Tuesday, July 16, 2024
Homeराजनीतिगणतंत्र दिवस की झाँकी में भगवान राम और कृष्ण, जम्मू कश्मीर से आए बाबा...

गणतंत्र दिवस की झाँकी में भगवान राम और कृष्ण, जम्मू कश्मीर से आए बाबा अमरनाथ: मिस्र के राष्ट्रपति अब्दुल फ़तेह रहे मुख्य अतिथि, पहली बार परेड में दिखे अग्निवीर

हरियाणा की झाँकी भगवद्गीता पर आधारित है। झाँकी में भगवान कृष्ण को अर्जुन के सारथी के रूप में और उन्हें गीता का ज्ञान देते हुए दिखाया गया है।

देश गुरुवार (26 जनवरी 2023) को अपना 74 वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। इस दौरान राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू (Droupadi Murmu) ने पहली बार कर्तव्य पथ पर तिरंगा फहराया। इसके बाद परेड की शुरुआत हुई। परेड में दिखाई जाने वाली झाँकियों को लेकर हर साल उत्सुकता बनी रहती है। इस साल भी कई बेहतरीन झाँकियों ने लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। परेड के दौरान मिस्र का सैन्य दल मुख्य आकर्षण रहा। इस बार गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतेह अल सीसी (Abdel Fattah El-Sisi) हैं। उन्हीं के साथ यह सैन्य दल भारत आया है।

लेफ्टिनेंट कमांडर दिशा अमृत (Disha Amrit) के नेतृत्व में 144 युवा नाविकों की नौसेना टुकड़ी ने कर्तव्य पथ पर मार्च किया। मार्च करने वाली टुकड़ी में 3 महिलाएँ और 6 पुरुष अग्निवीर शामिल थे। ऐसा पहली बार है जब अग्निवीरों ने गणतंत्र दिवस की परेड में भाग लिया है। जम्मू कश्मीर की झाँकी में बाबा अमरनाथ शिवलिंग को दिखाया गया।

वहीं इस बार गणतंत्र दिवस परेड में उत्तर प्रदेश की ओर से झाँकी में अयोध्या दीपोत्सव की झलक दिखाई गई। वर्ष 2017 से ही योगी आदित्यनाथ की सरकार अयोध्या में भव्य तरीके से दीपोत्सव का आयोजन कर रही है। इसी का प्रदर्शन इस बार झाँकी में किया गया है। 2017 के पहले दीपोत्सव के दौरान सरयू के घाटों पर कुल 1.71 लाख दीपक जलाए गए थे।

झारखंड की ओर से झाँकी में देवघर स्थित प्रसिद्ध बैद्यनाथ मंदिर को प्रदर्शित किया गया है। झाँकी में सबसे आगे भगवान बिरसा मुंडा को भी दर्शाया गया है।

हरियाणा की झाँकी भगवद्गीता पर आधारित है। झाँकी में भगवान कृष्ण को अर्जुन के सारथी के रूप में और उन्हें गीता का ज्ञान देते हुए दिखाया गया है। झाँकी ट्रेलर के किनारों पर बने पैटर्न महाभारत के युद्ध के विभिन्न दृश्यों को दिखाते हैं।

वहीं 74वें गणतंत्र दिवस परेड के ग्रैंड फिनाले में भारतीय वायुसेना के 45 विमानों ने भाग लिया। इसमें भारतीय नौसेना का एक और भारतीय सेना के चार हेलीकॉप्टर शामिल थे। इन विमानों ने आसमान में हैरतअंगेज करतब दिखाए। इससे पहले भारतीय सेना के जवानों ने मोटरसाईकिल पर भी शानदार कारनामा दिखाया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी फैसले की प्रतीक्षा में कन्हैयालाल का परिवार, नूपुर शर्मा पर भी खतरा; पर ‘सर तन से जुदा’ की नारेबाजी वाले हो गए...

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि गौहर चिश्ती 17 जून 2022 को उदयपुर भी गया था। वहाँ उसने 'सर कलम करने' के नारे लगवाए थे।

किसानों के प्रदर्शन से NHAI का ₹1000 करोड़ का नुकसान, टोल प्लाजा करने पड़े थे फ्री: हरियाणा-पंजाब में रोड हो गईं थी जाम

किसान प्रदर्शन के कारण NHAI को ₹1000 करोड़ से अधिक का नुकसान झेलना पड़ा। यह नुकसान राष्ट्रीय राजमार्ग 44 और 152 पर हुआ है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -