Saturday, June 15, 2024
Homeदेश-समाजराम भक्तों के खून का बदला लिया जाएगा... कारसेवकों पर चली गोलियों को याद...

राम भक्तों के खून का बदला लिया जाएगा… कारसेवकों पर चली गोलियों को याद कर बोले रामभद्राचार्य – मुझे 8 दिन जेल में बंद रख कर पीटा, टूट गई कलाई

इसके बाद रामभद्राचार्य ने कहा कि जब हमको कहा गया कि 'मिले मुलायम काँशीराम, हवा में उड़ गए जय श्री राम' तो हमने कुछ नहीं कहा।

तुलसी पीठाधीश्वर जगदगुरु स्वामी रामभद्राचार्य ने राम कथा के दौरान राम जन्मभूमि आंदोलन और 90 के दशक की घटनाओं को याद किया। आगरा के कोठी मीना बाजार में कथा के पाँचवे दिन जगदगुरु ने कहा कि याचना नहीं अब रण होगा, संग्राम महाभीषण होगा। 1990 की घटना हम भूले नहीं हैं और न कभी भूल पाएँगे। हमने किसी का अपमान नहीं किया लेकिन हमारे धर्मग्रंथों का अपमान हुआ। हिंदुत्व का भी अपमान हुआ।

रामभद्राचार्य ने कहा, “निहत्थे राम भक्तों पर गोलियाँ चलाई गईं थी। सरयू मैया खून से लाल हो गई थीं। कोठारी बंधुओं को घर से लाकर गोली मारी गई। हमको ऐसी समरसता नहीं चाहिए। मेरे लिए कहा जा रहा मैं भाजपा का एजेंट हूँ मैं भाजपा का एजेंट नहीं हूँ। भाजपा मेरी एजेंट हो सकती है।” हिंदुओं के आश्वासन देते हुए रामभद्राचार्य ने कहा कि जहाँ भी हिंदुत्व को चुनौती मिलेगी मैं त्रिदंड लेकर वहाँ मौजूद रहूँगा और प्रत्येक प्रश्न का उत्तर दूँगा।

इसके बाद रामभद्राचार्य ने कहा कि जब हमको कहा गया कि ‘मिले मुलायम काँशीराम, हवा में उड़ गए जय श्री राम’ तो हमने कुछ नहीं कहा। जब कल मैंने कह दिया, ‘मरे मुलायम-काँशीराम प्रेम से बोलो जय श्री राम’। तो मिर्ची क्यों लग रही। मैं नेताजी(मुलायम सिंह) और काँशीराम का आदर करता हूँ पर अब तो चले गए वह लोग हमने उनका अपमान नहीं किया।

तुलसी पीठाधीश्वर ने कहा कि राम भक्तों के खून का बदला लिया जाएगा। मैं कोई सौहार्द नहीं बिगाड़ रहा हूँ। मैं खुलकर कह रहा हूँ कि सबको यहाँ रहना है और जिसे भारत में रहना है उसे वंदे मातरम कहना है। सब रघुवर की संतान होकर रहो, बाबर की संतान होकर नहीं। उन्होंने पूछा कि क्या हमने रहीम जी को चित्रकूट में स्थान नहीं दिया? क्या रसखान को वृंदावन में स्थान नहीं मिला? इसलिए भारत में आक्रांता की संतान बनकर मत रहो। भारत के विकास में अपना योगदान दो। हम स्वागत करेंगे।

इसके बाद रामभद्राचार्य ने एक बार फिर से अयोध्या की घटना का जिक्र किया उन्होंने कहा कि इन लोगों को जरा भी दया नहीं आई। मेरा शरीर भौतिक दृष्टि से असमर्थ था। मुझे जेल में बंद कर दिया। डंडे मारे। मेरे दाहिने हाथ की कलाई टूट गई। मुझे 8 दिनों तक बंद रखा गया। जगदगुरु ने कहा कि मैंने अयोध्या में प्रतिज्ञा की थी। जब राम मंदिर बन जाएगा तब अयोध्या में कथा कहूँगा।

इसके बाद जगदगुरु रामभद्राचार्य ने कहा कि हमको अब पाक अधिकृत कश्मीर चाहिए। उन्होंने कहा कि हम आपको वचन देते हैं, मेरे ही काल में राम जन्मभूमि मिली, कृष्ण जन्मभूमि मिलेगी, विश्वनाथ मिलेंगे और गंगा-यमुना स्वच्छ होगी। इस यूट्यूब लिंक में रामभद्राचार्य के इन कथनों को 35वें मिनट से 40वें मिनट के बीच सुना जा सकता है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NSA, तीनों सेनाओं के प्रमुख, अर्धसैनिक बलों के निदेशक, LG, IB, R&AW – अमित शाह ने सबको बुलाया: कश्मीर में ‘एक्शन’ की तैयारी में...

NSA अजीत डोभाल के अलावा उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा, तीनों सेनाओं के प्रमुख के अलावा IB-R&AW के मुखिया व अर्धसैनिक बलों के निदेशक भी मौजूद रहेंगे।

अब तक की सबसे अधिक ऊँचाई पर पहुँचा भारत का विदेशी मुद्रा भंडार, उधर कंगाली की ओर बढ़ा पाकिस्तान: सिर्फ 2 महीने का बचा...

एक तरफ पाकिस्तान लगातार बर्बादी की कगार पर पहुँच रहा है, तो दूसरी तरफ भारत का विदेशी मुद्रा भंडार लगातार बढ़ता जा रहा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -