Friday, July 19, 2024
Homeराजनीतिलखीमपुर खीरी में सबसे ज्यादा मतदान, उन्नाव में 'जय श्री राम' सुन कर सपा...

लखीमपुर खीरी में सबसे ज्यादा मतदान, उन्नाव में ‘जय श्री राम’ सुन कर सपा कार्यकर्ताओं का हमला: UP में संपन्न हुई चौथे चरण की पोलिंग

उन्नाव में सबसे कम 54.05% मतदान हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कहा कि चौथे चरण में कई पोलिंग बूथों के बाहर बड़ी भीड़ देखी गई।

उत्तर प्रदेश में बुधवार (23 फरवरी, 2022) को विधानसभा चुनाव के चौथे चरण का मतदान संपन्न हुआ। शाम 5 बजे तक 57.45% मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने दावा किया कि चार चरणों में उनकी पार्टी ने 200 के बहुमत के आँकड़े को पार कर लिया है। उन्नाव में ‘जय श्री राम’ कहने पर हंगामा हो गया और सपा-भाजपा कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। ‘जय श्री राम’ सुन कर सपा कार्यकर्ताओं ने भाजपा समर्थक पर हमला बोल दिया

2017 में चौथे चरण के इन 9 जिलों में 55.31% मतदान हुआ था, ऐसे में इसमें अबकी वृद्धि दर्ज की गई है। हालाँकि, 2019 लोकसभा चुनाव में 58.24% मतदान से ये कम ही है। अखिलेश यादव के कारण चर्चा में करहल विधानसभा सीट के जिस बूथ संख्या 266 पर भाजपा ने सपा पर गड़बड़ी का आरोप लगाया था, वहाँ 73.67% मतदान हुआ। लखीमपुर खीरी में सबसे ज्यादा 67% मतदान शाम 6 बजे तक दर्ज किया गया। अखिलेश यादव ने ED द्वारा महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक की गिरफ़्तारी को भी मुद्दा बनाया।

उन्नाव में सबसे कम 54.05% मतदान हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कहा कि चौथे चरण में कई पोलिंग बूथों के बाहर बड़ी भीड़ देखी गई। उन्होंने कौशाम्बी और बाराबंकी में जनसभाओं को सम्बोधित किया। वहीं कॉन्ग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने इशारा किया कि चुनाव बाद उनकी पार्टी का सपा के साथ गठबंधन का रास्ता खुला है। चौथे चरण के बाद आवारा पशुओं का मुद्दा भी बना हुआ है। चौथे चरण में रायबरेली में भी चुनाव हुए, जहाँ मुकाबला भाजपा और सपा में है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -