Thursday, July 29, 2021
Homeसोशल ट्रेंडपूर्व पाकिस्तानी उच्चायुक्त ने की 'कश्मीरी' पोर्न स्टार की फोटो रीट्वीट, जॉनी सीन्स को...

पूर्व पाकिस्तानी उच्चायुक्त ने की ‘कश्मीरी’ पोर्न स्टार की फोटो रीट्वीट, जॉनी सीन्स को बताया पेलेट गन्स पीड़ित

भारत में पाकिस्तान के पूर्व उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने ट्विटर पर शेयर की जा रही तस्वीरों को कश्मीर में पेलेट गन्स से पीड़ित लोगों की तस्वीर समझकर रीट्वीट किया। जबकि इस तरह की तस्वीरें आजकल सोशल मीडिया पर पाकिस्तान के लोगों का मजाक बनाने के लिए ट्विटर यूजर्स इस्तेमाल कर रहे हैं।

पाकिस्तान की जनता से लेकर उसके मंत्री और अधिकारी अपनी अर्थव्यवस्था, नान-रोटी और ‘टिमाटर’ के भाव तय करने के बजाय कश्मीर मुद्दे पर सक्रीय भूमिका निभा रहे हैं। सोशल मीडिया पर भारत के ट्विटर यूज़र्स भी पाकिस्तान के मजे लेने से पीछे नहीं हट रहे हैं। सोशल मीडिया पूरी तरह से कॉमेडी सर्कस बनकर रह गया है जहाँ तमाम लोग पकिस्तान पर चुटकुले बना रहे हैं और हँस भी रहे हैं। इस बार ट्विटर यूजर्स के जाल में फँसे हैं भारत में पाकिस्तान के पूर्व उच्चायुक्त अब्दुल बासित।

दरअसल, ट्विटर पर अब्दुल बासित ने एक ऐसा ट्वीट रीट्वीट किया है, जिसमें एक अडल्ट फिल्म कलाकार के स्क्रीनशॉट को कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद वहाँ की पीड़ित जनता बताकर दिखाया जा रहा है।

भारत में पाकिस्तान के पूर्व उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने ट्विटर पर शेयर की जा रही तस्वीरों को कश्मीर में पेलेट गन्स से पीड़ित लोगों की तस्वीर समझकर रीट्वीट किया। जबकि इस तरह की तस्वीरें आजकल सोशल मीडिया पर पाकिस्तान के लोगों का मजाक बनाने के लिए ट्विटर यूजर्स इस्तेमाल कर रहे हैं।

अब्दुल बासित द्वारा रीट्वीट की गई तस्वीरों में पोर्न स्टार जॉनी सीन्स की तस्वीरें दिखाई गई हैं, जो कि बिना किसी शक के कश्मीरी नागरिक नहीं है। इस तस्वीर में दिखाया गया है कि यूसुफ़ अनंतनाग का रहने वाला है, जिसकी आँखों की रौशनी पेलेट गन्स की वजह से चली गई।

पाकिस्तान भारत को कश्मीर मुद्दे पर दुनिया के सामने घेरने के लिए हर तरह के प्रयास कर रहा है। हालाँकि, वह लगातार इस प्रयास में असफल हो रहा है और बदले में उसे विश्वस्तर पर इसके लिए जलील भी किया जा रहा है।

ये वही अब्दुल बासित हैं जिन्होंने हाल ही में एक विवादास्पद बयान में कहा है कि 2016 में आतंकी बुरहान वानी की हत्या के बाद उन्होंने प्रख्यात सोशलाइट-कॉलमनिस्ट शोभा डे से जम्मू-कश्मीर में जनमत संग्रह के पक्ष में वकालत करवाई। हालाँकि, शोभा डे ने इस दावे का खंडन किया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कर्ज में डूबा, 4 साल से एडमिशन नहीं: दामाद के परिवार का मेडिकल कॉलेज, दरियादिल हुई भूपेश बघेल सरकार

दामाद के परिवार से जुड़े मेडिकल कॉलेज पर सरकारी दरियादिली को लेकर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सवालों के घेरे में हैं।

मेडिकल कॉलेजों में OBC को 27%, EWS को 10% आरक्षण: MBBS में 56% और पीजी में 80% की वृद्धि – मोदी सरकार का ऐतिहासिक...

केंद्र सरकार द्वारा आरक्षण के फैसले को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि यह सामाजिक न्याय का नया प्रतिमान बनाने में मदद करेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,802FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe