Friday, June 21, 2024
Homeराजनीतिकॉन्ग्रेस पर ₹100 करोड़ की मानहानि का केस करेंगे सावरकर के पोते, उद्धव ठाकरे...

कॉन्ग्रेस पर ₹100 करोड़ की मानहानि का केस करेंगे सावरकर के पोते, उद्धव ठाकरे से भी कार्रवाई को कहा

मामला महाराष्ट्र कॉन्ग्रेस की मराठी भाषा की मासिक पत्रिका शिदोरी में छपे दो लेख से जुड़ा है। ​पत्रिका के फरवरी अंक में सावरकर पर दो लेख हैं। इनमें से एक लेख का शीर्षक 'स्वातंत्र्यवीर नव्हे, माफीवीर' (स्वातंत्र्यवीर नहीं, माफीवीर) और दूसरे का शीर्षक 'अंधारातील सावकर' (सावरकर के अनजाने पहलू) है।

वीर सावरकर के पोते रंजीत सावरकर ने महाराष्ट्र कॉन्ग्रेस के खिलाफ 100 करोड़ रुपए का मानहानि का केस दायर करने की बात कही है। उन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से भी कॉन्ग्रेस के खिलाफ कार्रवाई की अपील की है। रंजीत सावरकर बीते साल के आखिर में कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गॉंधी की सार्वजनिक रूप से पिटाई करने की मॉंग भी उद्धव से की थी।

ताजा मामला महाराष्ट्र कॉन्ग्रेस की मराठी भाषा की मासिक पत्रिका शिदोरी में छपे दो लेख से जुड़ा है। ​पत्रिका के फरवरी अंक में सावरकर पर दो लेख हैं। इनमें से एक लेख का शीर्षक ‘स्वातंत्र्यवीर नव्हे, माफीवीर’ (स्वातंत्र्यवीर नहीं, माफीवीर) और दूसरे का शीर्षक ‘अंधारातील सावकर’ (सावरकर के अनजाने पहलू) है। रंजीत सावरकर ने कहा है, “महाराष्ट्र कॉन्ग्रेस ने सावरकर के चरित्र को धूमिल करने के लिए उनके खिलाफ आर्टिकल छापे। मैं सीएम से एक्शन लेने की अपील करता हूॅं। हमने कॉन्ग्रेस के खिलाफ दो केस दर्ज किए हैं और अब बॉम्बे हाई कोर्ट में कॉन्ग्रेस के खिलाफ 100 करोड़ रुपए की मानहानि का मुकदमा दर्ज करेंगे।”

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार पहले लेख में कहा गया है कि सावरकर से जुड़े जो तमाम दस्तावेज सामने आते हैं, उन्हें देखने के बाद वह स्वातंत्र्यवीर नहीं, बल्कि माफीवीर के रूप में सामने आते हैं। यह लेख मराठी की मासिक पत्रिका ‘साम्य योग साधना’ से लिया गया है। दूसरे लेख में सावरकर के जीवन से जुड़े कुछ बेहद निजी पहलुओं को रखा गया है।

इस साल की शुरुआत में मध्य प्रदेश के भोपाल में अखिल भारतीय कॉन्ग्रेस सेवा दल के प्रशिक्षण शिविर में ‘वीर सावरकर’ नाम की पुस्तिका का वितरण करने का मामला सामने आया था। इस पुस्तिका में बीजेपी पर निशाना साधने के लिए सावरकर को टारगेट करते हुए उनके आसपास की कई घटनाओं, सवालों और विवादों का जिक्र है। विनायक दामोदर सावरकर और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर कॉन्ग्रेस द्वारा जारी की गई विवादित पुस्तिका में दावा किया गया था, “महात्मा गाँधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे के साथ हिंदू महासभा के सह-संस्थापक का शारीरिक संबंध थे।”

गौरतलब है कि दिसंबर में दिल्ली के रामलीला मैदान में हुई रैली में राहुल गॉंधी ने ‘रेप इन इंडिया’ वाली टिप्पणी के लिए भाजपा की माफी की मॉंग पर पलटवार करते हुए कहा था, ‘‘संसद में भाजपा के लोगों ने कहा कि मैं अपने भाषण के लिए माफी मॉंगूॅं। मुझे कहते हैं कि सही बात बोलने के लिए माफी मॉंगो। मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं है, मेरा नाम राहुल गॉंधी है। मैं सच्चाई के लिए कभी माफी नहीं मॉंगूॅंगा। मर जाऊँगा मगर माफी नहीं मॉंगूॅंगा और न कोई कॉन्ग्रेस वाला माफी मॉंगेगा।’’ इसके जवाब में राहुल सावरकर ने कहा था, “यह अच्छा है कि राहुल गॉंधी, राहुल सावरकर नहीं हैं। ऐसा होता हम सबको अपना मुॅंह छिपाना पड़ता। अब हम उम्मीद करते हैं कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अपना वादा निभाएँगे। वे कई बार कह चुके हैं कि यदि किसी ने सावरकर का अपमान किया तो वे उसे सार्वजनिक रूप से पीटेंगे। मैं उम्मीद करता हूॅं कि शिवसेना ने सावरकर पर अपना स्टैंड नहीं बदला होगा।”

कॉन्ग्रेस से गठबंधन के चलते CM उद्धव के पास वीर सावरकर के लिए समय नहीं, रंजीत सावरकर लौटे खाली हाथ

8 दिन के लिए जेल भेजी गई पायल रोहतगी, लोगों ने पूछा- सावरकर के अपमान पर राहुल गाँधी की गिरफ्तारी कब

MP में वीर सावरकर की फ़ोटो वाली कॉपियाँ बच्चों को बाँटने पर प्रधानाचार्य निलंबित, BJP ने कॉन्ग्रेस को घेरा

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -