Friday, July 12, 2024
Homeराजनीतितमिलनाडु में BJP के प्रदेश अध्यक्ष समेत महिला मोर्चा की कई कार्यकर्ताएँ हिरासत में:...

तमिलनाडु में BJP के प्रदेश अध्यक्ष समेत महिला मोर्चा की कई कार्यकर्ताएँ हिरासत में: DMK नेता सादिक ने की थी महिला विरोधी टिप्पणी, हो रहा है विरोध

सैदई सादिक के बयान का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद अभिनेत्री खुशबू सुंदर ने डीएमके नेता और पार्टी की महिला विंग की सचिव कनिमोझी को टैग करते हुए कहा था...

तमिलनाडु पुलिस ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अन्नामलाई (Annamalai) समेत पार्टी के कई नेताओं और भाजपा महिला मोर्चा की कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है। ये सभी भाजपा नेता, डीएमके प्रवक्ता सैदाई सादिक के भाजपा की महिला नेताओं के बारे में दिए गए बयानों को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। कहा जा रहा है कि भाजपा नेताओं को हिरासत में इसलिए लिया गया है क्योंकि उनके पास प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं थी।

दरअसल, डीएमके प्रवक्ता सैदाई सादिक ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए भाजपा नेता खुशबू सुंदर, नमिता, गौतमी और गायत्री रघुराम को लेकर विवादित बयान दिया था। सैदाई सादिक ने कहा था, “तुम अपने आप को क्या समझते हो? क्या आप सभी जानते हैं कि मेरे भाई इल्या अरुणा ने कितनी बार खुशबू की थी? मेरा मतलब है कि खुशबू जब द्रमुक में थीं, तब उन्होंने उनसे मुलाकात की थी। वह खुशबू को छह बार मीटिंग के लिए लेकर आया था।”

सादिक ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को निशाने पर लेते हुए आगे कहा था, “खुशबू कहती हैं कि तमिलनाडु में कमल खिलेगा। मैं कहता हूँ कि अमित शाह के सिर पर बाल वापस उग आएँगे लेकिन तमिलनाडु में कमल के खिलने की कोई संभावना नहीं है।”

हिरासत के बाद, अन्नामलाई ने कहा, “महिलाओं के बारे में गलत बात करने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार करने और उसके खिलाफ कार्रवाई करने की बजाए भाजपा के महिला मोर्चा के नेताओं को गिरफ्तार किया जा रहा है। यह सत्ता में डीएमके के शासन को दर्शाता है।”

गौरतलब है कि सैदई सादिक के बयान का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद अभिनेत्री खुशबू सुंदर ने डीएमके नेता और पार्टी की महिला विंग की सचिव कनिमोझी को टैग करते हुए कहा था, “जब पुरुष महिलाओं को गाली देते हैं, तो यह दर्शाता है कि उन्हें किस तरह की परवरिश मिली है और किस जहरीले वातावरण में उनका पालन-पोषण हुआ है। ऐसे लोग महिला की कोख का अपमान करते हैं। ऐसे लोग खुद को कलैगनार का अनुयायी कहते हैं। क्या यह मुख्यमंत्री स्टालिन के शासन का नया द्रविड़ मॉडल है?”

इसके बाद पार्टी की ओर से कनिमोझी को माफी माँगनी पड़ी थी। उन्होंने कहा था, “जो कुछ कहा गया उसके लिए मैं एक महिला और इंसान के रूप में माफी माँगती हूँ। इसे कभी भी बर्दाश्त नहीं किया जा सकता, चाहे किसी ने भी ऐसा किया हो – जिस स्थान पर यह कहा गया हो या जिस पार्टी का वे पालन करते हैं। मैं इसके लिए खुले तौर पर माफी माँगती हूँ क्योंकि मेरे नेता एमके स्टालिन और मेरी पार्टी इसे कभी बर्दाश्त नहीं करेगी।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेपाल में गिरी चीन समर्थक प्रचंड सरकार, विश्वास मत हासिल नहीं कर पाए माओवादी: सहयोगी ओली ने हाथ खींचकर दिया तगड़ा झटका

नेपाल संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में अविश्वास प्रस्ताव पर हुए मतदान में प्रचंड मात्र 63 वोट जुटा पाए। जिसके बाद सरकार गिर गई।

उधर कॉन्ग्रेसी बक रहे गाली पर गाली, इधर राहुल गाँधी कह रहे – स्मृति ईरानी अभद्र पोस्ट मत करो: नेटीजन्स बोले – 98 चूहे...

सवाल हो रहा है कि अगर वाकई राहुल गाँधी को नैतिकता का इतना ज्ञान है तो फिर उन्होंने अपने समर्थकों के खिलाफ कभी कार्रवाई क्यों नहीं की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -