Saturday, November 26, 2022
Homeराजनीतियूपी में जीतने पर कॉन्ग्रेस का स्कूटी और स्मार्टफोन देने का ऐलान, मायावती ने...

यूपी में जीतने पर कॉन्ग्रेस का स्कूटी और स्मार्टफोन देने का ऐलान, मायावती ने लगाई लताड़, पूछा- पंजाब, राजस्थान में सरकार वहाँ क्या किया?

“कॉन्ग्रेस की राजस्थान व पंजाब में सरकार है तो क्या इन्होंने ऐसा कुछ वहाँ करके दिखाया है जो लोग उनकी बातों पर यकीन कर लें? नहीं किया है तो फिर लोग उन पर विश्वास कैसे करें? यही वजह है कि कॉन्ग्रेस व भाजपा आदि पार्टियों के दावों व वादों के प्रति जन विश्वास की घोर कमी है।”

कॉन्ग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश इकाई की प्रभारी प्रियंका गाँधी वाड्रा ने यूपी चुनाव से पहले बड़ी घोषणा कर दी है। उन्होंने राज्य में पार्टी के सत्ता में आने पर लड़कियों को स्मार्टफोन और इलेक्ट्रिक स्कूटी देने का वादा किया

गुरुवार (21 अक्टूबर 2021) को एक ट्वीट में उन्होंने कहा, “मैं कुछ छात्राओं से मिली, उन्होंने कहा कि उन्हें पढ़ाई और सुरक्षा के लिए स्मार्टफोन की जरूरत है। मुझे खुशी है कि घोषणा पत्र समिति की सहमति से, इंटरमीडिएट पास करने वाली छात्राओं को स्मार्टफोन और स्नातक पास करने वाली छात्राओं को इलेक्ट्रिक स्कूटी देने का यूपी कॉन्ग्रेस ने आज फैसला किया।”

प्रियंका गाँधी का ट्वीट

बहुजन समाज पार्टी (BSP) प्रमुख मायावती ने कॉन्ग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गाँधी वाड्रा के चुनावी घोषणाओं पर तंज कसा है। मायावती ने शुक्रवार (22 अक्टूबर 2021) को तीन ट्वीट से कॉन्ग्रेस पर हमला बोला।

मायावती ने ट्वीट करते हुए कहा, “कॉन्ग्रेस ने चुनावी छलावे के तहत भाजपा व सपा की तरह ही अनेकों प्रकार के लोक लुभावन वादे आदि करने शुरू कर दिए हैं, जिसके तहत इस पार्टी ने यूपी में सरकार बनने पर उत्तीर्ण छात्राओं को स्मार्टफोन व स्कूटी देने की बात कही है, लेकिन मूल प्रश्न यह है कि इन पर विश्वास कौन व कैसे करे?”

मायावती ने कॉन्ग्रेस पर कसा तंज

मायावती ने दूसरे ट्वीट में पूछा, “कॉन्ग्रेस की राजस्थान व पंजाब में सरकार है तो क्या इन्होंने ऐसा कुछ वहाँ करके दिखाया है जो लोग उनकी बातों पर यकीन कर लें? नहीं किया है तो फिर लोग उन पर विश्वास कैसे करें? यही वजह है कि कॉन्ग्रेस व भाजपा आदि पार्टियों के दावों व वादों के प्रति जन विश्वास की घोर कमी है।”

एक अन्य ट्वीट में मायावती ने कहा, “जनता से छल व वादाखिलाफी आदि के कारण कॉन्ग्रेस के बुरे दिन चल रहे हैं तथा इन्हीं कुछ खास कारणों से भाजपा के भी बुरे दिन शुरू हो चुके हैं। ’अच्छे दिन’ का सपना दिखाकर लोगों पर महँगाई, गरीबी व बेरोजगारी आदि का पहाड़ तोड़ने का खामियाजा तो भाजपा को भी भुगतना पड़ेगा।”

बता दें कि तीन दशक से सत्ता का वनवास काट रही कॉन्ग्रेस ने इससे पहले 40 फीसदी महिलाओं को टिकट देने का बड़ा ऐलान किया था। प्रियंका ने घोषणा की थी कि उनकी पार्टी आगामी विधान सभा चुनाव में महिलाओं को 40 प्रतिशत टिकट देगी। उन्होंने कहा था कि सभी महिलाएँ जो व्यवस्था में बदलाव लाना चाहती हैं, उनको आगे आने और चुनाव लड़ने का स्वागत है। उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन में घोषणा की कि कोई भी महिला जो चुनाव लड़ना चाहती है वह 15 नवंबर तक आवेदन दे सकती है। मायावती ने कॉन्ग्रेस की महिलाओं को 40 प्रशित टिकट देने की घोषणा को कोरी चुनावी नाटकबाजी बताया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अपनी मर्जी से गई, पापा के साथ नहीं रहना’: वसीम अकरम के कमरे से बरामद हुई राजस्थान के कॉन्ग्रेस नेता की बेटी, पिता ने...

कॉन्ग्रेस नेता गोपाल केसावत ने अपनी बेटी का अपहरण का केस दर्ज करवाया था। राजस्थान पुलिस अभिलाषा और उसके दोस्त वसीम अकरम को लेकर जयपुर पहुँची।

भारत आते ही ‘सेलुलर जेल’ पहुँचा G-20 प्रतिनिधिमंडल, वीर सावरकर ने गुजारे थे यहाँ जिंदगी के 10 साल

जी-20 बैठक के लिए भारत आया प्रतिनिधि मंडल उस सेलुलर जेल को देखने भी गया जहाँ वीर सावरकर को अंग्रेजों ने एक दशक से ज्यादा बंद कर रखा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
235,624FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe