Tuesday, July 27, 2021
Homeराजनीतिदीवाली पर समर्थन की सौगात, राज्यपाल से मिले भाजपा-शिवसेना नेता, 30 को मुंबई जाएँगे...

दीवाली पर समर्थन की सौगात, राज्यपाल से मिले भाजपा-शिवसेना नेता, 30 को मुंबई जाएँगे अमित शाह

निर्दलीय राजेंद्र राउत, बीजेपी की बागी गीता जैन और युवा स्वाभिमान पार्टी के रवि राणा ने भाजपा को समर्थन देने का ऐलान किया है। फडणवीस ने पहले ही कहा था कि 15 निर्दलीय विधायकों ने सरकार बनाने के लिए पार्टी को समर्थन देने का वादा किया है।

महाराष्ट्र में चुनाव नतीजों की घोषणा के चार दिनों बाद भी अगली सरकार को लेकर तस्वीर साफ नहीं है। हालाँकि विधानसभा चुनाव में भाजपा-शिवसेना गठबंधन को पूर्ण बहुमत मिला है। बावजूद इसके मुख्यमंत्री पद पर 2.5 साल के लिए शिवसेना की दावेदारी के कारण पेंच फॅंसा हुआ है। इसे देखते हुए भाजपा निर्दलीयों और छोटे दलों को साथ जोड़ने की कोशिश कर रही है।

इस कड़ी में दिवाली के दिन (अक्टूबर 27, 2019) उसे महत्वपूर्ण सफलता हासिल हुई। निर्दलीय राजेंद्र राउत, बीजेपी की बागी गीता जैन और युवा स्वाभिमान पार्टी के रवि राणा ने भाजपा को समर्थन देने का ऐलान किया है।
30 अक्टूबर को बीजेपी विधायक दल के नेता का चुनाव होना है। खबर है कि इस बैठक में शामिल होने के लिए भाजपा अध्यक्ष और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह मुंबई जाएँगे। कयास लगाए जा रहे हैं कि विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद वे शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मिल सकते हैं।

इस बीच, सोमवार (अक्टूबर 28, 2019) को बीजेपी और शिवसेना के नेताओं ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से अलग-अलग मुलाकात की। शिवसेना नेता दिवाकर राउते ने गवर्नर से मुलाकात की और उनके जाने के कुछ समय बाद ही सीएम देवेंद्र फडणवीस भी गवर्नर हाउस पहुँचे।

बता दें कि शिवसेना, भाजपा से 2.5 साल के लिए मुख्यमंत्री की कुर्सी की मॉंग कर रही है। मगर राजनीतिक जानकारों का मानना है कि ऐसा संभव नहीं हो पाएगा। बीजेपी इस शर्त पर अपनी सहमति नहीं देगी। महाराष्ट्र में एनडीए के घटक दल रिपब्लिक पार्टी ऑफ इंडिया के प्रमुख रामदास अठावले ने भी इस तरफ इशारा किया और कहा कि बीजेपी तो मुख्यमंत्री का पद देने से रही। ऐसे में शिवसेना को आदित्य ठाकरे के लिए डिप्टी सीएम का पद स्वीकार कर लेना चाहिए। 

वहीं, शिवसेना को भी रविवार (अक्टूबर 27, 2019) को दो विधायकों का समर्थन मिला। प्रहार जनशक्ति पार्टी के दो विधायकों ने शिवसेना को समर्थन देने का पत्र उद्धव ठाकरे को सौंपा। अचलपुर विधानसभा क्षेत्र के बच्चू कडू और मेलघाट विधानसभा क्षेत्र के राजकुमार पटेल ने उद्धव ठाकरे से मुलाकात कर समर्थन का ऐलान किया।

सीएम फडणवीस ने पहले ही कहा था कि 15 निर्दलीय विधायकों ने सरकार बनाने के लिए पार्टी को समर्थन देने का वादा किया है। दूसरी तरफ शिवसेना भी बीजेपी के सााथ मोलभाव करने की अपनी ताकत को बढ़ाने के क्रम में निर्दलीय विधायकों को अपने पाले में लाने की कोशिश कर रही है। हालाँकि अमित शाह के महाराष्ट्र जाने से इस पर जल्द ही तस्वीर साफ होने की उम्मीद है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

औरतों का चीरहरण, तोड़फोड़, किडनैपिंग, हत्या: बंगाल हिंसा पर NHRC की रिपोर्ट से निकली एक और भयावह कहानी

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) ने 14 जुलाई को बंगाल में चुनाव के बाद हुई हिंसा पर अपनी अंतिम रिपोर्ट कलकत्ता हाईकोर्ट को सौंपी थी।

विधानसभा से मंत्री का ही वॉकआउट: छत्तीसगढ़ कॉन्ग्रेस की लड़ाई में नया मोड़, MLA ने कहा था- मेरी हत्या करा बनना चाहते हैं CM

अपनी ही सरकार के रवैये से आहत होकर छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री TS सिंह देव सदन से वॉकआउट कर गए। उन पर आदिवासी विधायक ने हत्या के प्रयास का आरोप लगाया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,464FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe