Wednesday, July 24, 2024
Homeराजनीतिभवानीपुर में ममता की किस्मत का फैसला कर रहे वोटर, BJP प्रत्याशी प्रियंका टिबरेवाल...

भवानीपुर में ममता की किस्मत का फैसला कर रहे वोटर, BJP प्रत्याशी प्रियंका टिबरेवाल ने कहा- बूथ कैप्चरिंग की कोशिश कर रहे TMC विधायक

भाजपा प्रत्याशी प्रियंका टिबरेलवाल ने टीएमसी विधायक मदन मित्रा पर वोटिंग मशीन कैप्चर करने का आरोप मढ़ा है। उनका कहना है कि मित्रा ने वोटिंग मशीन बंद की, क्योंकि वह बूथ पर कब्जा करना चाहते हैं।

पश्चिम बंगाल के भवानीपुर विधानसभा सीट पर मतदान शुरू होने के साथ ही हिंसा की खबरें मीडिया में आने लगी। तृणमूल कॉन्ग्रेस की ममता बनर्जी को टक्कर देने मैदान में उतरी भाजपा प्रत्याशी प्रियंका टिबरेलवाल ने टीएमसी विधायक मदन मित्रा पर वोटिंग मशीन कैप्चर करने का आरोप मढ़ा है। उनका कहना है कि मित्रा ने वोटिंग मशीन बंद की, क्योंकि वह बूथ पर कब्जा करना चाहते हैं।

इससे पहले भाजपा प्रत्याशी प्रियंका टिबरेाल ने मतदान केंद्र पहुँच कहा था, “हम निष्पक्ष चुनाव की उम्मीद कर रहे हैं। सुरक्षा तैनाती बहुत महत्वपूर्ण है। मैं आज क्षेत्र के मतदान केंद्रों का दौरा करूँगी। राज्य सरकार अभी डरी हुई है।”

बता दें कि भवानीपुर के उपचुनावों पर सबकी नजर इसलिए भी बनी हुई हैं क्योंकि यहाँ के चुनावों में हुई जीत/हार पर ममता बनर्जी की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। भारतीय जनता पार्टी ने उनके सामने टिबरेवाल को उतारा, जिन्होंने 2014 में भाजपा ज्वाइन की थी।

बता दें कि टिबरेवाल पेशे से वकील हैं और बंगाल में चुनाव में हुई हिंसा के बाद चुनाव बाद हिंसा के मामलों में दायर याचिका में याचिकाकर्ताओं में से एक हैं, जिनके कारण कलकत्ता उच्च न्यायालय ने मामलों में सीबीआई और एसआईटी जाँच का आदेश दिया है।

उल्लेखनीय है कि आज पश्चिम बंगाल के भवानीपुर के अलावा समसेरगंज और जंगीरपुर; ओडिशा के पिपली में भी उपचुनाव के लिए वोटिंग है। इस बीच वोटिंग शुरू होने से कुछ घंटे पहले समसेरगंज में बम फेंके जाने के मामले में टीएमसी नेता अनारुल हक को गिरफ्तार किया गया।

कोलकाता पुलिस ने एक आदेश में कहा, “किसी भी मतदान केंद्र के 200 मीटर के दायरे में 5 या इससे अधिक लोगों को एकत्र होने की अनुमति नहीं होगी। पत्थर, हथियार, पटाखे या अन्य विस्फोटक सामग्री लाने पर प्रतिबंध लगाया गया है।” पुलिस ने बताया कि भवानीपुर में 38 स्थानों पर पुलिस चौकियाँ बनाई गई हैं। भवानीपुर उपचुनाव के लिए एक अतिरिक्त पुलिस आयुक्त के अलावा चार संयुक्त पुलिस आयुक्त, 14 उपायुक्त और इतने ही सहायक आयुक्त तैनात किए गए हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -