Thursday, July 25, 2024
Homeराजनीतिहिरोइन से BJP नेत्री बनीं महिलाओं के लिए DMK नेता सादिक ने की द्विअर्थी...

हिरोइन से BJP नेत्री बनीं महिलाओं के लिए DMK नेता सादिक ने की द्विअर्थी बातें, बताया- आइटम: अमित शाह के लिए भी बिगड़े बोल

सादिक ने कहा, “ये चारों नेता आइटम हैं। खुशबू कहती हैं कि तमिलनाडु में कमल खिलेगा। मैं कहता हूँ कि अमित शाह के सिर पर बाल वापस आ जाएँगे, लेकिन तमिलनाडु में कमल के खिलने की कोई संभावना नहीं है।"

तमिलनाडु (Tamil Nadu) की सत्ताधारी द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (DMK) के पार्टी प्रवक्ता सैदाई सादिक (Saidai Sadiq) ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) की महिला नेता पर आपत्तिजनक टिप्पणी की है। इसको लेकर राजनीतिक बवाल हो गया है।

सादिक ने अभिनेत्री से भाजपा नेता बनीं खुशबू सुंदर, नमिता, गौतमी और गायत्री रघुराम के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की थी। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। हालाँकि, बवाल बढ़ने के बाद DMK सांसद कनिमोझी ने सार्वजनिक रूप से माफी माँग ली है।

सादिक ने भाजपा से जुड़ीं इन अभिनेत्रियों को ‘आइटम’ बताते हुए कहा कि भगवा पार्टी तमिलनाडु में पैठ बनाने के लिए इन्हीं चारों पर निर्भर है। सादिक ने इन अभिनेत्रियों के साथ-साथ केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह पर भी आपत्तिजनक टिप्पणी की।

सादिक ने कहा, “ये चारों नेता आइटम हैं। खुशबू कहती हैं कि तमिलनाडु में कमल खिलेगा। मैं कहता हूँ कि अमित शाह के सिर पर बाल वापस आ जाएँगे, लेकिन तमिलनाडु में कमल के खिलने की कोई संभावना नहीं है।”

उन्होंने आगे कहा था, “क्या आप सभी जानते हैं कि मेरे भाई इल्या अरुण ने खुशबू को कितनी बार किया? मेरा मतलब है कि जब वह द्रमुक में थीं तब उन्होंने उनसे मुलाकात की थी। लगभग छह बार उन्होंने खुशबू को लिया और आरएपुरम में बैठकें कीं।”

सादिक के इस घिनौने और द्विअर्थी बयान के बाद भाजपा नेता खुशबू सुंदर ने ट्विटर पर DMK की नेता कनिमोझी को टैग करते हुए लिखा, “क्या महिलाओं का अपमान करना न्यू द्रविड़ मॉडल का हिस्सा है? जब पुरुष महिलाओं को गाली देते हैं तो कहा जाता है कि देखो, इसकी कैसी परवरिश और कैसे जहरीले वातावरण में पालन-पोषण किया गया है। ऐसे ही पुरुष महिला के गर्भ का अपमान करते हैं। ऐसे पुरुष खुद को कलैग्नर के अनुयायी कहते हैं। क्या यह सीएम स्टालिन के शासन के तहत नया द्रविड़ मॉडल है?”

खुशबू के इस ट्वीट का जवाब देते हुए डीएमके महिला विंग की सचिव और सांसद कनिमोझी ने सैदाई सादिक की टिप्पणी पर माफी माँगी। कनिमोझी ने लिखा, “मैं एक महिला और इंसान होने के नाते जो कुछ कहा गया उसके लिए माफी माँगती हूँ।” हालाँकि, बाद में सादिक ने भी माफी माँग ली।

अभी कुछ दिन पहले ही मुंबई (Mumbai) की एक विशेष अदालत ने किसी लड़की को ‘आइटम’ कहना उसका यौन उत्पीड़न बताया था। अदालत ने कहा था, “किसी लड़की को आइटम कहना भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 354 के तहत दंडनीय अपराध है।”

स्पेशल जज ने कहा था, “किसी लड़की को आइटम कहना अपमानजनक है। इस शब्द का इस्तेमाल आमतौर पर रोड साइड रोमियो लड़कियों को परेशान करने के लिए करते हैं। आइटम शब्द महिलाओं को सेक्सुअली ऑब्जेक्टिफाई करता है। यह महिलाओं के सम्मान के खिलाफ है।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वकील चलाता था वेश्यालय, पुलिस ने की कार्रवाई तो पहुँचा हाई कोर्ट: जज ने कहा- इसके कागज चेक करो, लगाया ₹10000 का जुर्माना

मद्रास हाई कोर्ट में एक वकील ने अपने वेश्यालय पर कार्रवाई के खिलाफ याचिका दायर की। कोर्ट ने याचिका खारिज करके ₹10,000 का जुर्माना लगा दिया।

माजिद फ्रीमैन पर आतंक का आरोप: ‘कश्मीर टाइप हिंदू कुत्तों का सफाया’ वाले पोस्ट और लेस्टर में भड़की हिंसा, इस्लामी आतंकी संगठन हमास का...

ब्रिटेन के लेस्टर में हिन्दुओं के विरुद्ध हिंसा भड़काने वाले माजिद फ्रीमैन पर सुरक्षा एजेंसियों ने आतंक को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -