Sunday, February 28, 2021
Home बड़ी ख़बर मुस्लिम महिला 'पक्षकार' ने मुस्लिम नेता के 'अंडरवियर कमेंट' को 'ढकने' की कोशिश की,...

मुस्लिम महिला ‘पक्षकार’ ने मुस्लिम नेता के ‘अंडरवियर कमेंट’ को ‘ढकने’ की कोशिश की, नाम है…

इतनी घटिया स्तर की महिला विरोधी बात राजनीतिक मंच से कह दी गई और आरफा उसका बचाव करने आ गई! खैर, वामपंथी प्रोपेगेंडा वेबसाइट 'द वायर' से जुड़े पत्रकारों के लिए इस तरह की ढोंग और बनावटीपन का सामने आना कोई बड़ी बात नहीं है।

एक विवादास्पद ‘पत्रकार’ हैं आरफा खानम शेरवानी। यह अक्सर ‘द वायर’ के कर्मचारियों की तरह ही फर्जी समाचारों और प्रोपेगेंडा को शेयर करने के लिए जानी जाती हैं। अब यह समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता आजम खान के बचाव में आ गई हैं। आजम खान ने अभिनेत्री से नेता बनीं जया प्रदा के खिलाफ अपमानजनक सेक्सिस्ट टिप्पणियाँ की थीं, जिसका बचाव करने के लिए आरफा खानम शेरवानी जमाने के सामने आ गईं। नाम और पहनावे से आरफा एक महिला हैं लेकिन न जाने क्या मजबूरी रही कि ‘अंडरवियर कमेंट’ का बचाव करके उन्होंने अपने ‘मर्दवादी-मनुवादी-ब्राह्मणवादी’ चेहरे को दुनिया के सामने रख दिया।

दरअसल, आजम खान के द्वारा किए गए महिला विरोधी बयान की वजह से महागठबंधन को किसी तरह का कोई राजनीतिक नुकसान ना हो, इसलिए आरफा खानम शेरवानी आजम खान के समर्थन में आ गई। उन्होंने दावा किया कि आजम खान ने जो बयान दिया था, वो जया प्रदा के लिए नहीं, बल्कि पूर्व सपा नेता अमर सिंह के खिलाफ था। लेकिन प’क्ष’कार आरफा को यह मालूम होना चाहिए कि अमर सिंह का रामपुर लोकसभा क्षेत्र से दूर-दूर तक कोई वास्ता नहीं है।

आरफा ने अपने ट्ववीट में दावा किया कि आजम खान द्वारा दिया गया भद्दा बयान रामपुर की भाजपा उम्मीदवार जया प्रदा के खिलाफ नहीं था, यह अमर सिंह द्वारा चलाया गया ‘प्रोपेगेंडा वॉर’ था। हालाँकि आरफा ने जल्द ही अपने ट्वीट को डिलीट कर दिया क्योंकि इससे उसका ढोंग और बनावटीपन जाहिर हो रहा था।

आरफा खानम शेरवानी द्वारा डिलीट कर दी गई ट्वीट

समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता और रामपुर निर्वाचन क्षेत्र के विधायक आज़म खान ने रामपुर से भाजपा के लोकसभा उम्मीदवार जया प्रदा के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करके अपनी रही सही इज्जत को और भी गिरा लिया। आजम खान ने अपने भाषण में जया प्रदा के खिलाफ बेहद अपमानजनक बयानों का इस्तेमाल करते हुए दावा किया कि उनके अंडरवियर का रंग खाकी था।

गौरतलब है कि आजम खान ने रामपुर में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि उन लोगों ने 17 सालों में उनको (जया प्रदा) को नहीं पहचाना, जबकि उन्होंने केवल 17 दिन में उनकी वास्तविकता को पहचान लिया। उन्होंने कहा, “उसकी असलियत समझने में आपको 17 साल लग गए। मैं तो 17 दिन में ही पहचान गया कि इनके नीचे का जो अंडरवियर है, वो भी खाकी रंग का है। यह टिप्पणी करते हुए आजम खान ये दिखाने की कोशिश कर रहे थे कि जया प्रदा के संबंध आरएसएस से थे और जया ने जो उनके खिलाफ आरोप लगाए थे, वो भी आरएसएस की साजिश थी। आजम ने जब यह शर्मनाक टिप्पणी की थी, उस समय सपा प्रमुख अखिलेश यादव भी मंच पर मौजूद थे।

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि आजम खान ने जया प्रदा के खिलाफ इस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया है। आजम खान और उनकी पार्टियों ने पहले भी जया प्रदा के खिलाफ अपमानजनक बयानबाजी और सेक्सिस्ट बयानों का इस्तेमाल किया है। जया प्रदा ने यह भी आरोप लगाया है कि आजम खान ने पिछले दिनों उन पर एसिड हमले का प्रयास किया था और साथ ही उन्हें परेशान और बदनाम करने के लिए उनकी भद्दी तस्वीरों को भी फैलाया था।

इतनी घटिया स्तर की महिला विरोधी बात राजनीतिक मंच से कह दी गई और आरफा उसका बचाव करने आ गई! खैर, वामपंथी प्रोपेगेंडा वेबसाइट ‘द वायर’ से जुड़े पत्रकारों के लिए इस तरह की ढोंग और बनावटीपन का सामने आना कोई बड़ी बात नहीं है। द वायर को काफी लंबे समय से आधे सच और पूरे झूठ के लिए जाना जाता है। ये इस वेबसाइट की आदत बन चुकी है। द वायर, जिस पर मानहानि का मुकदमा चल रहा है, अक्सर हुर्रियत प्रेस के बयानों की तरह पढ़ने वाले आर्टिकल प्रकाशित करता है। द वायर को हाल ही में सीबीईसी द्वारा फेक न्यूज़ फैलाने के लिए लताड़ लगाई गई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘किसानों के लिए डेथ वारंट है ये तीनों कृषि कानून, दिल्ली हिंसा में बीजेपी के लोग शामिल’: महापंचायत में केजरीवाल

केजरीवाल ने कहा कि किसानों के उपर लाठियाँ बरसाई गई। यह केंद्र सरकार का ही प्‍लान था। भाजपा समर्थक ही दिल्‍ली की घटना में शामिल थे। केंद्र सरकार का प्‍लान था कि किसानों का रुट डायवर्ट कराकर दिल्‍ली में भेजा जाए। ताकि...

‘भैया राहुल आप छुट्टी पर थे, इसलिए जानकारी नहीं कि कब बना मछुआरों के लिए अलग मंत्रालय’: पुडुचेरी में अमित शाह

“कॉन्ग्रेस आरोप लगा रही है कि बीजेपी ने उनकी सरकार को यहाँ गिराया। आपने (कॉन्ग्रेस) मुख्यमंत्री ऐसा व्यक्ति बनाया था, जो अपने सर्वोच्च नेता के सामने ट्रांसलेशन में भी झूठ बोले। ऐसे व्यक्ति को मुख्यमंत्री बनाया गया।"

‘लद्दाख छोड़ो, सिंघू बॉर्डर आओ’: खालिस्तानी आतंकी गुरपतवंत पन्नू ने सिख सैनिकों को उकसाया, ऑडियो वायरल

“लद्दाख बॉर्डर को छोड़ दें और सिंघू सीमा से जुड़ें। यह भारत के लिए खुली चुनौती है, हम पंजाब को आजाद कराएँगे और खालिस्तान बनाएँगे।"

25.54 km सड़क सिर्फ 18 घंटे में: लिम्का बुक में दर्ज होगा नितिन गडकरी के मंत्रालय का रिकॉर्ड

नितिन गडकरी ने बताया कि वर्तमान में सोलापुर-विजापुर राजमार्ग के 110 किमी का कार्य प्रगति पर है, जो अक्टूबर 2021 तक पूरा हो जाएगा।

माँ माटी मानुष के नाम पर वोट… और माँ को मार रहे TMC के गुंडे: BJP कार्यकर्ता की माँ होना पीड़िता का एकमात्र दोष

पश्चिम बंगाल में राजनीतिक बदले की दुर्भावना से प्रेरित होकर हिंसा की एक और घटना सामने आई। भाजपा कार्यकर्ता और उनकी बुजुर्ग माँ को...

‘रोक सको तो रोक लो… दिल्ली के बाद तुम्हारे पास, इंतजाम पूरा’ – ‘जैश उल हिंद’ ने ली एंटीलिया के बाहर की जिम्मेदारी

मुकेश अंबानी की एंटीलिया के बाहर एक संदिग्ध कार पार्क की हुई मिली थी। 'जैश उल हिंद' ने इस घटना की जिम्मेदारी लेते हुए धमकी भरा संदेश दिया है।

प्रचलित ख़बरें

कोर्ट के कुरान बाँटने के आदेश को ठुकराने वाली ऋचा भारती के पिता की गोली मार कर हत्या, शव को कुएँ में फेंका

शिकायत के अनुसार, वो अपने खेत के पास ही थे कि तभी आठ बदमाशों ने कन्धों पर रायफल रखकर उन्हें घेर लिया और फायरिंग करने लगे।

आमिर खान की बेटी इरा अपने संघी हिन्दू नौकर के साथ फरार.. अब होगा न्याय: Fact Check से जानिए क्या है हकीकत

सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि आमिर खान की बेटी इरा अपने हिन्दू नौकर के साथ भाग गई हैं। तस्वीर में इरा एक तिलक लगाए हुए युवक के साथ देखी जा सकती हैं।

शैतान की आजादी के लिए पड़ोसी के दिल को आलू के साथ पकाया, खिलाने के बाद अंकल-ऑन्टी को भी बेरहमी से मारा

मृत पड़ोसी के दिल को लेकर एंडरसन अपने अंकल के घर गया जहाँ उसने इस दिल को पकाया। फिर अपने अंकल और उनकी पत्नी को इसे सर्व किया।

जलाकर मार डाले गए 27 महिला, 22 पुरुष, 10 बच्चे भी रामभक्त ही थे, अयोध्या से ही लौट रहे थे

27 फरवरी 2002 की सुबह अयोध्या से लौट रहे 59 रामभक्तों को साबरमती एक्सप्रेस में करीब 2000 लोगों की भीड़ ने जलाकर मार डाला था।

पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा फिर पड़ा उल्टा: बालाकोट स्ट्राइक की बरसी पर अभिनंदन के 2 मिनट के वीडियो में 16 कट

इस वीडियो में अभिनंदन कश्मीर में शांति लाने और भारत-पाकिस्तान में कोई अंतर ना होने की बात करते दिख रहे हैं। इसके साथ ही वह वीडियो में पाकिस्तानी सेना की खातिरदारी की तारीफ कर रहे हैं।

कॉन्ग्रेस ने मेरा इस्तेमाल नहीं किया, मुझे नीचे गिराने में लगे हैं पार्टी नेता: हार के बाद बोले कार्यकारी अध्यक्ष हार्दिक पटेल

हार्दिक पटेल ने कहा कि कॉन्ग्रेस के नेता उन्हें नीचा दिखाना और नीचे गिराना चाहते हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि निकाय चुनावों में कॉन्ग्रेस ने उनका ठीक से इस्तेमाल नहीं किया।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,201FansLike
81,835FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe