धोनी जैसी गंदगी हमेशा नहीं रहेगी, अंबाती रायडू तुम फिर से खेलो: योगराज सिंह

अंबाती रायडू ने क्रिकेट को हाल ही में अलविदा कहा है। बताया जा रहा है कि वो विश्व कप टीम में जगह नहीं मिलने से आहत थे। योगराज ने रायडू से अपील की है कि वो वापस लौटें और घरेलू क्रिकेट में रन बनाकर खुद को साबित करें

क्रिकेटर युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह अक्सर महेंद्र सिंह धोनी को लेकर अपनी नाराजगी जताते रहते हैं। हाल ही में इंटरनेशनल क्रिकेट से रिटायरमेंट लेने वाले युवराज के पिता ने एक बार फिर धोनी को लेकर बड़ा बयान दिया है। पूर्व भारतीय क्रिकेटर योगराज सिंह ने अंबाती रायडू के संन्यास को लेकर धोनी पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा है कि वे रायडू के संन्यास लेने के फैसले से काफी दुखी हैं और उन्होंने जल्दबाजी में ये फैसला किया।

एनएनआईएस स्पोर्ट्स से बातचीत करते हुए योगराज सिंह ने कहा, “अंबाती रायडू को खेलते रहना चाहिए था। उसमें अभी भी क्रिकेट बाकी है। रायडू मेरे बच्‍चे तुमने जल्‍दबाजी में फैसला लिया है। संन्‍यास से वापस आओ और उन्‍हें अपनी काबिलियत दिखाओ।” इसके साथ ही युवी के पिता ने धोनी को निशाने पर लेते हुए कहा, “रायडू तुम वापस आओ। एमएस धोनी जैसे लोग हमेशा नहीं रहते, उसके जैसी गंदगी हमेशा नहीं रहेगी।”

योगराज ने अंबाती से अपील की है कि वो अपने फैसले को वापस लें और घरेलू क्रिकेट में रन बनाकर खुद को साबित करें। दरअसल, अंबाती रायडू ने क्रिकेट को हाल ही में अलविदा कह दिया था, इसके पीछे कारण यह बताया जा रहा है कि वो विश्व कप टीम में जगह ना मिलने से आहत थे।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

भारत के लिए एक टेस्ट मैच और 6 वनडे खेलने वाले योगराज सिंह ने रायडू के संन्यास का कारण महेंद्र सिंह धोनी को बताया है। उन्होंने कहा कि सौरव गाँगुली युवाओं को मौका देते थे, जबकि धोनी ने ऐसा नहीं किया। योगराज ने कहा कि रायडू को खेलते रहना चाहिए था और उन्हें घरेलू क्रिकेट में रन बनाकर खुद को साबित करना चाहिए, क्योंकि उनमें अभी काफी क्रिकेट बाकी है।

एनएनआईएस स्पोर्ट्स से योगराज सिंह की बातचीत आप इस वीडियो में सुन सकते हैं –

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

संदिग्ध हत्यारे
संदिग्ध हत्यारे कानपुर से सड़क के रास्ते लखनऊ पहुंचे थे। कानपुर रेलवे स्टेशन के सीसीटीवी से इसकी पुष्टि हुई है। हत्या को अंजाम देने के बाद दोनों ने बरेली में रात बिताई थी। हत्या के दौरान मोइनुद्दीन के दाहिने हाथ में चोट लगी थी और उसने बरेली में उपचार कराया था।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

104,900फैंसलाइक करें
19,227फॉलोवर्सफॉलो करें
109,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: