Sunday, April 21, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय900 कर्मचारियों को नौकरी से निकालने वाला CEO अब माँग रहा माफी, हो रही...

900 कर्मचारियों को नौकरी से निकालने वाला CEO अब माँग रहा माफी, हो रही थी ग्लोबल बदनामी

"मुझे एहसास हुआ है कि मेरा ये संदेश देने का तरीका सही नहीं था। मैंने कर्मचारियों के मुश्किल समय को और भी ज्यादा कठिन कर दिया। मैं अपनी गलती स्वीकार कर रहा हूँ।"

डिजिटल फर्स्ट होम ओनरशिप कम्पनी better.com के CEO विशाल गर्ग ने उन सभी 900 कर्मचारियों से माफ़ी माँगी है जिन्हे उन्होंने ज़ूम कॉल पर ही नौकरी से निकाल दिया था। उनके बर्ताव का वीडियो भी सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ था। इसी के चलते उनकी सोशल मीडिया पर काफी आलोचना हो रही थी। यह माफ़ी उन्होंने मंगलवार (7 दिसंबर) को एक पत्र जारी कर के माँगी है। यह ज़ूम कॉल बुधवार (1 दिसंबर) को हुई थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अपने बयान में विशाल गर्ग ने कहा, “मुझे एहसास हुआ है कि मेरा ये संदेश देने का तरीका सही नहीं था। मैंने कर्मचारियों के मुश्किल समय को और भी ज्यादा कठिन कर दिया। मैं अपनी गलती स्वीकार कर रहा हूँ।”

गौरतलब है कि विशाल गर्ग ने तब स्टाफ को नौकरी से निकालते हुए कहा था, ‘“अगर आप इस कॉल से जुड़े हैं, तो आप उस बदकिस्तम ग्रुप के सदस्य हैं, जिनकी छँटनी की जा रही है। आपकी सेवा को यहाँ तत्काल प्रभाव से समाप्त किया जाता है। एचआर की ओर से आपको मेल आ जाएगा।”

इस व्यवहार के बाद सोशल मीडिया पर विशाल गर्ग को खड़ूस बॉस कहा जा रहा था। लोगों को कंपनी से निकाले गए कर्मचारियों के लिए बुरा लग रहा है। वहीं कुछ का पूछना है कि अगर ये आदमी ऐसा है तो इसकी कंपनी में कौन निवेश करना चाहेगा। विशाल गर्ग Better.com के संस्थापक और सीईओ हैं। इसके अलावा गर्ग के लिंक्डइन बायो के अनुसार वो निवेश करने वाली कंपनी वन जीरो कैपिटल के फाउंडिंग पार्टनर भी हैं। उन्होंने 7 साल की उम्र में भारत छोड़ा था। इसके बाद वह न्यूयॉर्क गए थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

रावण का वीडियो देखा, अब पढ़िए चैट्स (वायरल और डिलीटेड): वाल्मीकि समाज की जिस बेटी ने UN में रखा भारत का पक्ष, कैसे दिया...

रोहिणी घावरी ने बताया था कि उनकी हँसती-खेलती ज़िंदगी में आकर एक व्यक्ति ने रात-रात भर अपने तकलीफ-संघर्ष की कहानियाँ सुनाई और ये एहसास कराया कि उसे कभी प्यार नहीं मिला।

‘जब राष्ट्र में जगता है स्वाभिमान, तब उसे रोकना असंभव’: महावीर जयंती पर गूँजा ‘जैन समाज मोदी का परिवार’, मुनियों ने दिया ‘विजयी भव’...

"हम कभी दूसरे देशों को जीतने के लिए आक्रमण करने नहीं आए, हमने स्वयं में सुधार करके अपनी ​कमियों पर विजय पाई है। इसलिए मुश्किल से मुश्किल दौर आए और हर दौर में कोई न कोई ऋषि हमारे मार्गदर्शन के लिए प्रकट हुआ है।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe