Thursday, July 29, 2021
Homeराजनीतिकरीम लाला पर उद्धव सरकार में खींचतान, कॉन्ग्रेसी मंत्री ने कहा- ईंट का जवाब...

करीम लाला पर उद्धव सरकार में खींचतान, कॉन्ग्रेसी मंत्री ने कहा- ईंट का जवाब पत्थर से देना जानते हैं

शिवसेना सांसद और 'सामना' के संपादक संजय राउत ने अंडरवर्ल्ड से इंदिरा गॉंधी की नजदीकियों की ओर इशारा करते हुए कहा था कि वह करीम लाला से मिलती थीं। हालॉंकि विवाद बढ़ने के बाद राउत ने बयान से किनारा करते हुए कहा कि वे गॉंधी परिवार का सम्मान करते हैं।

मुद्दा चाहे जो हो महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी सरकार के साझेदार दलों के मतभेद सामने आ ही जाते हैं। अब डॉन करीम लाला के मसले पर शिवसेना और कॉन्ग्रेस आमने-सामने हैं। उद्धव ठाकरे की सरकार में कॉन्ग्रेस कोटे से मंत्री नितिन राउत ने शिवसेना को चेतावनी देते हुए कहा है कि वे ईंट का जवाब पत्थर से देना जानते हैं।

असल में शिवसेना सांसद संजय राउत ने अंडरवर्ल्ड से इंदिरा गॉंधी की नजदीकियों की ओर इशारा करते हुए कहा था कि वह करीम लाला से मिलती थीं। हालॉंकि विवाद बढ़ने के बाद राउत ने बयान से किनारा करते हुए कहा कि वे गॉंधी परिवार का सम्मान करते हैं। लेकिन, इससे विवाद ठंडा होता नहीं दिख रहा। मंत्री नितिन राउत ने कहा है, “इंदिरा गॉंधी हमारी नेता और आदर्श हैं। बीजेपी के साथ रहते हुए भी संजय राउत उनके खिलाफ टिप्पणियॉं करते थे। अब सरकार में होने के बाद भी वे इससे बाज नहीं आ रहे। यदि वे सोचते हैं कि हम चुपचाप सुनते रहेंगे तो हम बर्दाश्त नहीं करेंगे। हम ईंट का जवाब पत्थर से देना जानते हैं।”

एक दिन पहले संजय राउत ने एक कार्यक्रम में बयान दिया था कि इंदिरा गाँधी मुंबई में अंडरवर्ड के डॉन करीम लाला से मुलाकात करती थीं। शिवसेना नेता संजय राउत के इस बयान से तूफान मच गया और कॉन्ग्रेस ने उनसे बयान वापस लेने को कहा जिसके बाद आज संजय राउत ने अपना बयान वापस भी ले लिया।

शिवसेना सांसद संजय राउत ने बुधवार (15  जनवरी) को एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि करीम लाला, मस्तान मिर्जा उर्फ़ हाजी मस्तान और वरदराजन मुदलियार मुंबई के टॉप माफ़िया सरगनाओं में से एक थे, जो 1960 से लेकर अस्सी के दशक तक सक्रिय रहे।

शिवसेना सांसद संजय राउत ने इंदिरा गाँधी और अंडरवर्ल्ड डॉन करीम लाला को लेकर दिए अपने कल के बयान से पीछे हटते हुए कहा कि उन्होंने हमेशा गाँधी परिवार का सम्मान किया है। अगला पैंतरा चलते हुए उन्होंने अंडरवर्ल्ड डॉन करीम लाला की तुलना अब्दुल गफ्फार खान से कर दी। राउत का कहना है कि उनके दोस्तों (कॉन्ग्रेस) को दुखी होने की जरूरत नहीं है।

करीम लाला से मिलने जाती थीं इंदिरा गाँधी वाले बयान पर संजय राउत ने कहा कि कॉन्ग्रेस में हमारे मित्रों को आहत होने की जरूरत नहीं है। यदि किसी को लगता है कि उनके बयान से इंदिरा गाँधी की छवि को धक्का पहुँचा है या इससे किसी की भावनाएँ आहत हुई हैं तो वो अपना बयान वापस लेते हैं।

संजय राउत सही, गैंगस्टर करीम लाला से मिलती थीं इंदिरा: डॉन हाजी मस्तान के बेटे का खुलासा

‘गैंगस्टर करीम लाला खान अब्दुल गफ्फार खान जैसे’ – कॉन्ग्रेस की खातिर संजय राउत ने मारी पलटी

इंदिरा गाँधी जिस अंडरवर्ल्ड डॉन से मिलने जाती थीं, वो एक अफगानी तस्कर था: शिवसेना नेता के बयान पर हंगामा

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पूरे देश में खेला होबे’: सभी विपक्षियों से मिलकर ममता बनर्जी का ऐलान, 2024 को बताया- ‘मोदी बनाम पूरे देश का चुनाव’

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने विपक्ष एकजुटता पर बात करते हुए कहा, "हम 'सच्चे दिन' देखना चाहते हैं, 'अच्छे दिन' काफी देख लिए।"

कराहते केरल में बकरीद के बाद विकराल कोरोना लेकिन लिबरलों की लिस्ट में न ईद हुई सुपर स्प्रेडर, न फेल हुआ P विजयन मॉडल!

काँवड़ यात्रा के लिए जल लेने वालों की गिरफ्तारी न्यायालय के आदेश के प्रति उत्तराखंड सरकार के जिम्मेदारी पूर्ण आचरण को दर्शाती है। प्रश्न यह है कि हम ऐसे जिम्मेदारी पूर्ण आचरण की अपेक्षा केरल सरकार से किस सदी में कर सकते हैं?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,743FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe