Sunday, August 1, 2021
Homeराजनीति825 में से 600+ सीट पर भगवा लहर, 5 जीत के साथ कॉन्ग्रेस फुस्स:...

825 में से 600+ सीट पर भगवा लहर, 5 जीत के साथ कॉन्ग्रेस फुस्स: PM मोदी ने CM योगी को दी बधाई

उत्तर प्रदेश में 825 ब्लॉक प्रमुख की सीटें हैं, जिनमें में से 600 से अधिक सीटें भाजपा और उसके सहयोगी दलों के खाते में आईं। वहीं सपा को 98, कॉन्ग्रेस को 5 सीटों पर जीत के अलावा 96 सीटों पर निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत हासिल की।

उत्तर प्रदेश में हाल ही हुए जिला पंचायत में ऐतिहासिक जीत के बाद शनिवार (10 जनवरी 2021) हुए ब्लॉक प्रमुख चुनावों में भी भाजपा ने परचम लहराया है। ब्लॉक प्रमुख चुनावों में 600 से अधिक सीटें लाकर ऐतिहासिक जीत दर्ज करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रशंसा की है। ब्लॉक प्रमुख चुनावों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है।

उत्तर प्रदेश में 825 ब्लॉक प्रमुख की सीटें हैं, जिनमें में से 600 से अधिक सीटें भाजपा और उसके सहयोगी दलों के खाते में आईं हैं। अमर उजाला और लाइव हिंदुस्तान के अनुसार, भाजपा+ को 648 सीटें मिली हैं। वहीं समाजवादी पार्टी को 100 के करीब सीटें मिली हैं, जबकि निर्दलीय व भाजपा के समर्थकों को 70 सीटें मिली हैं। टाईम्स नाउ हिंदी ने भाजपा+ को 630 जीतने की बात कही है।

जी न्यूज के अनुसार, ब्लॉक प्रमुख चुनावों में भाजपा+ को 635, समाजवादी पार्टी (सपा) को 103 और 87 सीटों पर अन्य लोगों की जीत हुई है। नवभारत टाइम्स के अनुसार, भाजपा को 626, सपा को 98, कॉन्ग्रेस को 5 सीटों पर जीत मिली है, जबकि 96 सीटों पर निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत हासिल की है। वहीं, आजतक ने भाजपा को 609 सीटें और समाजवादी पार्टी को 98 सीटें जीतने की बात कही है।

दरअसल, कुल 825 सीटों में से 349 सीटों पर चुनाव कराने की नौबत ही नहीं आई, क्योंकि इन पर ब्लॉक प्रमुख निर्विरोध चुन लिए गए थे। भाजपा का दावा है कि 349 निर्विरोध चुने गए ब्लॉक प्रमुखों में से 334 ब्लॉक प्रमुख उसकी पार्टी के हैं। वहीं, 476 सीटों पर ही चुनाव कराए गए हैं। ब्लॉक प्रमुख पद के लिए आज (शनिवार, 10 जुलाई 2021) को 11 बजे सुबह से 3 बजे शाम तक मतदान हुआ था।

उत्तर प्रदेश के ब्लॉक प्रमुख के पदों पर भाजपा की भारी जीत के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश कार्यालय में प्रेस वार्ता का वीडियो ट्वीट किया था, जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर बधाई दी है। PM मोदी ने कहा, “उत्तर प्रदेश में ब्लॉक प्रमुखों के चुनाव में भी यूपी भाजपा ने अपना परचम लहराया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार की नीतियों और जनहित की योजनाओं से जनता को जो लाभ मिला है, वो पार्टी की भारी जीत में परिलक्षित हुआ है। इस विजय के लिए पार्टी के सभी कार्यकर्ता बधाई के पात्र हैं।”

इससे पहले ब्लॉक प्रमुख के चुनावों में भाजपा की ऐतिहासिक जीत व बढ़त पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनता को बधाई दी है। सीएम योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘सबका साथ सबका विकास’ मूलमंत्र का जीवंत उदाहरण है प्रदेश का पंचायत चुनाव परिणाम। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा 7 साल पहले इस देश को दिए गए मूलमंत्र के कारण लोगों को लाभ हुआ है। प्रदेश में भी सरकार ने योजनाएँ बनाईं और उसका लाभ लोगों को मिला। उन्होंने कहा कि राज्य में जो योजनाएँ बनाई गईं, उसे लोगों तक पहुँचाने में प्रदेश सरकार के अलावा संगठन ने लोगों का बहुत बड़ा योगदान है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि जनता का रुझान भाजपा की ओर था। जिला पंचायत चुनाव में भी भाजपा शीर्ष पर रही और ब्लॉक प्रमुख चुनावों में भी भाजपा शीर्ष पर है। उन्होंने कहा कि 825 में से 735 ब्लॉक में भाजपा ने अपने सहयोगियों के साथ मिलकर अपने प्रत्याशी खड़े किए थे, जबकि 90 सीटें छोड़ दी गई थीं।

वहीं, भाजपा के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की योजनाओं के कारण इन चुनावों में भाजपा की जीत मिली है। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में कानून-व्यस्था की स्थिति चुस्त है और लड़कियाँ रात 12 बजे भी घर से निकल सकती हैं।

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने भी स्पष्ट किया भाजपा को 500 से अधिक सीटें मिली हैं। ट्विटर पर उन्होंने लिखा, “उत्तर प्रदेश ब्लॉक प्रमुख चुनाव 2021 !!! ताजा नतीजों में भाजपा 500+ ब्लॉक जीत के साथ एक बार फिर सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है… #भाजपा_का_पंच

परिणामों के अनुसार, भाजपा ने लखनऊ के कुल 8 सीटों में से 7 सीटों पर जीत हासिल की है। वहीं, गोरखपुर जिले से ब्लॉक प्रमुख चुनाव में समाजवादी पार्टी का सूपड़ा साफ हो गया। जिले के 20 में से 18 सीटों पर भाजपा के प्रमुख चुने गए हैं, जबकि आगरा के सभी 15 सीटों पर भाजपा ने जीत हासिल की है। सपा का गढ़ कहे जाने वाले फिरोजाबाद में 9 ब्लॉक हैं, जिनमें 3 पर भाजपा प्रत्याशी पहले ही निर्विरोध चुने जा चुके हैं और 6 ब्लॉक में हुए मतदान में 4 ब्लॉक प्रमुख के पद भाजपा के खाते में गए हैं।

अगर पश्चिमी उत्तर प्रदेश की बात करें तो मुजफ्फरनगर की 9 सीटों में से 8, मेरठ की 22 सीटों में से 12, सहारनपुर के 5 सीटों में से 4, बिजनौर के 5 सीटों में से 4, शामली के 3 सीटों में से 2 पर भाजपा ने जीत हासिल की है। वहीं, आजमगढ़ के 22 में 11 सीटों पर, बरेली के 15 में से 11 सीटों पर, शाहजहाँपुर के सभी 5 सीटों पर भाजपा को जीत मिली है।

वहीं, चुनावों से पहले और चुनावों के दौरान कई जगह से हिंसा की खबरें भी सामने आईं। मतदान के दौरान बाराबंकी, रायबरेली, सुलतानपुर, लखीमपुर खीरी समेत कई जिलों में भाजपा और सपा कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। हाथरस में भी सपा-भाजपा कार्यकर्ताओं की झड़प के बाद पथराव और फायरिंग हुई। सुलतानपुर में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने सड़क जाम कर दी है। बाराबंकी और लखीमपुर खीरी में भाजपा-सपा प्रत्याशी आमने सामने आ गए। रिपोर्ट के मुताबिक, चंदौली, इटावा, कानपुर देहात और हमीरपुर से भी हिंसा की खबरें आई हैं।

इटावा में सिटी पुलिस अधीक्षक प्रशांत कुमार को किसी ने थप्पड़ मार दिया। इसके बाद गुस्साई पुलिस ने कई राउंड हवाई फायरिंग की और आँसू गैस के गोले छोड़े। दरअसल, इटावा में मतदान के दौरान बवाल होने की सूचना प्रशांत कुमार को मिली थी, इसके बाद वे वहाँ पहुँचे थे।  

वहीं, कल लखीमपुर खीरी में एक महिला के साथ बदतमीजी का मामला सामने आया था, जिसके बाद थाने के सभी पुलिसकर्मियों को सीएम योगी के निर्देश पर निलंबित कर दिया गया। इस पर कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गाँधी ने भाजपा का मास्टरस्ट्रोक कहकर हँसी उड़ाई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मानसिक-शारीरिक शोषण से धर्म परिवर्तन और निकाह गैर-कानूनी: हिन्दू युवती के अपहरण-निकाह मामले में इलाहाबाद HC

आरोपित जावेद अंसारी ने उत्तर प्रदेश में 'लव जिहाद' के खिलाफ बने कानून के तहत हो रही कार्रवाई को रोकने के लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट का रुख किया था।

गोविंद देव मंदिर: हिंदू घृणा के कारण औरंगजेब ने जिसे आधा ढाह दिया… और उसके ऊपर इस्लामिक गुंबद बना नमाज पढ़ी

भगवान गोविंद देव अर्थात श्रीकृष्ण का यह मंदिर वृंदावन के सबसे पुराने मंदिरों में से एक। मंदिर के विशालकाय दीपक की चमक इसकी शत्रु साबित हुई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,352FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe