Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाज'एक खास समुदाय को खुश करने के लिए मेरे पति को जेल में रखा...

‘एक खास समुदाय को खुश करने के लिए मेरे पति को जेल में रखा है’: MLA राजा सिंह की पत्नी पहुँचीं हाईकोर्ट, त्वरित सुनवाई की माँग

विधायक राजा सिंह की पत्नी ने कहा है कि उनके पति को सिर्फ इसीलिए जेल में रखा गया है, ताकि एक खास समुदाय को संतुष्ट किया जा सके।

भाजपा के निलंबित नेता और तेलंगाना के हैदराबाद स्थित गोशमहल के विधायक राजा सिंह की हिरासत के खिलाफ उनकी पत्नी उच्च-न्यायालय पहुँची हैं। उन्हें हैदराबाद पुलिस द्वारा ‘प्रिवेंटिव डिटेंशन एक्ट (PD Act)’ के तहत हिरासत में रखा गया है। उन्हें पैगंबर मुहम्मद पर टिप्पणी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। साथ ही इस मामले में त्वरित सुनवाई की माँग भी की गई है। हाईकोर्ट ने याचिका को स्वीकार कर लिया है और जल्द ही इस पर सुनवाई होने की उम्मीद है।

विधायक राजा सिंह की पत्नी ने कहा है कि उनके पति को सिर्फ इसीलिए जेल में रखा गया है, ताकि एक खास समुदाय को संतुष्ट किया जा सके। उन्होंने कहा कि सिर्फ एक खास समुदाय के तुष्टिकरण के लिए ये किया गया है और इसका अन्य कोई कारण नहीं है। राजा सिंह को 25 अगस्त, 2022 को चेरलापल्ली जेल में डाल दिया गया था। पुलिस का कहना है कि राजा सिंह के खिलाफ 101 आपराधिक मामले दर्ज हैं और उन पर सांप्रदायिक तनाव के भी 18 FIR दर्ज हैं।

हैदराबाद के पुलिस कमिश्नर के आदेश पर राजा सिंह को गिरफ्तार किया गया था। पुलिस ने दावा किया है कि वो आदतन भड़काऊ और उत्तेजक भाषण देने के आरोपित हैं, जिससे तेलंगाना और हैदराबाद के ‘शांतिपूर्ण माहौल’ में दो समुदायों के बीच संघर्ष का ख़तरा बना रहता है। पुलिस ने उन पर पैगंबर मुहम्मद और उनके जीवन के खिलाफ ‘काफी ईशनिंदा वाला बयान’ देने के आरोप भी लगाए हैं। इससे पहले 23 अगस्त को उन्हें हिरासत में लिया गया था, लेकिन फिर अदालत के आदेश के बाद रिहा कर दिया गया था।

दबीरपुरा पुलिस थाने में उनके खिलाफ कई धाराओं में FIR दर्ज की गई है। भाजपा ने कहा था कि उनका बयान पार्टी लाइन के विरुद्ध था। राजा सिंह ने YouTube पर एक वीडियो जारी किया था, जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई की। PD एक्ट के तहत पुलिस को किसी व्यक्ति को सिर्फ इसीलिए हिरासत में रखने का अधिकार मिल जाता है, क्योंकि उससे कानून-व्यवस्था को खतरा होने की आशंका रहती है, भले ही उसने कोई अपराध किया हो या नहीं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बंद ही रहेगा शंभू बॉर्डर, JCB लेकर नहीं कर सकते प्रदर्शन’: सुप्रीम कोर्ट ने ‘आंदोलनजीवी’ किसानों को दिया झटका, 15 अगस्त को दिल्ली कूच...

सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब और हरियाणा के बीच शंभू बॉर्डर को अभी बंद ही रखने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा किसान JCB लेकर प्रदर्शन नहीं कर सकते।

2018, 2019, 2023, 2024… साल दर साल ‘ये मोदी सरकार का अंतिम बजट’ कह-कह कर थके संजय झा: जिस कॉन्ग्रेस ने अनुशासनहीन कह कर...

संजय झा ने 2023 के वार्षिक बजट को उबाऊ बताया था और कहा था कि ये 'विनाशकारी' भाजपा को बाय-बाय कहने का समय है, इसे इनका अंतिम बजट रहने दीजिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -