Monday, July 15, 2024
Homeराजनीतियूपी के चुनावी रण में बीजेपी के साथ होगी निषाद पार्टी, प्रधान ने किया...

यूपी के चुनावी रण में बीजेपी के साथ होगी निषाद पार्टी, प्रधान ने किया गठबंधन का ऐलान

"बीजेपी 2022 का विधानसभा चुनाव सीएम योगी आदित्यनाथ और पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में निषाद पार्टी के साथ मिलकर लड़ेगी।”

उत्तर प्रदेश में अगले विधानसभा चुनाव चुनाव होने हैं। इन चुनावों में अपना दल और निषाद पार्टी के साथ मिलकर बीजेपी मैदान में उतरेगी। केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान ने शुक्रवार (सितंबर 24, 2021) को निषाद पार्टी के साथ गठबंधन का ऐलान किया। इस दौरान उनके साथ बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और निषाद पार्टी के संजय निषाद भी थे।

लखनऊ में यूपी बीजेपी प्रमुख स्वतंत्र देव सिंह ने कहा, “बीजेपी 2022 का विधानसभा चुनाव सीएम योगी आदित्यनाथ और पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में निषाद पार्टी के साथ मिलकर लड़ेगी।” वहीं धर्मेंद्र प्रधान ने बताया, “उत्तर प्रदेश में 2022 के विधानसभा चुनाव के लिए अपना दल भी भाजपा के नेतृत्व वाले गठबंधन का हिस्सा होगा।”

केंद्रीय मंत्री प्रधान ने इस दौरान बताया, “हम किसानों की आय को दोगुना करने के लिए प्रतिबद्ध हैं, चाहे वह एमएसपी पर कृषि उपज खरीद हो, जैविक खेती को बढ़ावा देना हो या कृषि विपणन बुनियादी ढाँचे पर 1 लाख करोड़ रुपए खर्च करने का। मुझे लगता है कि बीजेपी पर किसानों, खासकर छोटे किसानों का आशीर्वाद है।”

उन्होंने कहा कि वे तीन दिन से यूपी में हैं। इस दौरान उन्होंने महसूस किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और योगी आदित्यनाथ पर जनता का अटूट भरोसा है। उन्होंने कहा कि प्रजातंत्र में विश्वास ही सबसे बड़ी पूँजी होती है। 2022 में यूपी की जीत महत्वपूर्ण है। सरकार व संगठन के काम व समन्वय के कारण हम जीतेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में चुनाव होगा। हम सभी समाज और समुदाय को साथ लेकर चुनाव लड़ेंगे। 

सीटों के बँटवारे को लेकर धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि सही समय पर निर्णय होगा। अन्य कई दलों से बात चल रही हैं। अपना दल और निषाद पार्टी को सम्मान दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में निषाद पार्टी और अपना दल के साथ सीटों का बँटवारा सम्मानजनक होगा।

बता दें कि इस प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद ने कहा था कि वह बीजेपी में विलय नहीं करेंगे और उनकी पार्टी अपने निशान पर चुनाव लड़ेगी।

उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए सियासी बिसात बिछने लगी है। हर राजनीतिक दल अपने समीकरण दुरुस्‍त करने में लगा है। भाजपा ने भी चुनाव प्रभारी धर्मेन्‍द्र प्रधान की अगुवाई में रणनीतिकारों की पूरी टीम मैदान में उतार दी है। पिछले कई दिनों से यह टीम अलग-अलग स्‍तरों पर बैठकें कर माहौल को भाँपने और पार्टी कार्यकर्ताओं-नेताओं को जीत के गुर सिखाने में जुटी है। इसी क्रम में शुक्रवार को बीजेपी के चुनावी गठबंधन का ऐलान करते हुए प्रधान ने कहा सबका साथ और सबका विश्‍वास जरूरी है। उन्‍होंने कहा कि सीएम योगी और पीएम मोदी के नेतृत्‍व में हम आगे बढ़ेंगे। दोनों मिलकर राज्‍य में कमल खिलाएँगे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कॉन्ग्रेस के चुनावी चोचले ने KSRTC का भट्टा बिठाया, ₹295 करोड़ का घाटा: पहले महिलाओं के लिए बस सेवा फ्री, अब 15-20% किराया बढ़ाने...

कर्नाटक में फ्री बस सेवा देने का वादा करना कॉन्ग्रेस के लिए आसान था लेकिन इसे लागू करना कठिन। यही वजह है कि KSRTC करोड़ों के नुकसान में है।

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -