Sunday, December 5, 2021
Homeविविध विषयअन्य'पाकिस्तान की जीत के जश्न में पटाखे फोड़ने वाले भारतीय नहीं हो सकते': सहवाग...

‘पाकिस्तान की जीत के जश्न में पटाखे फोड़ने वाले भारतीय नहीं हो सकते’: सहवाग के बाद अब गौतम गंभीर ने साधा निशाना

"पाकिस्तान की जीत पर जो लोग पटाखे छोड़ रहे हैं, वो भारतीय नहीं हो सकते। ये शर्मनाक है। हम अपने खिलाड़ियों के साथ खड़े हैं।"

पूर्वी दिल्ली के सांसद और पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज ने भारत में रह कर पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाते हुए पटाखे फोड़ने वालों पर निशाना साधा है। गौतम गंभीर ने ट्विटर पर लिखा, “पाकिस्तान की जीत पर जो लोग पटाखे छोड़ रहे हैं, वो भारतीय नहीं हो सकते। ये शर्मनाक है। हम अपने खिलाड़ियों के साथ खड़े हैं।” बता दें कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के कई इलाकों में भी भारत की हार का जश्न मनाया गया।

बता दें कि गौतम गंभीर फ़िलहाल अपने संसदीय क्षेत्र में सक्रिय हैं और शकरपुर में उन्होंने चौथी ‘एक आशा जन रसोई’ खोली है, जहाँ गरीबों को मात्र 1 रुपए में भर पेट भोजन मिलेगा। भुखमरी के खिलाफ लड़ाई में लगे भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने कई मोहल्लों से कूड़े के ढेर भी हटवाए हैं। उन्होंने हाल ही में कहा कि उनका सपना है कि वो दिल्ली से भुखमरी को मिटा दें, ताकि किसी गरीब को भूखा न सोना पड़े।

याद दिलाते चलें कि T20 विश्व कप में भारत का पहला मुकाबला रविवार (24 अक्टूबर, 2021) को पाकिस्तान से हुआ। इस मैच में टीम इंडिया को 10 विकेट से एकतरफा हार का सामना करना पड़ा। भारत के 5 गेंदबाज पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाजों को भी आउट नहीं कर सके। देश के कुछ हिस्सों में पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाया गया। मुस्लिम बहुल इलाकों में पटाखे छोड़ने की खबरें आई। पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने भी इस पर निशाना साधा है।

टेस्ट मैचों में दो तिहरा शतक लगाने वाले ‘नजफगढ़ के नवाब’ ने ट्विटर पर लिखा, “दीवाली में पटाखों पर प्रतिबंध रहता है, लेकिन कल रात भारत के कई हिस्सों में पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाने के लिए पटाखे उड़ाए गए। अच्छा, वो लोग ज़रूर ‘क्रिकेट की जीत’ की ख़ुशी मना रहे होंगे। तो फिर दीवाली में पटाखे उड़ाने के क्या नुकसान हैं? ये दोहरा रवैया क्यों? सारा ज्ञान तब ही याद आता है।”

सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी वायरल हो रहा है, जो पाकिस्तान के सीमापुरी इलाके का बताया जा रहा है। दावा किया जा रहा है कि पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाने के लगातार पटाखे छोड़े जा रहे हैं। वीडियो में पटाखे छूटते हुए देखा जा सकता है। सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता शशांक शेखर झा ने इस वीडियो की तरफ दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का ध्यान आकृष्ट कराते हुए कहा कि अगर आपकी सरकार ने दीवाली पर पटाखे छोड़ने के लिए हिन्दुओं को छुआ भी तो अब अदालत में मिलेंगे।

दूरदर्शन के पत्रकार अशोक श्रीवास्तव ने इस वीडियो पर टिप्पणी करते हुए कहा, “ये वीडियो राजधानी दिल्ली के सीमापुरी इलाके का बताया जा रहा है, जहाँ मुस्लिम बहुसंख्या है। पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाया जा रहा है। जो कभी कश्मीर में होता था, वो राजधानी दिल्ली में हो रहा है। दीवाली पर हिन्दू पटाखे नहीं फोड़ सकते, पर पाकिस्तान के लिए मुस्लिम फोड़ सकते हैं।” कई लोगों ने अंदेशा जताया कि ये वीडियो शादी का हो सकता है।

बता दें कि पाकिस्तान की जीत के बाद ही विश्व कप में भारत के हाथों उसकी लगातार 12 हार का सिलसिला टूट गया। भारत के विरुद्ध T20 मैचों में बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान की साझेदारी सर्वाधिक है। साथ ही पहली बार T20 में भारत 10 विकेट से हारा। बाबर आजम ने 52 गेंदों पर 68 रन बनाए तो मोहम्मद रिजवान ने 55 गेंदों पर 79 रनों की पारी खेली। दोनों ही बल्लेबाज नाबाद रहे।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

6 दिसंबर को ईदगाह मस्जिद में ‘जलाभिषेक’ के ऐलान के बाद मथुरा छावनी में तब्दील: शहर में धारा-144, पैरामिलिट्री-PAC तैनात, 4 FIR दर्ज

मथुरा के शाही ईदगाह मस्जिद में जलाभिषेक के एलान के बाद शहर में पैरामिलिट्री फोर्स तैनात, सीसीटीवी और ड्रोन से रखी जा रही नजर।

जिन्हें Pak में ज़िंदा जला डाला, उनकी पत्नी ने लगाई न्याय की गुहार: पोस्टमॉर्टम से खुलासा – कई हड्डियाँ टूटी हुई, जलाने से पहले...

ईशनिंदा का आरोप लगा कर ज़िंदा जला डाले गए प्रियंथा कुमारा की पत्नी ने पाकिस्तान और श्रीलंका, दोनों देशों की सरकारों से न्याय की गुहार लगाई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,733FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe