा। ठीक ऐसे ही 2019 में चुनाव से पहले राहुल गाँधी ने ‘चौकीदार चोर है’ कहा था जिसके बाद चुनाव में कॉन्ग्रेस का सफाया हो गया था।

देश के पीएम के लिए एक सांसद के तौर पर उनकी इस तरह की भाषा लोकतंत्र को ठेस पहुँचाने वाली है, वो भी तब जब भारतीय क्रिकेट टीम की हार के बाद पीएम मोदी खिलाड़ियों को दिलासा देने और हौसला बढ़ाने के लिए खुद ड्रेसिंग रूम पहुँचे हों। पीएम के इस जज्बे को केवल टीम के क्रिकेटरों ही नहीं बल्कि भारत की जनता ने भी सराहा था।

राहुल गाँधी के पीएम मोदी को ‘पनौती’ कहने का ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। रैली में दिए इस भाषण के दौरान कॉन्ग्रेस नेता आबादी में किसकी कितनी हिस्सेदारी जैसे मुद्दे पर बोल रहे थे।

गौरतलब है कि पार्टी ने अपने चुनावी घोषणापत्र में सत्ता में वापसी के बाद जातिगत जनगणना कराने का वादा किया है। इसी पर बोलते-बोलते राहुल गाँधी अचानक वर्ल्ड कप फाइनल पर आ गए। राहुल गाँधी ने कहा, ” 50 फीसदी देश में पिछड़ों की आबादी है। तकरीबन 12 फीसदी आबादी आदिवासियों की है और 15 फीसदी दलितों की है, लेकिन सबसे बड़ी आबादी है पिछड़ों की। पहले अपने हर एक भाषण में नरेंद्र मोदी आते थे, कहते थे ‘मैं ओबीसी हूँ’, याद है आपको?”

राहुल के ये कहते ही रैली में लोग पनौती, पनौती चिल्लाने लगते हैं। इसके जवाब में राहुल गाँधी भी पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहते हैं, “याद है क्या पनौती पनौती। वो अच्छा भला वहाँ पर हमारे लड़के वर्ल्ड कप जीत जाते। तो वहाँ पर पनौती हरवा दिया। टीवी वाले ये नहीं कहेंगे, मगर जनता जानती है।”

ऐसा नहीं है कि राहुल गाँधी यह सब गलती से बोल गए बल्कि कॉन्ग्रेस पार्टी भी राहुल गाँधी के इस बयान से इत्तेफाक रखती हुई दिखती है। यही वजह है कि कॉन्ग्रेस प्रवक्ता सुप्रीया श्रीनेत ने उनके वीडियो को अपने एक्स हैंडल पर डाला है। वहीं बीजेपी ने भी इस पर कॉन्ग्रेस को करारा जवाब दिया है।

बीजेपी आईटी सेल के इंचार्ज अमित मालवीय ने उत्तर प्रदेश के देवरिया से बीजेपी विधायक शलभ मणि त्रिपाठी के राहुल गाँधी के बयान पर एक्स हैंडल पर दिए जवाब को रीट्वीट किया है।

शलभ मणि त्रिपाठी ने एक्स हैंडल पर पोस्ट किया, “तुम्हें पनौती ही लगेंगे वो (मतलब पीएम मोदी) क्योंकि तुम्हारे राजतंत्र का सफ़ाया कर दिया, मंत्रियों तक से जूते उठवाने वाले खुलेआम दूसरों के जूते बाँधने लगे, एयरपोर्ट पर राजाओं की तरह घुसने वाले क़तारों में लगने लगे। क्योंकि 2G, 3G वाले दामाद जी का राष्ट्रीय दामाद का ओहदा छिन गया, ज़मीन की दलाली की कलई खुल गई।”

उन्होंने आगे लिखा, “क्योंकि उस नाकाबिल शख़्स की राजनीतिक दुकान बंद कर दी, जिसे चमचों ने रंग पोत कर युवराज बना रखा था, तश्तरी में परोसी गई अमेठी तक जीतने की हैसियत न बची क्योंकि दादी की तरह लगने वाली दीदी की कथित पॉपुलैरिटी की भी पोल खुल गई, भाई तक को चुनाव न जिता सकीं, जहाँ-जहाँ प्रचार किया पार्टी साफ़ हो गई। आज़ादी के दशकों बाद तक जिस ख़ानदान ने खुद को कॉमनमैन का राजा माना, आज एक कॉमनमैन ने देश का अगुआ बन इस खानदान को कॉमनमैन बना दिया तो दरबारियों को तो पनौती लगेंगे ही वो।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -