Saturday, June 22, 2024
Homeराजनीतिममता बनर्जी ने टिकट काटा तो पूर्व MLA अराबुल इस्लाम ने TMC दफ्तर को...

ममता बनर्जी ने टिकट काटा तो पूर्व MLA अराबुल इस्लाम ने TMC दफ्तर को किया तबाह, समर्थकों ने लगा दी आग

इस्लाम पर अपने प्रतिद्वंद्वी हफिजुर रहमान को गोली मारने की सुपारी देने का आरोप लगा था। उनके घर से कई क्रूड बम बरामद हुए थे।

तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विधानसभा चुनाव के लिए प्रत्याशियों की सूची का ऐलान शुक्रवार (मार्च 5, 2021) को किया। जिन नेताओं को इस बार टिकट नहीं दिया गया है उनकी नाराजगी पार्टी को भारी पड़नी लगी है। टिकट न मिलने से नाराज TMC के पूर्व विधायक अराबुल इस्लाम ने अपनी ही पार्टी के दफ्तर में तोड़फोड़ मचाई और उसे तबाह कर डाला। साथ ही दफ्तर में रखी लकड़ी की कुर्सियों को भी आग के हवाले कर दिया

ये घटना नॉर्थ 24 परगना के भांगर इलाके में हुई। आगामी विधानसभा चुनाव के लिए अराबुल इस्लाम को टिकट न मिलने से नाराज उनके समर्थकों ने जम कर हंगामा किया। समर्थकों का हुजूम विरोध करने के लिए स्थानीय TMC दफ्तर पहुँचा। आराबुल इस्लाम को 2006 में इसी क्षेत्र से विधायक चुना गया था, लेकिन पिछले चुनावों में उन्हें हार मिली थी। CPI (M) के बादल जमादार ने उन्हें हराया था।

जब समर्थकों ने उत्पात मचाया तो आराबुल इस्लाम भी रो पड़े और रोते-रोते खुद को TMC द्वारा टिकट न दी जाने की व्यथा व्यक्त की। उन्होंने कहा कि क्षेत्र की जनता उन्हें जो करने को कहेगी, वो करेंगे। उन्होंने कहा कि वे अकेले नहीं हैं, पार्टी के कई वफादार नेताओं को नजरंदाज किया गया है। 2018 पंचायत चुनावों के दौरान आराबुल इस्लाम को बंगाल पुलिस ने गिरफ्तार भी किया था।

उन पर आरोप था कि उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी हफिजुर रहमान को गोली मारने की सुपारी दी थी। गोली रहमान के चेहरे में लगी थी और उनकी मौत हो गई थी। इस्लाम की गिरफ़्तारी के कुछ दिनों बाद उनके घर से कई क्रूड बम भी बरामद हुए थे। 2 पार्टी कार्यकर्ताओं की मौत के बाद 2014 में उन्हें पार्टी ने बाहर का रास्ता दिखा दिया था। कई करोड़ों के स्कैम में भी उनका नाम है। क्षेत्र में उनकी माफिया वाली छवि है।

साथ ही वामपंथी नेता अब्दुर रज्जाक मोल्लाह पर हुए हमले का साजिश रचने के आरोप में भी वो 2013 में गिरफ्तार हो चुके हैं। उधर अडंगा के विधायक रफीकुर रहमान के समर्थकों ने भी उन्हें टिकट न दिए जाने के विरोध में सड़क पर हंगामा किया। सतगछिया से 4 बार से विधायक सोनाली गुहा को भी टिकट नहीं मिला। सीएम ममता का कहना है कि स्वच्छ छवि के नेताओं को ही टिकट दिया गया है।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी खुद इस बार नंदीग्राम से चुनाव लड़ेंगी। उम्मीदवारों की सूची में बंगाली फिल्म एक्ट्रेस सायानी घोष (Sayoni Ghosh) का भी नाम है। सायानी को टीएमसी ने पश्चिमी वर्धमान के आसनसोल (दक्षिणी) सीट से मैदान में उतारा है। वो 2015 में एक हिन्दू विरोधी और आपत्तिजनक ट्वीट को लेकर विवादों में रही थीं, जिसमें एक महिला पवित्र हिंदू प्रतीक शिवलिंग के ऊपर कंडोम डालते हुए दिख रही थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NEET पेपरलीक का मास्टरमाइंड निकाल बिहार का लूटन मुखिया, डॉक्टर बेटा भी जेल में: पत्नी लड़ चुकी है विधानसभा चुनाव, नौकरी छोड़ खुद बना...

नीट पेपर लीक के मास्टरमाइंड में से एक संजीव उर्फ लूटन मुखिया। वह BPSC शिक्षक बहाली पेपर लीक कांड में जेल जा चुका है। बेटा भी जेल में है।

व्यभिचारी वैष्णव आचार्य, पत्रकार ने खोली पोल, अंग्रेजों के कोर्ट में मुकदमा… आमिर खान के बेटे को लेकर YRF-Netflix की बनाई फिल्म बहस का...

माँ भवानी का अपमान करने वाले को जवाब देने कारण हकीकत राय नामक बच्चे का खुलेआम सिर कलम कर दिया गया था। इस पर फिल्म बनाएगा बॉलीवुड? या सिर्फ वही 'वास्तविक कहानियाँ' चुनी जाती हैं जिनमें गुंडा कोई साधु-संत हो?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -